Asianet News HindiAsianet News Hindi

Indian GDP से ज्‍यादा है देश की 500 कंपनि‍यों की वैल्‍यूएशन, महामारी में 68 फीसदी का इजाफा

हुरुन लिस्‍ट में सबसे अमीर भारतीय मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) की अगुवाई वाली रिलायंस इंडस्ट्रीज का मूल्यांकन (Reliance Industries Market Cap) 16.7 लाख करोड़ रुपए है। इसके बाद टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (13.1 लाख करोड़ रुपए) और एचडीएफसी बैंक (9.1 लाख करोड़ रुपए) हैं।

Valuation of 500 companies of the country more than India's GDP, 68 percent increase in Pandemic SSA
Author
New Delhi, First Published Dec 9, 2021, 7:04 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बिजनेस डेस्‍क। बरगंडी प्राइवेट हुरुन इंडिया की टॉप 500 (Burgundy Private Hurun India's 500) कंपन‍ियों की कुल वैल्‍यूएशन 228 लाख करोड़ रुपए या 3 ट्रिलियन अमरीकी डॉलर है जो इंडिया की जीडीपी (India GDP) से भी ज्‍यादा है। खास बामत तो ये है कि इनमें से 200 कंपनियों की वैल्‍यू असेसमेंट ईसर में दोगुनी हो गई है। रिपोर्ट के अनुसार इस लिस्‍ट में 44 कंपन‍ियां अकेले तमलिनाडु की हैं। जिनकी वैल्यू सवा 2 लाख करोड़ रुपए से ज्‍यादा है। आइए आपको भी बताते हैं कि आख‍िर इस लिस्‍ट में किन कंपन‍ियों का नाम दिया गया है।

टॉप पर हैं यह कंपन‍ियां
इस सूची में सबसे अमीर भारतीय मुकेश अंबानी की अगुवाई वाली रिलायंस इंडस्ट्रीज का मूल्यांकन 16.7 लाख करोड़ रुपए है। इसके बाद टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (13.1 लाख करोड़ रुपए) और एचडीएफसी बैंक (9.1 लाख करोड़ रुपए) हैं। नॉन लिस्‍टि‍ड कंपन‍ियों ममें शामिल देश की सबसे बड़ी ड्रग मेकर कंपनी सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) की कीमत सबसे ज्यादा 1.8 लाख करोड़ रुपए है। महामारी वर्ष में पुणे स्थित कंपनी के मूल्यांकन में 127 फीसदी का इजाफा देखने को मिला है।

इन शहरों से सबसे ज्‍यादा
कंपनियां देश भर के 43 शहरों से आती हैं, और वित्तीय राजधानी मुंबई 167 प्रवेशकों के साथ सबसे आगे है, इसके बाद बेंगलुरु 52, तमिनलनाडु 44 और चेन्नई 38 पर है। सेक्‍टोरल एंगल पर बात करें तो वित्तीय सेवाओं की कंपनि‍यां 77 हैं, इसके बाद स्वास्थ्य सेवा 64 पर है।

यह भी पढ़ें:- France और India के बाद UK की Economy को पछाड़ने के लिए तैयार Apple, जानिए कितना रह गया पीछे

देश की जीडीपी से ज्‍यादा है वैल्‍यूएशन
मौजूदा समय में देश की जीडीपी की वैल्‍यू 2.72 ट्रिलियन डॉलर है। हुरुन लिस्‍ट के अनुसार इन कंपन‍ियों की मार्केट वैल्‍यू 3.1 लाख करोड़ रुपए हो गई है। इसका मतलब ये है कि इन कंपन‍ियों ने भारत के साथ-साथ फ्रांस को भी पीछे छोड़ दिया है। फ्रास की जीडीपी 2.78 ट्रिलियन डॉलर है। रिपोर्ट के अनुसार महामारी के दौरान इन कंपन‍ियों के मार्केट कैप में 68 फीसदी का इजाफा देखने को मिला है।

यह भी पढ़ें:- करीब दो लाख रुपए के कर्ज में डूबी Vodafone Idea 6 महीने में निवेशकों को करा चुकी है 73 फीसदी की कमाई

अकेले एप्‍पल दे रही है टक्‍कर
खास बात तो ये है किक दुनिया की सबसे मूल्‍यवान कंपनी एप्‍पल इंडिया की 500 कंपन‍ियों को टक्‍कर दे रही है। मौजूदा समय में कंपनी का मार्केट कैप 3 ट्रिलियन से 128 बिलियन डॉलर कम अगर आज कंपनी का शेयर 185 डॉलर का हो जाएगा तो उसकी वैल्‍यू भी 3 ट्रिलियन से ज्‍यादा हो जाएगी। इसका मतलब ये होगा कि एप्‍पल की कीमत भारत की 500 मूल्‍यवान कंपन‍ियों के बराबर होगी।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios