Asianet News HindiAsianet News Hindi

दिल्ली हिंसा : ताहिर हुसैन का सपोर्ट कर फंसे जावेद अख्तर, बिहार की अदालत में दर्ज हुआ मुकदमा

दिल्ली के उत्तर-पूर्वी इलाके में 23 फरवरी (रविवार) की शाम से हिंसा की शुरुआत हुई। इसके बाद 24 फरवरी पूरे दिन और 25 फरवरी की शाम तक आगजनी, पत्थरबाजी और हत्या की खबरें आती रहीं। हिंसा में अब तक 47 लोगों की मौत हो गई।

Complaint Filed against Javed Akhtar for Tweet on Delhi Riots KPG
Author
Mumbai, First Published Mar 5, 2020, 5:36 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई। बिहार में बेगूसराय की एक अदालत में जावेद अख्तर के खिलाफ दिल्ली दंगों में टिप्पणी को लेकर मुकदमा दर्ज किया गया है। बेगूसराय के मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी ठाकुर अमन कुमार की अदालत में स्थानीय वकील अमित कुमार ने इसे दायर किया है। बता दें कि दिल्ली हिंसा के बाद ताहिर हुसैन के घर को सील करने और एकतरफा कार्रवाई को लेकर जावेद अख्तर ने जो टिप्पणी की थी उसी को लेकर अमित कुमार ने ये मुकदमा दर्ज कराया है, जिसकी सुनवाई 25 मार्च को होनी है। 

जावेद अख्तर के खिलाफ आईपीसी की धारा 124 ए, 153 ए और 153 बी के तहत शिकायत दर्ज की गई है। बता दें कि जावेद अख्तर ने पुलिस की इस कार्रवाई को धर्म से जोड़कर ट्वीट किया था। इस ट्वीट के बाद जावेद अख्तर लोगों के निशाने पर आ गए थे और सोशल मीडिया पर उन्हें जमकर ट्रोल किया गया था। 

जावेद अख्तर ने किया था ये ट्वीट : 
दिल्ली दंगों के बाद आरोपी ताहिर हुसैन पर पुलिसिया कार्रवाई को लेकर जावेद अख्तर ने ट्वीट कर कहा था, "दिल्ली में कई लोग मारे गए, घर फूंके गए, दुकान लूट ली गईं पर पुलिस सिर्फ एक घर को सील कर मालिक को खोज रही है। संयोग से उसका नाम ताहिर हुसैन है। दिल्ली पुलिस को सलाम।" 

 

ताहिर पर ये है आरोप : 
दिल्ली हिंसा के दौरान ताहिर हुसैन पर इंटेलिजेंस ब्यूरो के कर्मचारी अंकित शर्मा की हत्या के मामले का आरोप हैं। इसके साथ ही उत्तरी-पूर्वी दिल्ली में भड़की हिंसा में ताहिर हुसैन के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। आरोप है कि अंकित शर्मा को ताहिर हुसैन के घर के अंदर ले जाकर ही मारा गया था। अंकित शर्मा की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा हुआ था कि उसके शरीर पर चार सौ बार चाकू से वार किया गया।

कब शुरू हुई थी दिल्ली हिंसा : 
दिल्ली के उत्तर-पूर्वी इलाके में 23 फरवरी (रविवार) की शाम से हिंसा की शुरुआत हुई। इसके बाद 24 फरवरी पूरे दिन और 25 फरवरी की शाम तक आगजनी, पत्थरबाजी और हत्या की खबरें आती रहीं। हिंसा में अब तक 47 लोगों की मौत हो गई। मरने वालों में एक हेड कॉन्स्टेबल और एक आईबी का कर्मचारी भी शामिल है। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios