Asianet News Hindi

पहले अफेयर, फिर लिव इन बाद में गुपचुप रचाई शादी, विवादित रही इस एक्टर की पर्सनल लाइफ

विनोद ने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत 1958 में 13 साल की उम्र में फिल्म 'रागिनी' से शुरू की थी। मूवी में उन्होंने किशोर कुमार के युवावस्था का रोल प्ले किया था। लाल पत्थर, अमर प्रेम, अनुराग, कुंवारा बाप और अर्जुन पंडित जैसी फिल्मों में उन्होंने शानदार एक्टिंग की।

Vinod Mehra death Anniversary Know his love Story With Rekha And Others
Author
Mumbai, First Published Oct 30, 2019, 10:33 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई. विनोद मेहार बॉलीवुड के दिग्गज कलाकरों में से एक थे। भले वो खुद को लीड एक्टर के तौर पर खुद को स्थापित नहीं कर पाए हों, लेकिन विनोद सपोर्टिंग रोल में भी अपनी एक्टिंग से जान डाल दिया करते थे। उन्होंने कभी किसी भी रोल को प्ले करने में आनाकानी नहीं की। विनोद जुड़ी बातें उनके पुण्यतिथि पर बता रहे हैं। 13 फरवरी 1945 को अमृतसर में जन्में एक्टर ने 45 साल की उम्र में 30 अक्टूबर, 1990 को दुनिया को अलविदा कह दिया था। 

13 साल की उम्र में शुरू किया था करियर 

विनोद ने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत 1958 में 13 साल की उम्र में फिल्म 'रागिनी' से शुरू की थी। मूवी में उन्होंने किशोर कुमार के युवावस्था का रोल प्ले किया था। लाल पत्थर, अमर प्रेम, अनुराग, कुंवारा बाप और अर्जुन पंडित जैसी फिल्मों में उन्होंने शानदार एक्टिंग की। फिल्मों के अलावा भी वो अपनी लव लाइफ को लेकर खूब सुर्खियां बटोरते नजर आए थे। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो सबसे पहले विनोद का नाम एक्ट्रेस मीना ब्रोका से जुड़ा। दोनों का प्यार परवान चढ़ा और फिर दोनों ने शादी कर ली। शादी के बाद कहा जाता है कि एक बार एक्टर को दिल का दौरा आया था। इस अटैक से वो ठिक तो हो गए थे लेकिन दोनों ने रिश्ते में दूरियां जरूर आ गई थी। 

जब बिंदिया गोस्वामी ने विनोद के जीवन में मारी थी एंट्री 

मीना से दूरियां आने के बाद विनोद मेहरा की नजदीकियां एक्ट्रेस बिंदिया गोस्वामी से बढ़ी और दोनों को एक-दूसरे से प्यार हो गया। इसके बाद वे कुछ समय लिव इन में भी रहे। विनोद शादीशुदा थे इसलिए वे बिंदियां से शादी नहीं कर सकते थे। वहीं, दूसरी ओर पहली पत्नी मीना के घरवालों को भी इस बात का पता चल गया था वो एक्टर पर बिंदिया से दूर रहने का दबाव बना रहे थे। कुछ समय तक चीजें चोरी-छिपे होने लगी थीं। लेकिन बताया जाता है कि बाद में दोनों के रिश्ते में भी दरार आ गई थी। हालांकि, कहा जाता है कि दोनों ने एक-दूसरे से गुपचुप शादी कर ली थी। इनके बीच दूरियों की वजह विनोद का स्टारडम कम होना बताया जाता है। क्योंकि इसी बीच बिंदिया की नजदीकियां जेपी दत्ता से बढ़ने लग गई थीं। इस वजह से विनोद-बिंदिया के रिश्ते का अंत हो गया।

फिर रेखा से की हुई एंट्री 

वहीं, अगर रिपोर्ट्स की मानें तो मीना और बिंदिया के बाद विनोद मेहरा का नाम रेखा से जुड़ा। दोनों की ऑनस्क्रीन केमिस्ट्री को भी दर्शकों ने खूब पसंद किया था। दोनों की ऑनस्क्रीन केमिस्ट्री रियल लाइफ में शुरू हो चुकी थी। वे एक साथ क्वालिटी टाइम बिताने लगे थे। जहां, विनोद की पर्सनल लाइफ बिखर चुकी थी वहीं, रेखा भी अमिताभ से दूर होने के बाद अकेली हो गई थीं। इसी वजह से दोनो एक-दूसरे के अच्छे दोस्त बने और बाद में शादी के बंधन में बंध गए। खबरों में बताया जाता है कि दोनों ने गुपचुप तरीके से शादी की थी लेकिन विनोद की मां को ये रिश्ता नामंजूर था। इसके कारण बताया जाता है ससुराल वाले एक्ट्रेस के साथ अच्छा बर्ताव नहीं करती थीं, जिसकी वजह से दोनों का रिश्ता टूट गया। 

अंत में विनोद मेहरा की लाइफ में किरन नाम की लड़की आई। अपना बाकी जीवन उन्होंने किरन के साथ ही बिताया। 1990 में विनोद मेहरा को आखिरी बार हार्टअटैक आया। लेकिन इस बार वे नहीं बच सके और 30 अक्टूबर 1990 को उनका निधन हो गया।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios