Asianet News HindiAsianet News Hindi

दर्द से तड़प रही गर्भवती को सिपाही ने कांवड में बिठाकर पहुंचाया अस्पताल, लोगों ने कहा-यही असली होरो

कभी-कभी दिल को खुश कर देने वाली ऐसी तस्वीरें सामने आती हैं, जिनको देखकर लगता है कि अभी भी इंसानियत जिंदा है। ऐसी ही एक पॉजिटिव खबर छत्तीसगढ़ में देखने को मिली है, जहां पुलिसकर्मी ने मानवता की मिसाल पेश कर लोगों का दिल जीत लिया।

chhattisgarh news police constable helps pregnant lady kpr
Author
Korba, First Published Aug 6, 2020, 4:59 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

कोरबा (छत्तीसगढ़). कभी-कभी दिल को खुश कर देने वाली ऐसी तस्वीरें सामने आती हैं, जिनको देखकर लगता है कि अभी भी इंसानियत जिंदा है। ऐसी ही एक पॉजिटिव खबर छत्तीसगढ़ में देखने को मिली है, जहां पुलिसकर्मी ने मानवता की मिसाल पेश कर लोगों का दिल जीत लिया।

मुसीबत में पुलिस बनी मसीहा
दरअसल, कोरबा जिले के पीतरडांड गांव में एक गर्भवती महिला जंगल में दर्द से चीख रही थी, उसके परिजन चाहकर भी अस्पताल नहीं ले जा पा रहे थे। क्योंकि बारिश की वजह से नाले के उफान आने पर वह महिला को अस्पताल नहीं ले जा पा रहे थे। ना ही वहां तक ऐंबुलेंस आ पा रही थी। इसी बात से परेशान होकर पीड़िता के घरवालों ने 112 पर फोन कर मदद के लिए पुलिस को बुलाया, जहां एक कांस्टेबल उनकी मदद के लिए मौके पर पहुंचा।

कांवड पर बैठाकर महिला को नाला पार कराया
पुलिसकर्मी सुखदेव उरांव ने मानवता की मिसाल पेश करते हुए महिला की मदद की। सिपाही ने पहले रस्सी और डंडों की मदद से कांवड बनाई, फिर पीड़िता को कांवड़ में बैठाकर कंधे पर रख उसको नाला पार करवाया। जिसकी बदौलत वह समय रहते हुए अस्पातल पहुंच गई और उसकी जान बच गई।

सिपाही को हीरो मान कर रहे सलाम
सोशल मीडिया पर सिपाही के इस नेक काम की यह तस्वीर वायरल हो रही है, जहां लोग पुलिसवाले को असली हीरो बातकर उसे सलाम कर रहे हैं। डॉक्टरों का कहना है कि अगर जरा सी भी देरी हो जाती तो दिक्कत हो सकती थी, क्योंकि महिला की हालत काफी नाजुक थी। फिलहाल महिला और उसका नवजात बच्च पूर्ण रूप से ठीक हैं।  

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios