Asianet News HindiAsianet News Hindi

छत्तीसगढ़ में Omicron का पहला केस, बिलासपुर में UAE से लौटे शख्स की रिपोर्ट मिली पॉजिटिव

UAE से लौटे एक 52 साल के शख्स की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई। उसका सैंपल जिनोमिक सिक्वेंसिंग जांच के लिए इंस्टीट्यूट ऑफ लाइफ साइंसेज भुवनेश्वर भेजा गया था। स्वास्थ्य विभाग को बुधवार को जांच रिपोर्ट मिली है, जिसमें कोविड-19 के ओमिक्रॉन वैरिएंट की पुष्टि हुई है। 

Chhattisgarh reports first Omicron case in Bilaspur, patient has a travel history to the United Arab Emirates stb
Author
Raipur, First Published Jan 5, 2022, 6:52 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

रायपुर : छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में भी ओमिक्रॉन (Omicron) ने दस्तक दे दी है। बिलासपुर (Bilaspur) में नए वैरिएंट का पहला केस सामने आया है। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की तरफ से मिली जानकारी के मुताबिक संयुक्त अरब अमीरात (UAE) से लौटे एक 52 साल के शख्स की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई। उसका सैंपल जिनोमिक सिक्वेंसिंग जांच के लिए इंस्टीट्यूट ऑफ लाइफ साइंसेज भुवनेश्वर भेजा गया था। स्वास्थ्य विभाग को बुधवार को जांच रिपोर्ट मिली है, जिसमें कोविड-19 के ओमिक्रॉन वैरिएंट की पुष्टि हुई है। 

राज्य में बढ़ रहा संक्रमण
छत्तीसगढ़ में कोरोना का संक्रमण लगातार बढ़ रहा है। 4 जनवरी को जारी कोरोना बुलेटिन के मुताबिक प्रदेश में कोरोना संक्रमण 1058 नए केस सामने आए, जिसमें से राजधानी रायपुर (Raipur) में 343 मामले मिले, जबकि बिलासपुर में 159, रायगढ़ में 141, दुर्ग जिले में 89, कोरबा में 73, सुकमा में 46 और राजनांदगांव में मिले 44 संक्रमित मिले। प्रदेश में एक्टिव मरीजों की संख्या कुल 2,977 तक पहुंच गई है। बिलासपुर में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए नाइट कर्फ्यू लगा दिया गया है। इसके अलावा धारा-144 भी लागू कर दी गई है।

स्वास्थ्य विभाग अलर्ट
बता दें कि देश में पॉजिटिविटी दर अब 2.97 प्रतिशत तक पहुंच गई है। छत्तीसगढ़ में कोरोना की वजह से मंगलवार को तीन लोगों की मौत भी हुई। कोरोना संक्रमितों की बढ़ती संख्या से स्वास्थ्य विभाग भी चिंतित है। सरकार की तरफ से कई सख्ती बरती जा रही है। नाइट कर्फ्यू लगाने के साथ कई पाबंदियां लगाई गई है। शासन और प्रशासन हर स्थिति को लेकर अलर्ट हैं।  

स्वास्थ्य मंत्री की केंद्र से मांग
राज्य में कोरोना की तीसरी लहर के बीच स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री को पत्र लिखकर जीनोम सीक्वेंसिंग की सुविधा शुरू करने की मांग की है। अभी सैंपल भुवनेश्वर भेजे जाते हैं। वहीं मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कोविड की तीसरी लहर के लिए भारत सरकार से प्रोटोकॉल जारी करने का अनुरोध किया है। मुख्यमंत्री ने कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करते हुए टेस्ट कराने और सेंटरों की संख्या बढ़ाने के निर्देश दिए हैं। 

इसे भी पढ़ें-छत्तीसगढ़ में भी कोरोना ने डराया, BSF के 6 और CAF के 14 जवान कोरोना पॉजिटिव, अब सरकार ने ये आदेश दिए

इसे भी पढ़ें-Omicron डराने लगा: छत्तीसगढ़ में एक ही स्कूल की 17 लड़कियां पॉजिटिव, पूरे इलाके में रेड अलर्ट..मचा हड़कंप

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios