छत्तीसगढ़ में नक्सलियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़, CRPF का एक जवान शहीद, सर्च ऑपरेशन जारी

| Nov 30 2022, 12:09 PM IST

छत्तीसगढ़ में नक्सलियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़, CRPF का एक जवान शहीद, सर्च ऑपरेशन जारी

सार

छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हो गई। मंगलवार शाम को हुई इस मुठभेड़ में CRPF के कोबरा 222 बटालियन का एक जवान शहीद हो गया। सुकमा के नक्सल प्रभावित इलाके डब्बाकोंटा में हुई इस मुठभेड़ के बाद सुरक्षा बलों ने पूरे इलाके में सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया है।

सुकमा(Chhattisgarh). छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हो गई। मंगलवार शाम को हुई इस मुठभेड़ में CRPF के कोबरा 222 बटालियन का एक जवान शहीद हो गया। सुकमा के नक्सल प्रभावित इलाके डब्बाकोंटा में हुई इस मुठभेड़ के बाद सुरक्षा बलों ने पूरे इलाके में सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया है। बताया जा रहा है कि निर्माणाधीन पुलिस कैंप पर नक्सलियों ने अचानक फायरिंग कर दी। इस दौरान जो जवान कैंप की सुरक्षा में लगे हुए थे उन्होंने नक्सलियों से मोर्चा लिया। नक्सलियों ने फायरिंग के साथ बड़ी तदाद में बीजीएल भी दागे। 

गौरतलब है की बस्तर संभाग के नक्सल प्रभावित इलाकों में चलाए जा रहे एंटी नक्सल ऑपरेशन के तहत घोर नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में कई पुलिस कैंप खोले जा रहे हैं। बेहद नक्सल प्रभावित इलाके डब्बाकोंटा में भी बीते कुछ दिनों से नया पुलिस कैंप स्थापित किया जा रहा है, मंगलवार शाम करीब 4.30 बजे चिंतागुफा थाना क्षेत्र के डब्बाकोंटा में नये पुलिस कैंप का काम चल रहा था, इस दौरान नक्सलियों ने कैंप पर फायरिंग कर दी। 15 से 20 मिनट तक चली इस फायरिंग में कैंप की सुरक्षा में तैनात जवानों ने भी नक्सलियों का मुंहतोड़ जवाब दिया। हालांकि इस नक्सली फायरिंग में कोबरा 222वीं बटालियन का जवान मोहम्मद सुलेमान शहीद हो गया। 

Subscribe to get breaking news alerts

नए पुलिस कैंप खुलने से घबराए हैं नक्सली- आईजी 
मामले को लेकर बस्तर के आईजी सुंदरराज पी ने बताया कि नक्सल प्रभावित इलाकों में खुल रहे पुलिस कैंप से नक़्सली बौखलाए हुए हैं। क्योंकि जिस इलाके में वह खुलेआम घूमते थे अब वहां सशस्त्र बलों की तैनाती है। इसको लेकर नक्सली गतिविधियों में भी कमी आई है। इन्हीं वजहों से नक्सली बौखलाए हुए हैं। सुकमा पुलिस ने घोर नक्सल प्रभावित क्षेत्र डब्बाकोंटा और पिढ़मेल में नये पुलिस कैंप खोलकर एक तरह से नक्सलियों की कमर तोड़ दी है। एक साथ दो कैंप खुलने से नक्सलियों को बड़ा झटका लगा है, यही कारण है कि नक्सली अपनी साख बचाने के लिए कैंप पर हमला कर रहे हैं। मंगलवार को हुए नक्सली हमले में सुरक्षा बलों ने भी मुहंतोड़ जवाब दिया। लेकिन केरल राज्य के पालक्कड़ के निवासी कोबरा 222वीं बटालियन में प्रधान आरक्षक के पद पर तैनात सुलेमान शहीद हो गया। 

बुधवार सुबह शहीद को दी गई अंतिम विदाई
शहीद जवान सुलेमान को बुधवार सुबह जगदलपुर के रक्षित केंद्र में अंतिम सलामी दी गई। जिसके बाद चौपर के माध्यम से जवान के पार्थिव शरीर को केरल स्थित उसके पैत्रिक गांव रवाना किया गया। इधर इस घटना के बाद डब्बाकोंटा और उसके आसपास के इलाके में बड़ी संख्या में सुरक्षा बलों के साथ सैन्य अधिकारी सर्च ऑपरेशन चला रहे हैं।

इसे भी पढ़ें...

छत्तीसगढ़: सुरक्षा बलों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़, गोलीबारी में 3 नक्सली ढ़ेर, जारी है सर्च ऑपरेशन

छत्तीसगढ़ में संदिग्ध परिस्थितियों में घर में लटकी मिली मासूम की बॉडी, पुलिस जांच में हुआ चौंकाने वाला खुलासा