Asianet News HindiAsianet News Hindi

रायपुर से बचेगी झारखंड की सत्ता: विधायकों को भेजी गई महंगी शराब, 2 दिनों के लिए बुक है आलीशान रिसॉर्ट

झारखंड में जारी सियासी संकट के बीच कांग्रेस और झारखंड मुक्ति मोर्चा के विधायकों को छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर भेजा गया है। झारखंड के विधायकों के शाही स्वागत पर राज्य के पूर्व सीएम रमन सिंह ने भूपेश बघेल पर निशाना साधा है।  

jharkhand political crisis cm hemant soren UPA MLA stay here mayfair resort raipur pwt
Author
First Published Aug 31, 2022, 8:41 AM IST

रायपुर/रांची. झारखंड में जारी सियासी संकट का नया ठिकाना अब छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर बन गया है। महागठबंधन के करीब 32 विधायक मंगलवार को एयरलिफ्ट कर रायपुर भेजे गए हैं। इन विधायकों को मेफेयर रिसॉर्ट पर ठहराया गया है। छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल भी इन विधायकों से मुलाकात करने के लिए पहुंचे और एकजुटता का संदेश दिया। जानकारी के अनुसार, विधायकों के स्वागत के लिए विशेष तैयारी की गई है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, रिसॉर्ट में आबकारी विभाग के द्वारा महंगी शराब भेजी गई है। बता दें कि सीएम हेमंत सोरेन की विधानसभा सदयस्ता पर राज्यपाल को फैसला लेना है लेकिन अभी तक राजभवन की तरफ से नोटिफिकेशन जारी नहीं किया गया है।

 

 

रमन सिंह ने साधा निशाना
छत्तीसगढ़ के पूर्व सीएम रमन सिंह ने विधायकों को शराब भेजने और शाही स्वागत पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने ट्वीट कर कहा- भूपेश जी कान खोलकर सुन लीजिए, छत्तीसगढ़ अय्याशी का अड्डा नहीं है, जो छत्तीसगढ़ियों के पैसे से झारखंड के विधायकों को दारू-मुर्गा खिला रहे हैं। असम, हरियाणा के बाद अब झारखंड के विधायको का डेरा, इन अनैतिक कार्यों के लिए
छत्तीसगढ़ महतारी आपको कभी माफ नहीं करेगी।

करीब 32 विधायक पहुंचे रायपुर
मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की विधानसभा की सदस्यता समाप्त होने की आशंका को देखते हुए UPA के करीब 32 विधायक राजधानी रायपुर पहुंचे हैं। कांग्रेस नेताओं ने बताया कि विधायकों के रायपुर पहुंचने के बाद सुरक्षा के साथ बसों में उन्हें नवा रायपुर स्थित मेफेयर रिसॉर्ट के लिए रवाना किया गया। हालांकि अभी तक यह साफ नहीं हुआ है कि किस पार्टी के कितने विधायक यहां पहुंचे हैं। जिस रिसॉर्ट में विधायकों को ठहराया गया है उसका एक दिन का किराया करीब 35 हजार रुपए है। 

विधायकों के टूटने का डर
झारखंड में जारी सियासी संकट के बीच सीएम हेमंत सोरेन को डर है कि कहीं विधायक टूट ना जाएं विधायकों के टूटने से झारखंड सरकार पर भी समस्या खड़ी हो सकती है। विधायकों को टूट से बचाने के लिए उन्हें रायपुर शिफ्ट किया गया है। राजभवन के द्वारा अभी तक नोटिफिकेशन जारी नहीं किए जाने के कारण महागठबंधन के कई विधायकों ने हॉर्स ट्रेंडिंग के लिए समय देने का आरोप लगाया है। 

दो दिनों के लिए बुक है रिसॉर्ट
जानकारी के अनुसार, रायपुर स्थिति मेफेयर रिसॉर्ट को दो दिनों के लिए बुक किया गया है। रिसॉर्ट के बाहर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई है। बताया जा रहा है कि बिना अनुमति के किसी को भी रिसॉर्ट में जाने से मना किया गया है।

इसे भी पढ़ें-  छत्तीसगढ़ के सबसे महंगे रिसॉर्ट में ठहरेंगे झारखंड के मंत्री-विधायक, जानिए कितना है एक दिन का किराया

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios