Asianet News HindiAsianet News Hindi

16 -17 साल के 2 बच्चों के बाद विधवा ने दिया एक बच्ची को जन्म, फिर बयां की अपनी प्रेम कहानी...

विधवा महिला का अपने पड़ोसी युवक संजय राठिया से प्रेम प्रसंग चल रहा था। जानकारी के मुताबिक, दोनो के कई बार अवैध संबंध भी बने। आरोपी ने पहले कई बार भी शिशु को गर्भ में मारने की कोशिश कर चुका है। इसके लिए उसने गर्भपात की दवा भी खिलाई थी,  मगर बच्चे को कुछ हुआ नहीं।

story of Widow woman illegal relationship in Raigarh Chhattisgarh
Author
Raigarh, First Published Nov 2, 2019, 2:44 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

रायगढ़ (छत्तीसगढ़). दो दिन पहले पहाड़ किनारे मिली एक नवजात बच्ची के शव के मामले में पुलिस ने शनिवार को अब नया खुलासा किया है। दरअसल, एक विधवा महिला ने इस नवजात को जन्म दिया था। उसने लोक-लाज के डर के चलते बच्ची को चुपके से अपने प्रेमी के घर छोड़ दिया था। लेकिन आरोपी ने नवजात को लावारिस छोड़ दिया था।

महिला का पड़ोसी से था प्रेम प्रसंग
दरअसल यह घटना रायगढ़ जिले के खरसिया इलाके की है। जहां एक विधवा महिला का अपने पड़ोसी युवक संजय राठिया से प्रेम प्रसंग चल रहा था। जानकारी के मुताबिक, दोनो के कई बार अवैध संबंध भी बने। आरोपी ने पहले कई बार भी शिशु को गर्भ में मारने की कोशिश कर चुका है। इसके लिए उसने गर्भपात की दवा भी खिलाई थी,  मगर बच्चे को कुछ हुआ नहीं। फिर जब महिला बच्ची को उसके घर लेकर आई तो आरोपी ने अपने पिता और एक महिला सरपंच के साथ मिलकर मासूम को पहाड़ किनारे लावारिस छोड़ दिया और पुलिस को सूचित कर झूठी कहानी रच दी।

महिला ने बयां कर दी सारी कहानी
पुलिस ने सूचना मिलते ही बच्ची को एक अस्पताल में भर्ती करवाया और मामले की जांच की तो किसी ने पुलिस को उस महिला के बारे में बताया कि जो गांव में कुछ समय पहले गर्भवती थी। जब महिला से पूछताछ की गई तो उसने बताया कि मैंने पांच दिन पहले बच्ची को जन्म दिया था। जिसको में अपने प्रेमी के घर छोड़ा आई थी। उसने बताया कि मेरे 16 व 17 साल के बेटा और बेटी हैं। मुझे बदनामी का डर था इसलिए उनके पास बच्ची को छोड दिया था। अब पुलिस ने कहा-झूठी एफआईआर दर्ज कराने वालों के खिलाफ जल्द से जल्द कार्रवाई होगी।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios