Asianet News Hindi

BCCI ने उनादकट के प्रेजेंस ऑफ माइंड को सराहा तो रणजी ट्राफी जीतने वाले कप्तान ने नियमों का बना दिया मजाक

अपनी शानदार गेंदबाजी और बेहतरीन कप्तानी के दम पर सौराष्ट्र को पहली बार रणजी चैंपियन बनाने वाले जयदेव उनादकट ने क्रिकेट के नियमों को लेकर मजेदार कमेंट किया है। 

BCCI praised Unadkat's presence of mind, then Ranji Trophy winning captain made fun of rules KPB
Author
New Delhi, First Published Mar 15, 2020, 6:42 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. अपनी शानदार गेंदबाजी और बेहतरीन कप्तानी के दम पर सौराष्ट्र को पहली बार रणजी चैंपियन बनाने वाले जयदेव उनादकट ने क्रिकेट के नियमों को लेकर मजेदार कमेंट किया है। दरअसल रणजी के एक मैच के दौरान उनादकट ने प्रजेंस ऑफ माइंड दिखाते हुए क्रीज में खड़े बल्लेबाज को आउट कर दिया था। इस घटना को लेकर BCCI ने सोशल मीडिया पर उनादकट की तारीफ की थी, जिसका जवाब देते हुए उन्होंने लिखा कि क्या यह मेरे विकेट की टैली में जुड़ेगा? 

क्या है नियम ?
ICC के नियम के मुताबिक रन आउट का विकेट सिर्फ टीम के खाते में जाता है और गेंदबाज के खाते में यह विकेट नहीं जुड़ता है, क्योंकि इसमें बल्लेबाज फील्डर की वजह से आउट होता है। कैच आउट में भी फील्डर का खासा योगदान होता है और कई बार खराब गेंदों में भी अच्छी फील्डिंग के चलते विकेट मिल जाता है, पर ये विकेट गेंदबाज के खाते में जाते हैं। इस बात को लेकर भी सवाल उठते रहे हैं। यही वजह है कि शानदार रन आउट करने के बाद उनादकट ने भारतीय क्रिकेट बोर्ड से यह मजेदार सवाल पूछा है। 

एक सीजन में 67 विकेट लेकर अपनी टीम को बनाया चैंपियन 
जयदेव उनादकट ने कप्तानी करते हुए इस सीजन में 67 विकेट चटकाए हैं और पहली बार सौराष्ट्र को रणजी ट्राफी का विजेता बनाया है। सौराष्ट्र ने फाइनल में बंगाल को हराकर खिताब अपने नाम किया। सीजन खत्म होने के बाद उनादकट की कप्तानी में खेलने वाले चेतेश्वर पुजारा ने भी उनादकट को भारतीय टीम में शामिल करने की बात कही थी। बांए हाथ का यह तेज गेंदबाज 2010 में भारत के लिए टेस्ट मैच खेल चुका है, पर अपने पहले ही टेस्ट में वो कुछ खास नहीं कर पाए थे और जल्द ही टीम से बाहर हो गए थे।  

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios