Asianet News Hindi

पुराने पैटर्न पर ही IPL चाहती हैं फ्रेंचाइजी, किसी भी तरह की छेड़छाड़ के लिए नहीं तैयार!

सौरव गांगुली के बयान के साथ इस बार आईपीएल के फॉर्मेट में कुछ बदलाव की बातें भी सामने आईं। मगर एक फ्रेंचाइजी ने दावा किया कि फॉर्मेट में छेड़छाड़ को स्वीकार नहीं किया जाएगा। 

IPL franchisees wants old pattern not ready for any kind of tampering
Author
Kolkata, First Published Jun 11, 2020, 6:48 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

स्पोर्ट्स डेस्क। इस साल आईपीएल का सीजन होगा या नहीं इस बात को लेकर तमाम तरह की चर्चाएं शुरू हैं। इस बीच बीसीसीआई प्रेसिडेंट सौरव गांगुली ने साफ किया कि आईपीएल के आयोजन के लिए चर्चा जारी है और जल्द ही इसपर अंतिम फैसला लिया जा सकता है। गांगुली के बयान के साथ इस बार आईपीएल के फॉर्मेट में कुछ बदलाव की बातें भी सामने आईं। मगर एक फ्रेंचाइजी ने दावा किया कि फॉर्मेट में छेड़छाड़ को स्वीकार नहीं किया जाएगा। 

कोलकाता नाइट राइडर्स (KKR) के मुख्य कार्यकारी अधिकारी वेंकी मैसूर ने कहा कि कोरोना वायरस से प्रभावित कैलेंडर में जगह बनाने के लिए आईपीएल के फॉर्मेट में किसी भी तरह की छेड़छाड़ को स्वीकार नहीं किया जाएगा। वेंकी दावे की मानें तो आईपीएल की दूसरी फ्रेंचाइजी का भी यही सोचना है। उन्होंने कहा, "टूर्नामेंट अपने पूर्ण स्वरूप में ही आयोजित हो।" केकेआर शाहरुख खान की फ्रेचाइजी है।

वेंकी ने कहा, "आईपीएल का फॉर्मेट स्पेशल है। मुझे लगता है कि सभी का (दूसरी फ्रेंचाइजी) विचार है आयोजन फुल फॉर्मेट में ही हो। मैचों की संख्या पहले की तरह हो और सभी खिलाड़ी इसमें शामिल हों।" 

फॉर्मेट में बदलाव की क्या चर्चाएं हैं? 
आईपीएल के फॉर्मेट में तीन तरह के बदलाव की चर्चाएं हैं। एक, बिना दर्शकों के खाली स्टेडियम में मैच कराए जाएं। दूसरा, आयोजन को 50 दिन से कम करके 37-38 दिन का कर दिया जाए और  तीसरा, विदेशी खिलाड़ियों के बिना ही आयोजन कराया जाए। आज सौरव गांगुली ने भी साफ किया कि बोर्ड बिना दर्शकों के मैच कराने के विकल्प पर विचार कर रहा है। हालांकि अन्य दो फॉर्मेट में बदलाव को लेकर आधिकारिक तौर पर कुछ भी सामने नहीं आया है। 

बीसीसीआई को लेना है फैसला 
इस साल T20 विश्वकप भी प्रस्तावित है। विश्वकप अक्तूबर-नवंबर में होना है। मगर उसके टलने की आशंका है। कहा जा रहा है कि विश्वकप के शेड्यूल में ही आईपीएल का आयोजन हो सकता है। हालांकि कई दौर की मीटिंग के बावजूद विश्वकप को लेकर अभी तक आईसीसी कोई फैसला नहीं ले पाया है। बीसीसीआई, आईसीसी के फैसले के बाद ही आईपीएल पर कोई निर्णय लेगा। 

कोरोना की वजह से टल गया था आयोजन 
इस साल आईपीएल मार्च में प्रस्तावित था। मगर कोरोना वायरस और बाद में लॉकडाउन की वजह से इसे अनिश्चित समय के लिए टालना पड़ा। रिपोर्ट्स की मानें तो आईपीएल के आयोजन पर करीब 4 हजार करोड़ रुपये का दांव लगा हुआ है। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios