स्पोर्ट्स डेस्क। भारत और पाकिस्तान क्रिकेट के ऐसे प्रतिद्वंद्वी हैं जिनके मैचों पर दुनियाभर की नजर रहती है। दोनों देशों के खराब रिश्तों की वजह से मैच में युद्ध जैसा माहौल नजर आता है। क्रिकेट में कई अहम मौकों पर दोनों टीमें आमने-सामने रही हैं और एक-दूसरे को हराया भी है। लेकिन विश्वकप में हमेशा भारत, पाकिस्तान पर बीस साबित हुआ है। पाकिस्तान आजतक भारत को विश्वकप में हरा नहीं पाया है। 

भारत के खिलाफ दो विश्वकप मैचों में पाकिस्तान टीम का हिस्सा रहे पूर्व दिग्गज फास्ट बॉलर ने अब इस सवाल पर जवाब दिया है। @GloFansOfficial पर एक फैन ने यूनिस से पाकिस्तान की हार को लेकर सवाल किया। यूनिस ने कहा, दूसरे टूर्नमेंट में हमारा प्रदर्शन अच्छा रहा है मगर वर्ल्ड कप की बात आती है तो भारत का पलड़ा भारी नजर आता है। 

क्यों जीतता रहा भारत ?
यूनिस के मुताबिक भारतीय टीम ने उन मैचों में बेहतर क्रिकेट खेला लेकिन कुछ मैच ऐसे भी रहे जहां पाकिस्तान मजबूत था फिर भी मैच गंवा बैठा। पूर्व तेज गेंदबाज ने कहा, "1996 में बैंगलोर और 2003 में सेंचुरियन के मैच मुझे याद हैं। उस दिन भारत ने हमसे बेहतर और स्मार्ट क्रिकेट खेला।"

तो हारने की वजह ये है वजह 
यूनिस ने कहा, "लेकिन 2011 और 1996 वर्ल्ड कप के मैच देखें तो हम मजबूत स्थिति में थे। हालांकि हमने उसे आसानी से गंवा दिया। हम लोग समझ नहीं पा रहे कि बार-बार आइस क्यों होता है। शायद यह वर्ल्ड कप का प्रेशर हो। भारत के खिलाफ वर्ल्ड कप में एक मनोवैज्ञानिक दबाव है जिसकी वजह से हम नहीं जीत पाते।"

सात बार मुक़ाबला 
भारत और पाकिस्तान के बीच 1992 में विश्वकप में पहली बार भिड़ंत हुई थी। यूनिस टीम का हिस्सा थे, मगर चोटिल होने की वजह से विश्वकप खेल नहीं पाए थे। उन्हें आज भी इस बात का मलाल है। हालांकि यूनिस ने 1996 और 2003 के विश्वकप में भारत के खिलाफ खेला। 2019 तक भारत और पाकिस्तान विश्वकप में सात बार आमने-सामने आ चुके हैं।