नई दिल्ली. आम आदमी पार्टी के संस्थापकों में से एक पार्टी के पूर्व नेता और कवि कुमार विश्वास ने शाहीनबाग को लेकर एक बार फिर "आप" पर बड़ा आरोप लगाया है। दरअसल, आप सांसद संजय सिंह ने शनिवार को फायरिंग की घटना के बाद लोगों से कहा था कि अब शाहीन बाग प्रदर्शन वापस ले लें। इसी बयान पर विश्वास ने एक ट्वीट में संजय सिंह और आम आदमी पार्टी पर निशाना साधा। 

कुमार विश्वास ने एक खबर को रीट्वीट करते हुए लिखा, "जिस अमानती गुंडे और उसके जोड़ीदार शरजिल इमाम से शुरू करवाया था उन्हें ही भेज कर उठवा दो। कह किससे रहे हो? खुद का दांव जब खुद पर उल्टा पड़ने लगा तो ये बयानबाजी? चादर लगी फटने तो प्रसाद लगा बंटने।" दिल्ली चुनाव को भारत पाकिस्तान का मैच बताने वाले कपिल मिश्रा ने भी विश्वास के इस ट्वीट रीट्वीट किया है। कपिल, बीजेपी के टिकट पर मॉडल टाउन से चुनाव लड़ रहे हैं। 

केजरीवाल के खिलाफ खोल रखा है मोर्चा 
कुमार विश्वास इस ट्वीट में यह आरोप लगा रहे हैं कि शाहीन बाग की घटना के पीछे आम आदमी पार्टी और उसके नेता अमनतुल्ला खान का हाथ है। विश्वास आप के संस्थापकों में और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के काफी करीबी रहे हैं। लेकिन पार्टी में मतभेदों के बाद उन्होंने बाहर होने का फैसला लिया। पार्टी छोड़ने के बाद से ही विश्वास, केजरीवाल पर लगातार हमले कर रहे हैं। विधानसभा चुनाव में ये और तेज हो ज्ञ है। हाल ही के एक और ट्वीट में कुमार विश्वास ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को "भेड़िया-धर्मी विनम्र"  कहा था। 

मोदी के पक्ष में केजरीवाल ने ट्वीट किया, भड़क गए कुमार विश्वास 
दरअसल, केजरीवाल पाकिस्तानी मंत्री फवाद चौधरी द्वारा नरेंद्र मोदी पर ट्वीट किया था। केजरीवाल ने जवाब में लिखा था, मोदी मेरे भी प्रधानमंत्री हैं। दिल्ली का चुनाव आंतरिक मसला है। इस पर आतंक को प्रायोजित करने वाले पाकिस्तान को हस्तक्षेप करने की जरूरत नहीं है। लेकिन दिल्ली के मुख्यमंत्री को जवाब देते हुए कुमार विश्वास ने लिखा, "चुनाव क्या न कराए। जब इसी PM को “कायर-मनोरोगी” कह रह थे। तब यह भेड़िया-धर्मी विनम्रता स्वराज में डाल रखी थी? जब सेना के शौर्य के सबूत मांगकर इसी पाकिस्तान में अपनी जयजयकार करवा रहे थे, सेना के शौर्य को मेरे प्रणाम वाले वीडियो पर अमानती-गुंडा छोड़ रहे थे,तब PM क्या 2G गुप्ता थे?"

दिल्ली में 70 विधानसभा सीटों के लिए चुनाव है। अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में दिल्ली की सत्ता में आम आदमी पार्टी काबिज है। आप दोबारा वापस आने की कोशिश में है जबकि बीजेपी-कांग्रेस आप को किसे एभी सूरत में रोकने का प्रयास कर रही हैं।