Asianet News HindiAsianet News Hindi

गुजरात से गायब कांग्रेस.. 32 साल से नहीं चखा सत्ता का स्वाद, जानिए कब किसने अटकाया रोड़ा

Gujarat Assembly Election 2022: गुजरात विधानसभा चुनाव में कांग्रेस चाहती है कि इस बार 32 साल बाद जीत हासिल कर सत्ता में आए। पार्टी आखिरी बार 1985 में सत्ता आई थी। 1990 के चुनाव में जनता दल सबसे बड़ी पार्टी थी, भाजपा दूसरे पर रही और कांग्रेस 33 सीट के साथ तीसरे नंबर पर थी। 

Gujarat Assembly Election 2022 after 32 year congress wish to win this time gujarat vidhan sabha chunav apa
Author
First Published Nov 5, 2022, 5:06 PM IST

गांधीनगर। Gujarat Assembly Election 2022: गुजरात विधानसभा चुनाव को लेकर तारीखों का ऐलान निर्वाचन आयोग ने बीते गुरुवार, 3 नवंबर को कर दिया था। आज शनिवार 5 नवंबर को पहले चरण के लिए नामांकन प्रक्रिया भी शुरू हो गई। राज्य में भाजपा सातवीं बार सत्ता का सुख लेने के लिए प्रयासरत है, तो कांग्रेस 32 साल से जीत का स्वाद लेने को तरस रही है। वहीं, आम आदमी पार्टी चाहती है कि जीत के जरिए दिल्ली और पंजाब की तरह गुजरात में भी खाता खोल सके। 

बहरहाल, अब तक के तमाम ओपिनियन पोल्स में भाजपा की स्थिति इस बार भी मजबूत दिख रही है और 27 साल बाद भी गुजरात के लोग उसे पसंद कर रहे हैं। वहीं 1985 में अंतिम बार जीत कर सत्ता में आने वाली कांग्रेस 1990 से सिंहासन पर बैठने का ख्वास संजोए हुए हैं। 1990 में जनता दल ने कांग्रेस की उम्मीदों पर पानी फेरा और 182 में से 70 सीट जीत कर सबसे बड़ी पार्टी बन गई। इसके बाद, 1995 से अब तक भाजपा ने कांग्रेस के ख्वाब को हकीकत में नहीं बदलने दिया है। 

कांग्रेस को कब मिलेगा सत्ता का 'स्वाद'..

  • 1985 में बहुमत से जीत कर सत्ता में आई थी कांग्रेस 
  • 1990 के चुनाव में जनता दल सबसे बड़ी पार्टी बनी 
  • 1995 के बाद से भाजपा यहां सबसे बड़ी पार्टी है 
  • 2017 में 77 सीटों पर जीत हासिल किया कांग्रेस ने  

27 साल से जारी है भाजपा का ज्वार 
दरअसल, गुजरात में 1990 का विधानसभा चुनाव देखा जाए तो कांग्रेस के लिए बुरा सपना साबित हुआ, जो अब तक जारी है। जनता दल जहां 70 सीट के साथ सबसे बड़ी पार्टी बनकर सामने आई, तो भाजपा 67 सीट के साथ दूसरी सबसे बड़ी पार्टी बनी। तब किसी ने नहीं सोचा था कि भाजपा का राज्य में यह ज्वार अब आने वाले कई साल तक थमने वाला नहीं है। इस साल 8 दिसंबर को पता चलेगा कि यह ज्वार थमा या आगे भी जारी रहेगा। कांग्रेस को 1990 के चुनाव में 33 सीट मिली थी। 

एससी और मुस्लिम की बदौलत कांग्रेस!
राज्य में कांग्रेस का वोट बैंक पाटीदार, पटेल (लेउआ और कडवा), बनिया, जैन, राजपूत, ब्राह्मण और ओबीसी में जबरदस्त गिरा है। हां, अगर बढ़ा है, तो आदिवासी वर्ग, दलित वर्ग और मुस्लिमों के बीच। खासकर, देखा जाए तो मुस्लिम और दलित कांग्रेस के कोर वोटर साबित हुए हैं। बीते तीन विधाानसभा चुनाव, जिनमें 2007, 2012 और 2017 के चुनाव है, में कांग्रेस को दलित बहुलता वाली इलाकों में 59 से 55 प्रतिशत तक सीट हासिल हुई। 

चुनाव में इस बार कब क्या 
गुजरात विधानसभा चुनाव में इस बार पहले चरण की वोटिंग प्रॉसेस के लिए गजट नोटिफिकेशन 5 नवंबर को और दूसरे चरण की वोटिंग प्रक्रिया के लिए 10 नवंबर को जारी होगा।  पहले चरण के लिए नामांकन प्रक्रिया 14 नवंबर अंतिम तारीख होगी, जबकि दूसरे चरण के लिए नामाकंन प्रक्रिया की अंतिम तारीख 17 नवंबर होगी। स्क्रूटनी पहले चरण के लिए 15 नवंबर को होगी, जबकि दूसरे चरण के लिए 18 नवंबर की तारीख तय है। नाम वापसी की अंतिम तारीख पहले चरण के लिए 17 नवंबर और दूसरे चरण के लिए 21 नवंबर निर्धारित की गई है। राज्य में पहले चरण की वोटिंग 1 दिसंबर को होगी, जबकि दूसरे चरण की वोटिंग 5 दिसंबर (Gujrat Vidhansabha Chunav kitni tarikih ko hai) को होगी। वहीं, मतगणना दोनों चरणों की 8 दिसंबर को होगी और संभवत: उसी दिन देर रात तक अंतिम परिणाम जारी हो जाएंगे। 

यह भी पढ़ें- 

काम नहीं आई जादूगरी! गहलोत के बाद कांग्रेस ने पायलट को दी गुजरात में बड़ी जिम्मेदारी, जानिए 4 दिन क्या करेंगे

पंजाब की तर्ज पर गुजरात में भी प्रयोग! जनता बताएगी कौन हो 'आप' का मुख्यमंत्री पद का चेहरा

बहुत हुआ.. इस बार चुनाव आयोग Corona पर भी पड़ेगा भारी, जानिए क्या लिया गजब फैसला

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios