Asianet News HindiAsianet News Hindi

वो जिला जहां BJP खूब बहा रही पसीना, प्रचार के लिए PM को भी आना पड़ा, दवा कारोबार का है गढ़

Himachal Pradesh Assembly Election 2022: भाजपा इस बार हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव में सोलन जिले की सभी पांच सीट अपने खाते में करना चाहती है। पिछले चुनाव में पार्टी के खाते में दो सीट ही आई थी, जबकि तीन सीट कांग्रेस के पास गई थी। 

Himachal Pradesh Assembly Election 2022 bjp focused on solan district vidhansabha seats apa
Author
First Published Nov 8, 2022, 10:58 AM IST

शिमला। Himachal Pradesh Assembly Election 2022:  हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव में इस बार भाजपा और कांग्रेस एक दूसरे के गढ़ में सेंध लगाने की कोशिश में जुटी हैं। इस बीच भाजपा चाहती है कि कांग्रेस का गढ़ रहे सोलन जिले में पार्टी का परचम फहराया जाए। सोलन जिले में कुल पांच विधानसभा सीट हैं, जबकि भाजपा ने पिछले चुनाव में दो सीट पर कब्जा किया था। तीन सीट कांग्रेस के खाते में गई थी। हालांकि, इन तीन में से एक सीट जिस पर लखविंद्र राणा विधायक थे, कुछ महीने पहले ही भाजपा में शामिल हो गए। 

सोलन जिले में भाजपा को लाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बीते शनिवार, 5 नवंबर को यहां रैली की थी। ठोडो मैदान में रैली करते हुए मोदी ने कहा था कि यहां के लोगों ने मुझे खिलाया भी और सिखाया भी। ऐसे में मैं यहां डबल कर्जदार हूं। वहीं, चुनाव का ऐलान होने से पहले ही प्रियंका गांधी वाड्रा ने भी कांग्रेस की ओर से रैली की। सोलन जिला दवा कारोबार का हब माना जाता है। 

कांग्रेस और आप के साथ-साथ बागियों से भी जूझ रही भाजपा 
भाजपा इसे हर कीमत पर हासिल करना चाहती है। वैसे, पार्टी को यहां इस बार सिर्फ एक नहीं तीन मोर्चे पर जूझना पड़ रहा है। कांग्रेस के अलावा, इस बार आम आदमी पार्टी भी मैदान में है। इसके अलावा, पार्टी को अपने ही दलों के बागी नेताओं से भी जूझना पड़ रहा है। नालागढ़ विधानसभा सीट पर भाजपा को टिकट को लेकर विरोध झेलना पड़ा। ऐसे में पार्टी के कद्दावर नेता रहे केएल ठाकुर निर्दलीय चुनाव लड़ते हुए भाजपा के लिए मुसीबत बने हुए हैं। 

नड्डा, योगी और ठाकुर समेत कई बड़े नेता आए प्रचार के लिए 
सोलन जिले की तमाम सीट पर अब तक भाजपा के कई बड़े नेता प्रचार के लिए आ चुके हैं। इनमें उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी भाजपा प्रत्याशियों के समर्थन में प्रचार के लिए आ चुके हैं। इसके अलावा रविवार,  6 नवंबर को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने भी सोलन में रोड शो किया था। इसके अलावा राज्य के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने सोलन की अर्की विधानसभा सीट पर सोमवार, 7 नवंबर को भाजपा प्रत्याशी गोविंद राम के समर्थन में रैली की थी। 

कुल 68 विधानसभा सीटों पर 12 को होगी वोटिंग 
इस बार एक चरण में वोटिंग होगी। चुनाव प्रचार अभियान 10 नवंबर को शाम पांच बजे खत्म हो जाएगा। इसके बाद मतदान 12 नवंबर को है, जबकि मतगणना 8 दिसंबर को होगी। इसमें भाजपा और कांग्रेस के साथ-साथ इस बार आम आदमी पार्टी ने भी सभी 68 सीटों पर उम्मीदवार खड़े किए हैं। माैसम विभाग के अनुसार राज्य में वोटिंग वाले दिन यानी 12 नवंबर को मौसम साफ रहेगा। हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव में नामांकन और नाम वापसी का दौर पूरा हो चुका है। यहां 68 विधानसभा सीटों के लिए कुल 786 उम्मीदवार ने पर्चा भरा था। मगर अब मैदान में 412 प्रत्याशी ही बचे हैं। 84 के पर्चे रिजेक्ट हो गए। वहीं 113 ने उम्मीदवारों ने नाम वापस ले लिया था। इस बार एक चरण में वोटिंग होगी। चुनाव प्रचार अभियान 10 नवंबर को शाम पांच बजे खत्म हो जाएगा। इसके बाद मतदान 12 नवंबर को है, जबकि मतगणना 8 दिसंबर को होगी। इसमें भाजपा और कांग्रेस के साथ-साथ इस बार आम आदमी पार्टी ने भी सभी 68 सीटों पर उम्मीदवार खड़े किए हैं। 

खबरें और भी हैं..

इस राज्य में हर 5 साल में सरकार बदलने का ट्रेंड, क्या 'बागी' बनेंगे किंगमेकर?  

भाजपा चाहेगी कुर्सी बची रहे.. जानिए कितनी, कब और कहां रैली के जरिए मोदी करेंगे जयराम ठाकुर की मदद 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios