Asianet News HindiAsianet News Hindi

हरियाणा में बोले मोदी, कांग्रेस ने 1964 में किया था आर्टिकल 370 हटाने का वादा, पर मुद्दे को ठंडे बस्ते में डालती रही पार्टी

 मोदी ने यह आरोप भी लगाया कि कांग्रेस के नेता अनुच्छेद 370 को समाप्त करने में नाकाम रहे, जबकि 1964 में संसद में पार्टी ने इसका वादा किया था।
 

Modi said in Haryana, Congress had promised to remove article 370 in 1964, but the party kept shelving the issue
Author
Rewari, First Published Oct 19, 2019, 8:56 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

रेवाड़ी. हरियाणा विधानसभा चुनाव प्रचार के आखिरी दिन अपनी रैलियों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अनुच्छेद 370 और करतारपुर गलियारा के मुद्दे को लेकर विपक्षी कांग्रेस पर निशाना साधा। उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस की गलत नीतियों और रणनीति ने देश को बर्बाद कर दिया। मोदी ने यह आरोप भी लगाया कि कांग्रेस के नेता अनुच्छेद 370 को समाप्त करने में नाकाम रहे, जबकि 1964 में संसद में पार्टी ने इसका वादा किया था।

फिर किया 370 का जिक्र 
प्रधानमंत्री मोदी ने एलनाबाद में एक रैली में अनुच्छेद 370 का जिक्र करते हुए कहा कि जिसे भीम राव आंबेडकर ने एक अस्थायी प्रावधान कहा था, वह 70 साल तक बना रहा लेकिन कांग्रेस ने उस बारे में कुछ नहीं किया। उन्होंने कहा, ‘‘कांग्रेस की गलत नीतियों और रणनीति ने राष्ट्र को बर्बाद कर दिया।’’ उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि अब भारत और कश्मीर के लोग नीतियां बनाएंगे। मोदी ने कहा, ‘‘समय बदल गया है, देश बदल गया है।’’

राज्य में 21 अक्टूबर को विधानसभा चुनाव होना है।

कश्मीर का समृद्ध रहना ज्यादा जरूरी- मोदी 
उन्होंने जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 के ज्यादातर प्रावधानों को रद्द करने के फैसले को उचित बताते हुए कहा, ‘‘क्या दिल्ली में सत्ता की खातिर कश्मीर को बर्बाद होने देना चाहिए? कश्मीर ज्यादा महत्वपूर्ण होना चाहिए या प्रधानमंत्री का पद? हर भारतीय का यही जवाब होगा कि प्रधानमंत्री आते-जाते रहेंगे, कश्मीर को बने रहना होगा और समृद्ध होना होगा।’’ उन्होंने कहा कि 70 बरसों तक इस मुद्दे का कोई सार्थक हल निकालने के लिये ईमानदार प्रयास नहीं किया गया जबकि जम्मू कश्मीर में बेकसूरों को मरने के लिये छोड़ दिया गया। वहीं जवानों ने वहां नागरिकों की सुरक्षा के लिये अपने प्राण न्यौछावर कर दिये।

करतारपुर गलियारे का भी किया जिक्र 
प्रधानमंत्री ने करतारपुर गलियारे के मुद्दे पर कहा कि यह पूरा होने के करीब है और केंद्र गुरु नानक देव के 550 वें प्रकाश पर्व को भव्य तरीके से मनाने के लिये इंतजाम कर रहा है। उन्होंने कहा, ‘‘करतारपुर गुरुद्वारा को भारतीय भू क्षेत्र में लाने की अक्षमता विभाजन के समय की एक बड़ी गलती थी। ’’उन्होंने कहा कांग्रेस और उसकी संस्कृति से जुड़ी पार्टियों ने भारतीयों की मान्यता, परंपरा और संस्कृति को सम्मान नहीं दिया। मोदी ने कहा, हमारे पवित्र स्थलों के प्रति कांग्रेस का जो रुख रहा, वही रुख जम्मू कश्मीर के प्रति भी उसका रहा। उन्होंने रेवाड़ी में भी कांग्रेस पर अपना प्रहार जारी रखते हुए कहा, 1964 में संसद में एक चर्चा के दौरान, देश के प्रतिष्ठित नेता परेशान हो गये...कांग्रेस में विभाजन था। यह मांग थी कि अनुच्छेद 370 को समाप्त किया जाए और इस मुद्दे पर संसद में चर्चा हो। मोदी ने आज अपनी दूसरी रैली में कहा, ‘‘उस वक्त कांग्रेस नेताओं ने हाथ जोड़ कर कहा था कि उनकी मांग पूरी की जाए और अनुच्छेद 370 एक साल में समाप्त कर दिया जाएगा। लेकिन इस विषय को फिर से ठंडे बस्ते में डाल दिया गया।’’उन्होंने पूछा, क्या मजबूरी थी और क्या खेल खेला जा रहा था।

वन रैंक वन पेंशन के मुद्दे पर भी विपक्ष को घेरा 
उन्होंने विपक्षी पार्टी पर प्रहार करते हुए दावा किया कि उसने उन जवानों और पुलिसकर्मियों के लिये कोई स्मारक नहीं बनाया, जिन्होंने 70 साल तक राष्ट्र के लिये अपने प्राण न्यौछावर किये। ‘‘सिर्फ भाजपा सरकार ने ही उनके लिये इस तरह के स्मारक बनाये।’’मोदी ने कहा कि यह भाजपा सरकार है जिसने अनुच्छेद 370 के ज्यादातर प्रावधानों को रद्द किया, जबकि कांग्रेस सिर्फ निजी फायदे की सोच रही थी। प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि ‘वन रैंक,वन पेंशन’ (ओआरओपी) योजना के तहत हरियाणा में दो लाख पूर्व सैनिकों को 900 करोड़ रुपये दिये गये। मोदी ने कहा कि भाजपा सरकार ने सैनिकों के लिये अत्याधुनिक हथियार, राफेल लड़ाकू विमान और बुलेटप्रूफ जैकेट लाकर अपने सशस्त्र बलों को मजबूत किया।

[यह खबर समाचार एजेंसी भाषा की है, एशियानेट हिंदी टीम ने सिर्फ हेडलाइन में बदलाव किया है]

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios