Asianet News Hindi

बिहार चुनाव: BJP ने की बड़ी कार्रवाई, प्रदेश उपाध्यक्ष समेत 9 नेता 6 साल के लिए निष्कासित

First Published Oct 13, 2020, 9:11 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

पटना (Bihar ) । बिहार विधानसभा चुनाव के बीच भाजपा ने बड़ी कार्रवाई की है। पार्टी के नौ बागियों को बाहर का रास्ता दिखा दिया है। पार्टी की ओर से जारी पत्र में कहा गया है कि वे एनडीए के प्रत्याशी के विरूद्ध चुनाव लड़ रहे हैं। इससे एनडीए के साथ-साथ पार्टी की छवि भी धूमिल हो रही है। आप लोगों को दल विरोधी इस कार्य के कारण पार्टी से छह साल के लिये निष्कासित किया जाता है।
 

बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल द्वारा हस्ताक्षरित पत्र में नौ नेताओं को छह साल के लिए निष्कासित किया गया है। इनमें भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष राजेंद्र सिंह, राष्ट्रीय मंत्री रहे रामेश्वर चौरसिया, पूर्व विधायक डॉ. ऊषा विद्यार्थी, विधायक रवींद्र यादव, इंदु कश्यप, श्वेता सिंह, अनिल कुमार, मृणाल शेखर और अजय प्रताप शामिल हैं। 
 ( फोटोे-संजय जायसवाल)

बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल द्वारा हस्ताक्षरित पत्र में नौ नेताओं को छह साल के लिए निष्कासित किया गया है। इनमें भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष राजेंद्र सिंह, राष्ट्रीय मंत्री रहे रामेश्वर चौरसिया, पूर्व विधायक डॉ. ऊषा विद्यार्थी, विधायक रवींद्र यादव, इंदु कश्यप, श्वेता सिंह, अनिल कुमार, मृणाल शेखर और अजय प्रताप शामिल हैं। 
 ( फोटोे-संजय जायसवाल)

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ में महत्वपूर्ण जिम्मेदारी का निर्वहन कर चुके प्रदेश उपाध्यक्ष राजेंद्र सिंह रोहतास जिला में दिनारा से लोजपा के प्रत्याशी हैं। उनके मुकाबले में जदयू के मंत्री जय कुमार सिंह हैं। पिछली बार भी दोनों में मुकाबला हुआ था। तब राजेंद्र सिंह भाजपा के प्रत्याशी थे और चुनाव हार गए थे। 
 

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ में महत्वपूर्ण जिम्मेदारी का निर्वहन कर चुके प्रदेश उपाध्यक्ष राजेंद्र सिंह रोहतास जिला में दिनारा से लोजपा के प्रत्याशी हैं। उनके मुकाबले में जदयू के मंत्री जय कुमार सिंह हैं। पिछली बार भी दोनों में मुकाबला हुआ था। तब राजेंद्र सिंह भाजपा के प्रत्याशी थे और चुनाव हार गए थे। 
 

रामेश्वर चौरसिया नोखा से विधायक रह चुके हैं। इस बार वे सासाराम में लोजपा के सिंबल पर ताल ठोक रहे।

रामेश्वर चौरसिया नोखा से विधायक रह चुके हैं। इस बार वे सासाराम में लोजपा के सिंबल पर ताल ठोक रहे।

राष्ट्रीय कार्यकारिणी की सदस्य इंदु कश्यप जहानाबाद के मैदान में बतौर लोजपा उम्मीदवार किस्मत आजमा रहीं हैं। 
 

राष्ट्रीय कार्यकारिणी की सदस्य इंदु कश्यप जहानाबाद के मैदान में बतौर लोजपा उम्मीदवार किस्मत आजमा रहीं हैं। 
 

पूर्व विधायक ऊषा विद्यार्थी पागीगंज से लोजपा प्रत्याशी हैं। वो 28 वर्षों से भाजपा में जुड़ी थीं। भाजपा संगठन में काम करते हुए विभिन्न पदों पर रह चुकी हैं। उषा प्रदेश उपाध्यक्ष और प्रदेश प्रवक्ता के पद पर भी रह चुकी हैं। इसके अलावा वह बिहार राज्य महिला आयोग की सदस्य भी हैं।  वहीं, अजय प्रताप जमुई से और अनिल कुमार पटना जिला में बिक्रम से निर्दलीय उम्मीदवार हैं।

(फोटो- उषा विद्यार्थी)

पूर्व विधायक ऊषा विद्यार्थी पागीगंज से लोजपा प्रत्याशी हैं। वो 28 वर्षों से भाजपा में जुड़ी थीं। भाजपा संगठन में काम करते हुए विभिन्न पदों पर रह चुकी हैं। उषा प्रदेश उपाध्यक्ष और प्रदेश प्रवक्ता के पद पर भी रह चुकी हैं। इसके अलावा वह बिहार राज्य महिला आयोग की सदस्य भी हैं।  वहीं, अजय प्रताप जमुई से और अनिल कुमार पटना जिला में बिक्रम से निर्दलीय उम्मीदवार हैं।

(फोटो- उषा विद्यार्थी)

भाजपा विधायक डॉ रवींद्र यादव भी टिकट कटने से नाराज होकर लोजपा में शामिल हो गए। वे झाझा से उम्मीदवार हैं। राजग में समझौते के तहत वे सीटें जदयू को गई हैं। मृणाल शेखर बांका जिला में अमरपुर से लोजपा के टिकट पर ताल ठोक रहे। पिछली बार वे वहां भाजपा के अधिकृत उम्मीदवार थे और चुनाव हार गए थे। 

(फोटो-डा. रवींद्र यादव)

भाजपा विधायक डॉ रवींद्र यादव भी टिकट कटने से नाराज होकर लोजपा में शामिल हो गए। वे झाझा से उम्मीदवार हैं। राजग में समझौते के तहत वे सीटें जदयू को गई हैं। मृणाल शेखर बांका जिला में अमरपुर से लोजपा के टिकट पर ताल ठोक रहे। पिछली बार वे वहां भाजपा के अधिकृत उम्मीदवार थे और चुनाव हार गए थे। 

(फोटो-डा. रवींद्र यादव)

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios