Asianet News Hindi

राष्ट्रपति-प्रधानमंत्री भी चखेंगे यहां के मशहूर जर्दालू आम और शाही लीची का स्वाद, स्वाद की मुरीद है दुनिया

First Published Jun 9, 2020, 7:20 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

पटना (Bihar) । बिहार की प्रसिद्ध शाही लीची और जर्दालू आम की मुरीद पूरी दुनिया है। इस बार इन दोनों फलों का स्वाद राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी चखेंगे। जर्दालू आम की खास पैकिंग कराकर एक दिन पहले दिल्ली भेज दिया गया है। यह जानकारी बिहार के कृषि मंत्री प्रेम कुमार ने मीडिया को दी। उन्होंने कहा कि आम के पैकेट के साअ पम्पलेट भी भेजा गया है। जिसमें लिखा गया है कि "यह आम सिर्फ स्वाद में ही उत्तम नहीं है, बल्कि इसमें और भी कई खासियत हैं। इस आम में फाइबर अधिक होता है, जो पेट के लिए उत्तम है। यह सुपाच्य होता है। इसमें सुगर की मात्रा कम है, जिससे सुगर और रक्तचाप वाले मरीज भी इसे खा सकते हैं।


बिहार के कृषि मंत्री प्रेम कुमार ने कहा कि प्रत्येक वर्ष की तरह इस साल भी राष्ट्रपति कोविंद, प्रधानमंत्री मोदी सहित केंद्रीय मंत्रियों को भागलपुर का प्रसिद्ध जर्दालू आम भेजा गया है। 
 


बिहार के कृषि मंत्री प्रेम कुमार ने कहा कि प्रत्येक वर्ष की तरह इस साल भी राष्ट्रपति कोविंद, प्रधानमंत्री मोदी सहित केंद्रीय मंत्रियों को भागलपुर का प्रसिद्ध जर्दालू आम भेजा गया है। 
 


बिहार के कृषि मंत्री प्रेम कुमार ने कहा कि इस प्रसिद्ध आम को सोमवार को 1500 अलग-अलग पैकेट में पैक कर भागलपुर से ब्रह्मपुत्र मेल ट्रेन से दिल्ली भेज दिया गया है, जो आज पहुंच गया।


बिहार के कृषि मंत्री प्रेम कुमार ने कहा कि इस प्रसिद्ध आम को सोमवार को 1500 अलग-अलग पैकेट में पैक कर भागलपुर से ब्रह्मपुत्र मेल ट्रेन से दिल्ली भेज दिया गया है, जो आज पहुंच गया।


बिहार के कृषि मंत्री प्रेम कुमार ने कहा यह आम पहले दिल्ली स्थित बिहार भवन जाएगा। इसके बाद वहां से अलग-अलग विशिष्ट लोगों को भेजा जाएगा।
 


बिहार के कृषि मंत्री प्रेम कुमार ने कहा यह आम पहले दिल्ली स्थित बिहार भवन जाएगा। इसके बाद वहां से अलग-अलग विशिष्ट लोगों को भेजा जाएगा।
 


बिहार के कृषि मंत्री प्रेम कुमार ने कहा कि तैयार पैकेट में न केवल आम होंगे, बल्कि उसकी खासियत बताने के लिए एक-एक पम्पलेट भी भेजा गया है। 
 


बिहार के कृषि मंत्री प्रेम कुमार ने कहा कि तैयार पैकेट में न केवल आम होंगे, बल्कि उसकी खासियत बताने के लिए एक-एक पम्पलेट भी भेजा गया है। 
 

पम्पलेट में लिखा गया है कि "यह आम सिर्फ स्वाद में ही उत्तम नहीं है, बल्कि इसमें और भी कई खासियत हैं। इस आम में फाइबर अधिक होता है, जो पेट के लिए उत्तम है। यह सुपाच्य होता है। इसमें सुगर की मात्रा कम है, जिससे सुगर और रक्तचाप वाले मरीज भी इसे खा सकते हैं।
 

पम्पलेट में लिखा गया है कि "यह आम सिर्फ स्वाद में ही उत्तम नहीं है, बल्कि इसमें और भी कई खासियत हैं। इस आम में फाइबर अधिक होता है, जो पेट के लिए उत्तम है। यह सुपाच्य होता है। इसमें सुगर की मात्रा कम है, जिससे सुगर और रक्तचाप वाले मरीज भी इसे खा सकते हैं।
 

जर्दालू आम को जीआई (जियोग्राफिकल इंडिकेशन टैग) मिल चुका है, जिससे इसे अंतर्राष्ट्रीय पहचान मिल गई है। प्रधानमंत्री के 'वोकल फॉर लोकल' के मंत्र का पालन करते हुए जर्दालू आम को अंतर्राष्ट्रीय ब्रांड बनाने की पहल की जा रही है। 
 

जर्दालू आम को जीआई (जियोग्राफिकल इंडिकेशन टैग) मिल चुका है, जिससे इसे अंतर्राष्ट्रीय पहचान मिल गई है। प्रधानमंत्री के 'वोकल फॉर लोकल' के मंत्र का पालन करते हुए जर्दालू आम को अंतर्राष्ट्रीय ब्रांड बनाने की पहल की जा रही है। 
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios