Asianet News Hindi

बेटा शादीशुदा तो बेटी करती है नौकरी, कुछ ऐसी है TV के राम अरुण गोविल की फैमिली

First Published Jan 12, 2021, 2:43 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई। रामानंद सागर की 'रामायण' (Ramayan) में भगवान राम (Ram) का रोल निभाकर फेमस हुए अरुण गोविल (Arun Govil) 63 साल के हो गए हैं। 12 जनवरी 1958 को मेरठ में जन्‍मे अरुण गोविल ने एक्ट्रेस श्रीलेखा से शादी की है। अरुण गोवल के 2 बच्चे एक बेटा अमल गोविल और बेटी सोनिका गोविल हैं। अमर की शादी हो चुकी हैं वहीं सोनिका पढ़ाई पूरी करके फिलहाल जॉब कर रही हैं। सोनिका 2016 से मुंबई में 'माइंड शेयर' कंपनी में बतौर प्लानिंग एग्जीक्यूटिव जॉब कर रही हैं। इससे पहले वे 'GroupM', 'Maxus' जैसी कंपनियों में भी काम कर चुकी  हैं।

वहीं बात अगर सोनिका की एजुकेशन की करें तो उन्होंने वेस्टमिंस्टर यूनिवर्सिटी से मार्केटिंग कम्युनिकेशन में अपनी पोस्ट ग्रैजुएशन की डिग्री पूरी की है। बता दें, सोनिका ट्विटर काफी एक्टिव हैं वे अक्सर अपनी एक्टिविटीज यहां शेयर करती हैं।

वहीं बात अगर सोनिका की एजुकेशन की करें तो उन्होंने वेस्टमिंस्टर यूनिवर्सिटी से मार्केटिंग कम्युनिकेशन में अपनी पोस्ट ग्रैजुएशन की डिग्री पूरी की है। बता दें, सोनिका ट्विटर काफी एक्टिव हैं वे अक्सर अपनी एक्टिविटीज यहां शेयर करती हैं।

बता दें कि अरुण गोविल राम के रोल से इतने फेमस हो गए थे कि कई बार लोग शूटिंग के दौरान उनसे आशीर्वाद लेने सेट पर ही पहुंच जाते थे। ये बात खुद उन्होंने एक इंटरव्यू में बताई थी। इतना ही नहीं, लोग टीवी पर शो शुरू होते ही फूलों की माला चढ़ाते थे। अगरबत्ती और धूपबत्ती लगाकर हाथ जोड़ बैठ जाते थे।

बता दें कि अरुण गोविल राम के रोल से इतने फेमस हो गए थे कि कई बार लोग शूटिंग के दौरान उनसे आशीर्वाद लेने सेट पर ही पहुंच जाते थे। ये बात खुद उन्होंने एक इंटरव्यू में बताई थी। इतना ही नहीं, लोग टीवी पर शो शुरू होते ही फूलों की माला चढ़ाते थे। अगरबत्ती और धूपबत्ती लगाकर हाथ जोड़ बैठ जाते थे।

लोगों की नजरों में अरुण गोविल राम के रोल में ऐसे ढल गए कि लोग उन्हें सिर्फ राम के रोल में ही देखना पसंद करते थे। इसका परिणाम ये हुआ कि उनका एक्टिंग करियर ही खत्म हो गया। उन्हें रामायण के बाद कभी कोई अच्छा काम ही नहीं मिला। 

लोगों की नजरों में अरुण गोविल राम के रोल में ऐसे ढल गए कि लोग उन्हें सिर्फ राम के रोल में ही देखना पसंद करते थे। इसका परिणाम ये हुआ कि उनका एक्टिंग करियर ही खत्म हो गया। उन्हें रामायण के बाद कभी कोई अच्छा काम ही नहीं मिला। 

अरुण गोविल अब वे न तो टीवी पर और न ही फिल्मों में नजर आते हैं। हालांकि उन्होंने 'रामायण' में लक्ष्मण का रोल करने वाले सुनील लहरी के साथ मिलकर अपनी प्रोडक्शन कंपनी शुरू की, जो दूरदर्शन चैनल के लिए कार्यक्रम बनाने का काम करती है। 
 

अरुण गोविल अब वे न तो टीवी पर और न ही फिल्मों में नजर आते हैं। हालांकि उन्होंने 'रामायण' में लक्ष्मण का रोल करने वाले सुनील लहरी के साथ मिलकर अपनी प्रोडक्शन कंपनी शुरू की, जो दूरदर्शन चैनल के लिए कार्यक्रम बनाने का काम करती है। 
 

स्‍कूल के दिनों में अरुण गोविल कई नाटकों में पार्टिसिपेट करते थे। लेकिन उन्होंने कभी एक्टर बनने का नहीं सोचा था। बात जब करियर की आई तो वे मेरठ से मुंबई अपने बिजनेसमैन भाई के साथ कुछ काम सीखने आए थे। 

स्‍कूल के दिनों में अरुण गोविल कई नाटकों में पार्टिसिपेट करते थे। लेकिन उन्होंने कभी एक्टर बनने का नहीं सोचा था। बात जब करियर की आई तो वे मेरठ से मुंबई अपने बिजनेसमैन भाई के साथ कुछ काम सीखने आए थे। 

1977 में वो पहला मौका आया जब उन्होंने फिल्म 'पहेली' से अपना एक्टिंग करियर शुरू किया। इसी के बाद उनकी मुलाकात रामानंद सागर से हुई और उन्‍होंने 'विक्रम और बेताल' शो में उन्हें राजा विक्रमादित्‍य का रोल दिया। 

1977 में वो पहला मौका आया जब उन्होंने फिल्म 'पहेली' से अपना एक्टिंग करियर शुरू किया। इसी के बाद उनकी मुलाकात रामानंद सागर से हुई और उन्‍होंने 'विक्रम और बेताल' शो में उन्हें राजा विक्रमादित्‍य का रोल दिया। 

जब रामानंद सागर ने रामायण बनाने का विचार किया तो उन्होंने सबसे पहले अरुण का चेहरा याद आया। इसी वजह से अरुण को शो में राम बनने का मौका मिला। हालांकि इससे लिए कैरेक्टर के लिए उन्हें काफी मेहनत करनी पड़ी। इस शो के लिए उन्होंने स्मोकिंग भी छोड़ी थी और इस किरदार को जीना शुरू कर दिया था। 

जब रामानंद सागर ने रामायण बनाने का विचार किया तो उन्होंने सबसे पहले अरुण का चेहरा याद आया। इसी वजह से अरुण को शो में राम बनने का मौका मिला। हालांकि इससे लिए कैरेक्टर के लिए उन्हें काफी मेहनत करनी पड़ी। इस शो के लिए उन्होंने स्मोकिंग भी छोड़ी थी और इस किरदार को जीना शुरू कर दिया था। 

अरुण गोविल के बेटे की शादी में शत्रुघ्न सिन्हा भी पहुंचे थे। इस दौरान उनसे आशीर्वाद लेती अरुण गोविल की बहू।

अरुण गोविल के बेटे की शादी में शत्रुघ्न सिन्हा भी पहुंचे थे। इस दौरान उनसे आशीर्वाद लेती अरुण गोविल की बहू।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios