सुशांत केस: रिया और उनके भाई की जमानत याचिका खारिज, कोर्ट ने कहा-'रिहाई पर मिट सकते हैं सबूत'

First Published 16, Sep 2020, 8:07 AM

मुंबई. सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड केस (Sushant Singh Rajput Suicide case) के ड्रग एंगल में रिया चक्रवर्ती (Rhea Chakraborty) और उनके भाई शोविक (Showik Chakraborty) को NCB द्वारा अरेस्ट कर लिया गया था। एनसीबी की टीम इनसे लगातार पूछताछ कर रही है और वो बॉलीवुड के ड्रग्स रैकेट के करीब पहुंचती जा रही है। मंगलवार को एनसीबी ने इस मामले की मुख्य आरोपी रिया चक्रवर्ती और उसके भाई शोविक के दोस्त करमजीत सिंह की एक करोड़ की कार जब्त कर ली है।

<p>ड्रग्स मामले की जांच कर रही एनसीबी को लगातार सफलता मिल रही है। शोविक के कॉलेज के दोस्त सूर्यदीप मल्होत्रा को पूछताछ के बाद और गोवा से पकड़े गए ड्रग्स पेडलर क्रिस कोस्टा को अरेस्ट कर लिया गया था।</p>

ड्रग्स मामले की जांच कर रही एनसीबी को लगातार सफलता मिल रही है। शोविक के कॉलेज के दोस्त सूर्यदीप मल्होत्रा को पूछताछ के बाद और गोवा से पकड़े गए ड्रग्स पेडलर क्रिस कोस्टा को अरेस्ट कर लिया गया था।

<p>क्रिस कोस्ट को 17 सितंबर और सूर्यदीप को 18 सिंतबर तक NCB की कस्टडी में भेज दिया गया है।&nbsp;<br />
&nbsp;</p>

क्रिस कोस्ट को 17 सितंबर और सूर्यदीप को 18 सिंतबर तक NCB की कस्टडी में भेज दिया गया है। 
 

<p>मीडिया रिपोर्ट्स में अधिकारियों के हवाले से कहा जा रहा है कि सुशांत सिंह की मौत की जांच के सिलसिले में इन दोनों की गिरफ्तारी की गई है। इस तरह अब तक रिया और शोविक सहित कुल 18 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है।&nbsp;</p>

मीडिया रिपोर्ट्स में अधिकारियों के हवाले से कहा जा रहा है कि सुशांत सिंह की मौत की जांच के सिलसिले में इन दोनों की गिरफ्तारी की गई है। इस तरह अब तक रिया और शोविक सहित कुल 18 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है। 

<p>इसके साथ ही विशेष NDPS कोर्ट ने ड्रग्स मामले की आरोपी रिया चक्रवर्ती की जमानत याचिका को खारिज कर दिया है। कोर्ट ने जमानत देने से इनकार करते हुए कहा कि 'अगर उसे जमानत पर रिहा किया गया तो वो अन्य लोगों को सतर्क कर देगी और वो सुबूतों को नष्ट कर देंगे।'<br />
&nbsp;</p>

इसके साथ ही विशेष NDPS कोर्ट ने ड्रग्स मामले की आरोपी रिया चक्रवर्ती की जमानत याचिका को खारिज कर दिया है। कोर्ट ने जमानत देने से इनकार करते हुए कहा कि 'अगर उसे जमानत पर रिहा किया गया तो वो अन्य लोगों को सतर्क कर देगी और वो सुबूतों को नष्ट कर देंगे।'
 

<p>अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश जीबी गुराओ ने 11 सितंबर की जमानत अर्जी पर सुनवाई करते हुए कहा कि जांच अभी शुरुआती चरण में है और यदि आरोपी बाहर आई तो वो अभियोजन पक्ष के साक्ष्यों को नष्ट कर सकती है।&nbsp;</p>

अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश जीबी गुराओ ने 11 सितंबर की जमानत अर्जी पर सुनवाई करते हुए कहा कि जांच अभी शुरुआती चरण में है और यदि आरोपी बाहर आई तो वो अभियोजन पक्ष के साक्ष्यों को नष्ट कर सकती है। 

loader