रिलायंस में कम सैलरी वालों को लॉकडाउन में नहीं उठानी पड़ेगी तकलीफ, मुकेश अंबानी ने किया यह इंतजाम

First Published 25, Mar 2020, 8:06 PM IST

बिजनेस डेस्क: कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे और पूरे देश में 21 दिन के लॉकडाउन की स्थिति को देखते हुए रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL) ने अपने कर्मचारियों को महीने में दो बार सैलरी का भुगतान करेगी। रिलायंस ने कहा है कि कंपनी का जो भी कर्मचारी महीने में 30,000 से कम कमाता है उसे महीने में दो बार करके वेतन दिया जाएगा। कंपनी ने एक बयान जारी कर कहा कि कम सैलरी वालों के कैशफ्लो को बचाने और किसी फइनैंशल बर्डन कम करने के लिए कंपनी यह फैसला कर रही है। ऐसा करने से महीने के बीच में उसके कर्मचारियों को नकदी की समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा। अगर कोई इमर्जेंसी आती है तो उनके पास पैसे होंगे ताकि वह खर्च कर सके।

कंपनी ने कहा कि रिलांयस परिवार के 600000 सदस्य कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में पूरी तरह से तैनात हैं। रिलायंस फाउंडेशन ने बीएमसी के साथ एक 100 बेड का अस्पताल दिया, जो सिर्फ कोविड-19 मरीजों के लिए है।

कंपनी ने कहा कि रिलांयस परिवार के 600000 सदस्य कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में पूरी तरह से तैनात हैं। रिलायंस फाउंडेशन ने बीएमसी के साथ एक 100 बेड का अस्पताल दिया, जो सिर्फ कोविड-19 मरीजों के लिए है।

मालूम हो कि इससे कुछ दिन पहले रिलायंस की ओर से कर्मचारियों के लिए काफी ऐलान किए गए थे। कंपनी की ओर से कहा गया था कि लॉकडाउन के कारण जो ठेके के कर्मचारी और टेंप्रेरी कर्मचारी काम पर नहीं जा रहे हैं उनके वेतन को रोका नहीं जाएगा। साथ ही कंपनी ने कंपनी ने रोटेशन ड्यूटी और वर्क फ्रॉम होम की सुविधा भी दी थी।

मालूम हो कि इससे कुछ दिन पहले रिलायंस की ओर से कर्मचारियों के लिए काफी ऐलान किए गए थे। कंपनी की ओर से कहा गया था कि लॉकडाउन के कारण जो ठेके के कर्मचारी और टेंप्रेरी कर्मचारी काम पर नहीं जा रहे हैं उनके वेतन को रोका नहीं जाएगा। साथ ही कंपनी ने कंपनी ने रोटेशन ड्यूटी और वर्क फ्रॉम होम की सुविधा भी दी थी।

इसके अलावा रिलायंस इंडस्ट्रीज ने कोरोना वायरस महामारी को देखते हुए उत्पादन क्षमता बढ़ाकर एक लाख मास्क प्रतिदिन करने, कोविड 19 के मरीजों को ले जाने वाले वाहनों को मुफ्त ईंधन देने तथा विभिन्न शहरों में मुफ्त भोजन उपलब्ध कराने का फैसला भी लिया है।

इसके अलावा रिलायंस इंडस्ट्रीज ने कोरोना वायरस महामारी को देखते हुए उत्पादन क्षमता बढ़ाकर एक लाख मास्क प्रतिदिन करने, कोविड 19 के मरीजों को ले जाने वाले वाहनों को मुफ्त ईंधन देने तथा विभिन्न शहरों में मुफ्त भोजन उपलब्ध कराने का फैसला भी लिया है।

रिलायंस ने मुंबई में कोरोना संक्रमित मरीजों के लिए 100 बेड का हॉस्पिटल बनाया है। रिलायंस ने बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) के सहयोग से इस हॉस्पिटल को दो हफ्ते में तैयार किया है। यह देश का पहला हॉस्पिटल है, जो कि सिर्फ कोरोना संक्रमितों मरीजों के इलाज के लिए तैयार किया गया है।

रिलायंस ने मुंबई में कोरोना संक्रमित मरीजों के लिए 100 बेड का हॉस्पिटल बनाया है। रिलायंस ने बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) के सहयोग से इस हॉस्पिटल को दो हफ्ते में तैयार किया है। यह देश का पहला हॉस्पिटल है, जो कि सिर्फ कोरोना संक्रमितों मरीजों के इलाज के लिए तैयार किया गया है।

कंपनी कोरोनावायरस की लड़ाई शामिल वाहनों के लिए मुफ्त ईंधन और लोगों के लिए भोजन की व्यवस्था की करने जा रही है। यह सब फैसले कंपनी अपनी सामाजिक जिम्मेदारी (सीएसआर) के तहत लिए गए हैं।

कंपनी कोरोनावायरस की लड़ाई शामिल वाहनों के लिए मुफ्त ईंधन और लोगों के लिए भोजन की व्यवस्था की करने जा रही है। यह सब फैसले कंपनी अपनी सामाजिक जिम्मेदारी (सीएसआर) के तहत लिए गए हैं।

रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड ने महाराष्ट्र सरकार के राहत कोष में 5 करोड़ रुपए भी दान किए हैं , उसने यह भी घोषणा की है कि वह देश के मजदूरों और हेल्थ वर्कर्स के लिए फेस मास्क तैयार करेगी।

रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड ने महाराष्ट्र सरकार के राहत कोष में 5 करोड़ रुपए भी दान किए हैं , उसने यह भी घोषणा की है कि वह देश के मजदूरों और हेल्थ वर्कर्स के लिए फेस मास्क तैयार करेगी।

स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक मंगलवार को देश में कोरोना वायरस से मौत के मामले 10 हो गये। राजधानी में मौत का दूसरा मामला सामने आया है। देश में कोविड-19 के मरीजों की संख्या बढ़कर 519 हो गई।

स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक मंगलवार को देश में कोरोना वायरस से मौत के मामले 10 हो गये। राजधानी में मौत का दूसरा मामला सामने आया है। देश में कोविड-19 के मरीजों की संख्या बढ़कर 519 हो गई।

मंत्रालय के मुताबिक केरल में कोरोना वायरस के सबसे अधिक 95 मामले सामने आए हैं जिनमें आठ विदेशी शामिल हैं जबकि तीन विदेशियों सहित 89 संक्रमितों के साथ महाराष्ट्र दूसरा सबसे प्रभावित राज्य है।

मंत्रालय के मुताबिक केरल में कोरोना वायरस के सबसे अधिक 95 मामले सामने आए हैं जिनमें आठ विदेशी शामिल हैं जबकि तीन विदेशियों सहित 89 संक्रमितों के साथ महाराष्ट्र दूसरा सबसे प्रभावित राज्य है।

loader