Asianet News Hindi

10 फरवरी को जारी होगा UPSC प्रीलिम्स 2021 का नोटिफिकेशन, IPS ने दिए ताबड़तोड़ तैयारी के टिप्स

First Published Feb 7, 2021, 6:00 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

करियर डेस्क.  UPSC CSE Prelims 2021 Preparation Tips: यूपीएससी दुनिया की सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक है। इस परीक्षा में सफल होना, देश के करोड़ों युवाओं का सपना होता है। इसी महीने 10 फरवरी को UPSC सिविल सेवा प्रीलिम्स 2021 (UPSC CSE Prelims 2021) का नोटिफिकेशन जारी हो जाएगा। ऐसे में जो कैंडिडेट्स परीक्षा में शामिल होना चाहते हैं वो इसकी तैयारी शुरू कर दें। प्रारंभिक परीक्षा 27 जून को होनी है। यहां हम आपको UPSC परीक्षा की तैयारी के लिए जबरदस्त टिप्स बता रहे हैं, ये टिप्स यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा 2012 के टॉपर ने साझा किए हैं। 138वां रैंक हासिल करने वाले आईपीएस अधिकारी आकाश तोमर (IPS Akash Tomar) ने कैंडिडेट्स की मदद करने कुछ जरूरी बातें सेयर कीं- 

उत्तर प्रदेश के इटावा में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (SSP) के रूप में तैनात, आकाश ने अपने आठ महीने की तैयारी के बाद, पहली बार में ही इस परीक्षा को क्रैक कर लिया था। वह कहते हैं कि, यूपीएससी से जुड़ना उनका एक सपना था, क्योंकि उनके पिता भी एक आईपीएस अधिकारी (IPS officer) बनना चाहते थे। लेकिन, किसी वजह से उनका यह सपना पूरा नहीं हो पाया। ऐसे में, अपने पिता के सपने को जी कर उन्हें गर्व महसूस होता है।

उत्तर प्रदेश के इटावा में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (SSP) के रूप में तैनात, आकाश ने अपने आठ महीने की तैयारी के बाद, पहली बार में ही इस परीक्षा को क्रैक कर लिया था। वह कहते हैं कि, यूपीएससी से जुड़ना उनका एक सपना था, क्योंकि उनके पिता भी एक आईपीएस अधिकारी (IPS officer) बनना चाहते थे। लेकिन, किसी वजह से उनका यह सपना पूरा नहीं हो पाया। ऐसे में, अपने पिता के सपने को जी कर उन्हें गर्व महसूस होता है।

अखबार को पढ़ना अपनी आदत बनाएं

 

हमने यूपीएससी की तैयारी के लिए, समाचार पत्रों को पढ़ने के महत्व पर कई बार चर्चा की है। आकाश भी इसी बात को दोहराते हुए कहते हैं, “मैं  ‘द हिंदू’ और ‘इंडियन एक्सप्रेस’ जैसे दो अखबारों को नियमित रूप से पढ़ता हूँ। छात्रों के लिए अखबारों को पढ़ना, और सभी जरूरी विषयों से संबंधित नोट्स बनाना जरूरी है। इससे आपको याद रखने में आसानी होगी।” (Demo Pic) 

अखबार को पढ़ना अपनी आदत बनाएं

 

हमने यूपीएससी की तैयारी के लिए, समाचार पत्रों को पढ़ने के महत्व पर कई बार चर्चा की है। आकाश भी इसी बात को दोहराते हुए कहते हैं, “मैं  ‘द हिंदू’ और ‘इंडियन एक्सप्रेस’ जैसे दो अखबारों को नियमित रूप से पढ़ता हूँ। छात्रों के लिए अखबारों को पढ़ना, और सभी जरूरी विषयों से संबंधित नोट्स बनाना जरूरी है। इससे आपको याद रखने में आसानी होगी।” (Demo Pic) 

विषयों का गहराई से अध्ययन जरूरी

 

आकाश कहते हैं कि, किसी एक विषय का अध्ययन करने के दौरान, इसे गहराई से कवर करना जरूरी है। इसलिए, एक पहलू को कई तरीके से सोचें। इससे आपको न सिर्फ प्रारंभिक और मुख्य परीक्षा में मदद मिलेगी, बल्कि इंटरव्यू में भी यह आपके काम आएगा।

विषयों का गहराई से अध्ययन जरूरी

 

आकाश कहते हैं कि, किसी एक विषय का अध्ययन करने के दौरान, इसे गहराई से कवर करना जरूरी है। इसलिए, एक पहलू को कई तरीके से सोचें। इससे आपको न सिर्फ प्रारंभिक और मुख्य परीक्षा में मदद मिलेगी, बल्कि इंटरव्यू में भी यह आपके काम आएगा।

अच्छे किताबों का चयन करें

 

आकाश आगे कहते हैं, “कई किताबों को पढ़ने के बजाय, एक ही किताब को कई बार पढ़ना, और विषयों को समझना बेहतर है। परीक्षा नजदीक आने पर, आप किताब से बनाए नोट्स को रिवाइज करें। इस दौरान नई किताब या स्टडी मैटेरियल का अध्ययन करने से बचें।”

अच्छे किताबों का चयन करें

 

आकाश आगे कहते हैं, “कई किताबों को पढ़ने के बजाय, एक ही किताब को कई बार पढ़ना, और विषयों को समझना बेहतर है। परीक्षा नजदीक आने पर, आप किताब से बनाए नोट्स को रिवाइज करें। इस दौरान नई किताब या स्टडी मैटेरियल का अध्ययन करने से बचें।”

महत्वपूर्ण प्वाइंट को याद रखने के लिए शार्ट ट्रिक्स अपनाएं

 

वह बताते हैं, “मैं नोट्स बनाने के दौरान, संक्षिप्ताक्षर  (Abbreviations) का इस्तेमाल करता था। इससे आपको कई महत्वपूर्ण प्वाइंट को याद रखने में मदद मिलती है। इन शब्दों को गढ़ने के दौरान, जरूरी नहीं कि, इसका कोई ‘लॉजिकल मीनिंग’ हो। यह ऐसा होना चाहिए, जिससे आपको सिर्फ याद रखने में आसानी हो।”

महत्वपूर्ण प्वाइंट को याद रखने के लिए शार्ट ट्रिक्स अपनाएं

 

वह बताते हैं, “मैं नोट्स बनाने के दौरान, संक्षिप्ताक्षर  (Abbreviations) का इस्तेमाल करता था। इससे आपको कई महत्वपूर्ण प्वाइंट को याद रखने में मदद मिलती है। इन शब्दों को गढ़ने के दौरान, जरूरी नहीं कि, इसका कोई ‘लॉजिकल मीनिंग’ हो। यह ऐसा होना चाहिए, जिससे आपको सिर्फ याद रखने में आसानी हो।”

वैकल्पिक पेपर को लेकर आश्वस्त रहें

 

कभी-कभी छात्र अपने वैकल्पिक पेपर को लेकर  काफी असमंजस में होते हैं। आकाश कहते हैं, “छात्रों के लिए अपनी सुविधा और ज्ञान के आधार पर, वैकल्पिक पेपर का चयन करना जरूरी है। उनने विषयों को चुनने से बचें, जो ट्रेंडिंग हैं। अपनी रुचि अनुसार, विषय को चुनने के बाद आपको परीक्षा की बेहतर तैयारी करने में आसानी होगी।”

 

वह कहते हैं कि, वैकल्पिक पेपर को चुनना कठिन है। इसलिए, यह तय करने के लिए अपना पर्याप्त समय लें।

वैकल्पिक पेपर को लेकर आश्वस्त रहें

 

कभी-कभी छात्र अपने वैकल्पिक पेपर को लेकर  काफी असमंजस में होते हैं। आकाश कहते हैं, “छात्रों के लिए अपनी सुविधा और ज्ञान के आधार पर, वैकल्पिक पेपर का चयन करना जरूरी है। उनने विषयों को चुनने से बचें, जो ट्रेंडिंग हैं। अपनी रुचि अनुसार, विषय को चुनने के बाद आपको परीक्षा की बेहतर तैयारी करने में आसानी होगी।”

 

वह कहते हैं कि, वैकल्पिक पेपर को चुनना कठिन है। इसलिए, यह तय करने के लिए अपना पर्याप्त समय लें।

सोशल मीडिया साइटों से दूरी है जरूरी

 

परीक्षा से कुछ महीने पहले आकाश ने खुद को, सभी सोशल मीडिया साइटों से दूर कर लिया था। यहाँ तक कि, इस दौरान उनके पास सिर्फ एक साधारण मोबाइल था, और वह कुछ करीबियों से ही बात करते थे। वह बताते हैं, “मैं अपनी ऊर्जा और समय, किसी ऐसे जगह नहीं खर्च करना चाहता था। जिससे मेरी परीक्षा की तैयारी प्रभावित हो।”

 

सोशल मीडिया साइटों से दूरी है जरूरी

 

परीक्षा से कुछ महीने पहले आकाश ने खुद को, सभी सोशल मीडिया साइटों से दूर कर लिया था। यहाँ तक कि, इस दौरान उनके पास सिर्फ एक साधारण मोबाइल था, और वह कुछ करीबियों से ही बात करते थे। वह बताते हैं, “मैं अपनी ऊर्जा और समय, किसी ऐसे जगह नहीं खर्च करना चाहता था। जिससे मेरी परीक्षा की तैयारी प्रभावित हो।”

 

विजुअलाइजेशन तकनीक का इस्तेमाल

 

अध्ययन किए गए विषयों को रखने के लिए चीजों को विजुअलाइज करना जरूरी है। वह कहते हैं, “खास तौर पर, भूगोल जैसे विषयों में, जिसमें,  कि कई नक्शों को पढ़ने और याद रखने की जरूरत होती है। इसमें विजुअलाइजेशन तकनीक का इस्तेमाल कारगर है। किसी भी तरह के प्रश्न में, समस्याओं को विजुअलाइज करने से, आपको इसका हल ढूंढ़ने में मदद मिलेगी।

विजुअलाइजेशन तकनीक का इस्तेमाल

 

अध्ययन किए गए विषयों को रखने के लिए चीजों को विजुअलाइज करना जरूरी है। वह कहते हैं, “खास तौर पर, भूगोल जैसे विषयों में, जिसमें,  कि कई नक्शों को पढ़ने और याद रखने की जरूरत होती है। इसमें विजुअलाइजेशन तकनीक का इस्तेमाल कारगर है। किसी भी तरह के प्रश्न में, समस्याओं को विजुअलाइज करने से, आपको इसका हल ढूंढ़ने में मदद मिलेगी।

खुद पर भरोसा रखें, अगर पूरी ईमानदारी से मेहनत के साथ तैयारी करेंगे तो सफलता जरूर मिलेगी। परीक्षा से पहले अपने वीक प्वाइंट पर ज्यादा काम करें। 

खुद पर भरोसा रखें, अगर पूरी ईमानदारी से मेहनत के साथ तैयारी करेंगे तो सफलता जरूर मिलेगी। परीक्षा से पहले अपने वीक प्वाइंट पर ज्यादा काम करें। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios