Asianet News Hindi

कभी जया प्रदा की खूबसूरती पर फिदा था ये डायरेक्टर, दुनिया की सबसे सुंदर महिला बताते हुए किया था 1 वादा

First Published Apr 3, 2021, 3:39 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई। बॉलीवुड एक्ट्रेस से पॉलिटिशियन बनीं जया प्रदा (Jaya Prada) 59 साल की हो गई हैं। जया प्रदा का जन्म 3 अप्रैल 1962 को राजमुंदरी, आंध्र प्रदेश में हुआ था। उनके बचपन का नाम ललिता रानी है। जया प्रदा के पिता कृष्ण राव एक तेलुगु फिल्म फाइनेंसर थे। वे काफी छोटी थीं, तब मां ने उन्हें डांसिंग और म्यूजिक क्लासेस ज्वाइन करवा दी थी। डांस का यही हुनर उन्हें एक्टिंग की दुनिया तक ले गया। जया ने अपने एक्टिंग करियर की शुरुआत तेलुगु फिल्मों से की थी, लेकिन उन्हें असली पहचान बॉलीवुड में आकर ही मिली। वैसे, जया प्रदा को उनकी एक्टिंग के साथ ही साथ खूबसूरती के लिए भी जाना जाता है। बॉलीवुड के एक मशहूर डायरेक्टर ने तो उन्हें दुनिया की सबसे सुंदर महिला बताया था। 

महान फिल्मकार सत्यजीत रे जयाप्रदा की खूबसूरती और एक्टिंग से इतने ज्यादा प्रभावित थे कि उन्होंने जय प्रदा को दुनिया की सुंदरतम महिलाओं में एक माना था। यहां तक कि सत्यजीत रे उन्हें लेकर एक बांग्ला फिल्म बनाना चाहते थे, लेकिन स्वास्थ्य खराब रहने के कारण उनकी यह ख्वाहिश अधूरी ही रह गई। 

महान फिल्मकार सत्यजीत रे जयाप्रदा की खूबसूरती और एक्टिंग से इतने ज्यादा प्रभावित थे कि उन्होंने जय प्रदा को दुनिया की सुंदरतम महिलाओं में एक माना था। यहां तक कि सत्यजीत रे उन्हें लेकर एक बांग्ला फिल्म बनाना चाहते थे, लेकिन स्वास्थ्य खराब रहने के कारण उनकी यह ख्वाहिश अधूरी ही रह गई। 

कभी बॉलीवुड की सबसे खूबसूरत एक्ट्रेससेस में जयाप्रदा की गिनती हुआ करती थी। अमिताभ बच्चन और जितेन्द्र जैसे कलाकारों के साथ उनकी जोड़ी खूब पसंद की जाती थी। 'शराबी', 'संजोग' जैसी बेहतरीन फिल्मों में काम कर उन्होंने ऑडियंस का दिल जीता।

कभी बॉलीवुड की सबसे खूबसूरत एक्ट्रेससेस में जयाप्रदा की गिनती हुआ करती थी। अमिताभ बच्चन और जितेन्द्र जैसे कलाकारों के साथ उनकी जोड़ी खूब पसंद की जाती थी। 'शराबी', 'संजोग' जैसी बेहतरीन फिल्मों में काम कर उन्होंने ऑडियंस का दिल जीता।

जया प्रदा को 14 वर्ष की उम्र में अपने स्कूल में डांस प्रोग्राम पेश करने का मौका मिला था, जिसे देखकर एक फिल्म डायरेक्टर उनसे काफी प्रभावित हुए और अपनी फिल्म 'भूमिकोसम' में उनसे डांस करने की पेशकश की। 

जया प्रदा को 14 वर्ष की उम्र में अपने स्कूल में डांस प्रोग्राम पेश करने का मौका मिला था, जिसे देखकर एक फिल्म डायरेक्टर उनसे काफी प्रभावित हुए और अपनी फिल्म 'भूमिकोसम' में उनसे डांस करने की पेशकश की। 

हालांकि जया प्रदा ने पहले तो इस प्रस्ताव को साफतौर पर मना कर दिया। लेकिन बाद में अपने माता-पिता के जोर देने पर उन्होंने फिल्म में डांस करना स्वीकार कर लिया था। इस फिल्म के लिए जयाप्रदा को डांसिंग के लिए महज 10 रुपए मिले थे। 

हालांकि जया प्रदा ने पहले तो इस प्रस्ताव को साफतौर पर मना कर दिया। लेकिन बाद में अपने माता-पिता के जोर देने पर उन्होंने फिल्म में डांस करना स्वीकार कर लिया था। इस फिल्म के लिए जयाप्रदा को डांसिंग के लिए महज 10 रुपए मिले थे। 

लेकिन जया प्रदा के 3 मिनट के परफॉर्मेंस को देखकर साउथ के कई फिल्म निर्माता-निर्देशक बेहद प्रभावित हुए और उनसे अपनी फिल्मों में काम करने की पेशकश कर दी। बाद में जया प्रदा ने साउथ की कई फिल्मों में काम किया। 

लेकिन जया प्रदा के 3 मिनट के परफॉर्मेंस को देखकर साउथ के कई फिल्म निर्माता-निर्देशक बेहद प्रभावित हुए और उनसे अपनी फिल्मों में काम करने की पेशकश कर दी। बाद में जया प्रदा ने साउथ की कई फिल्मों में काम किया। 

इस फिल्म के लिए जयाप्रदा को डांसिंग के लिए भले ही 10 रुपए प्राप्त हुए थे, लेकिन उनके तीन मिनट के परफॉर्मेंस को देखकर दक्षिण भारत के कई फिल्म निर्माता-निर्देशक काफी प्रभावित हुए और उनसे अपनी फिल्मों में काम करने की पेशकश की, जिसे उन्होंने स्वीकार कर लिया।

इस फिल्म के लिए जयाप्रदा को डांसिंग के लिए भले ही 10 रुपए प्राप्त हुए थे, लेकिन उनके तीन मिनट के परफॉर्मेंस को देखकर दक्षिण भारत के कई फिल्म निर्माता-निर्देशक काफी प्रभावित हुए और उनसे अपनी फिल्मों में काम करने की पेशकश की, जिसे उन्होंने स्वीकार कर लिया।

1979 जया प्रदा के फिल्मी करियर के लिए महत्वपूर्ण साल साबित हुआ। 1979 में रिलीज 'श्री श्री मुवा' की हिंदी में रिमेक फिल्म 'सरगम' के जरिए जया प्रदा ने बॉलीवुड में कदम रखा। इस फिल्म की सफलता के बाद वो रातोंरात पॉपुलर हो गई थीं। 
 

1979 जया प्रदा के फिल्मी करियर के लिए महत्वपूर्ण साल साबित हुआ। 1979 में रिलीज 'श्री श्री मुवा' की हिंदी में रिमेक फिल्म 'सरगम' के जरिए जया प्रदा ने बॉलीवुड में कदम रखा। इस फिल्म की सफलता के बाद वो रातोंरात पॉपुलर हो गई थीं। 
 

इसके बाद जया प्रदा की कुछ फिल्में बॉक्सऑफिस पर उतना कमाल नहीं दिखा सकीं लेकिन उनका सितारा एक बार फिर फिल्म 'कामचोर' से चमका। 1982 में आई इस फिल्म में जया ने गीता संघवी का रोल प्ले किया था। फिल्म में उनके साथ राकेश रोशन, तनुजा और सुरेश ओबेरॉय भी थे।

इसके बाद जया प्रदा की कुछ फिल्में बॉक्सऑफिस पर उतना कमाल नहीं दिखा सकीं लेकिन उनका सितारा एक बार फिर फिल्म 'कामचोर' से चमका। 1982 में आई इस फिल्म में जया ने गीता संघवी का रोल प्ले किया था। फिल्म में उनके साथ राकेश रोशन, तनुजा और सुरेश ओबेरॉय भी थे।

फिल्मों के साथ-साथ राजनीति में भी जया प्रदा ने खूब नाम कमाया है। तेलुगु देशम पार्टी से अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत करने वाली जया प्रदा ने 2004 में समाजवादी पार्टी ज्वॉइन की थी। उन्हें सपा में लाने का श्रेय अमर सिंह को जाता है।

फिल्मों के साथ-साथ राजनीति में भी जया प्रदा ने खूब नाम कमाया है। तेलुगु देशम पार्टी से अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत करने वाली जया प्रदा ने 2004 में समाजवादी पार्टी ज्वॉइन की थी। उन्हें सपा में लाने का श्रेय अमर सिंह को जाता है।

हालांकि, फरवरी 2010 में जब समाजवादी पार्टी ने अपने जनरल सेक्रेटरी अमर सिंह को निष्कासित किया तो जयाप्रदा तब भी उनके समर्थन में खड़ी थीं। जब पार्टी सुप्रीमो मुलायम सिंह ने जया को अमर सिंह का समर्थन करते देखा तो उन्होंने जया प्रदा को भी पार्टी से निकाल दिया। 

हालांकि, फरवरी 2010 में जब समाजवादी पार्टी ने अपने जनरल सेक्रेटरी अमर सिंह को निष्कासित किया तो जयाप्रदा तब भी उनके समर्थन में खड़ी थीं। जब पार्टी सुप्रीमो मुलायम सिंह ने जया को अमर सिंह का समर्थन करते देखा तो उन्होंने जया प्रदा को भी पार्टी से निकाल दिया। 

इसके बाद जया प्रदा ने कुछ समय के लिए अजीतसिंह की पार्टी राष्ट्रीय लोकदल (RLD) को ज्वॉइन कर लिया। हालांकि यहां वो ज्यादा समय तक नहीं रहीं और मार्च, 2019 में बीजेपी की सदस्यता ग्रहण कर ली। 

इसके बाद जया प्रदा ने कुछ समय के लिए अजीतसिंह की पार्टी राष्ट्रीय लोकदल (RLD) को ज्वॉइन कर लिया। हालांकि यहां वो ज्यादा समय तक नहीं रहीं और मार्च, 2019 में बीजेपी की सदस्यता ग्रहण कर ली। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios