जब एक हिट ने खराब कर दिया था संजय दत्त के बहनोई का दिमाग फिर ऐसे बर्बाद हो गया पूरा करियर

First Published 11, Jul 2020, 11:35 AM

मुंबई. एक्टर से बिजनेसमैन बने कुमार गौरव आज अपना 60वां बर्थडे सेलिब्रेट कर रहे हैं। उनका जन्म 11 जुलाई 1960 को लखनऊ में हुा था। कुमार गौरव की गिनती बॉलीवुड में सुपरफ्लॉप एक्टर्स में की जाती है। दरअसल, कुमार ने 1981 में आई ब्लॉकबस्टर फिल्म 'लव स्टोरी' से बॉलीवुड में डेब्यू किया था। अपनी पहली ही फिल्म सुपरहिट होने के बाद उनका दिमाग सातवें आसमान पर पहुंच गया और उन्होंने उस दौर की न्यू एक्ट्रेसेस के साथ काम करने तक से मना कर दिया था। कहा जाता है कि उन्होंने जिनके साथ स्क्रीन शेयर करने से मना किया था, वे एक्ट्रेसेस बाद में सुपरहिट हो गईं और कुमार गौरव का करियर फ्लॉप हो गया। हालांकि, एक्टिंग छोड़कर अब वे बिजनेस कर रहे हैं।

<p>बता दें कि कुमार गौरव रिश्ते में संजय दत्त के बहनोई लगते हैं। उन्होंने संजय के बहन नम्रता दत्त से शादी की है। कुमार और संजय में गहरी दोस्ती है। और दोनों एक-दूसरे की मदद के लिए हमेशा तैयार रहते हैं। </p>

बता दें कि कुमार गौरव रिश्ते में संजय दत्त के बहनोई लगते हैं। उन्होंने संजय के बहन नम्रता दत्त से शादी की है। कुमार और संजय में गहरी दोस्ती है। और दोनों एक-दूसरे की मदद के लिए हमेशा तैयार रहते हैं। 

<p>फिल्म 'लव स्टोरी' ने कुमार गौरव को रातोंरात स्टार बना दिया था। अपनी पहली ही फिल्म से मिले स्टारडम को कुमार गौरव संभाल नहीं पाए। उन्होंने तुरंत फैसला कर लिया था कि वे किसी भी न्यू एक्ट्रेस के साथ काम नहीं करेंगे।</p>

फिल्म 'लव स्टोरी' ने कुमार गौरव को रातोंरात स्टार बना दिया था। अपनी पहली ही फिल्म से मिले स्टारडम को कुमार गौरव संभाल नहीं पाए। उन्होंने तुरंत फैसला कर लिया था कि वे किसी भी न्यू एक्ट्रेस के साथ काम नहीं करेंगे।

<p>इसी बीच, फिल्म प्रोड्यूसर दिनेश बंसल ने अपनी फिल्म शिरीन फरहाद के लिए एक नई लड़की यास्मीन को साइन किया और फिर कुमार गौरव के पास गए। कुमार ने इस फिल्म में काम करने से इनकार कर दिया और कहा कि वे नई लड़की के साथ काम नहीं करेंगे। हालांकि, यास्मीन और दिनेश बंसल ने उनको समझाने की बहुत कोशिश की, लेकिन वे नहीं मानें और फिल्म बंद हो गई। <br />
 </p>

इसी बीच, फिल्म प्रोड्यूसर दिनेश बंसल ने अपनी फिल्म शिरीन फरहाद के लिए एक नई लड़की यास्मीन को साइन किया और फिर कुमार गौरव के पास गए। कुमार ने इस फिल्म में काम करने से इनकार कर दिया और कहा कि वे नई लड़की के साथ काम नहीं करेंगे। हालांकि, यास्मीन और दिनेश बंसल ने उनको समझाने की बहुत कोशिश की, लेकिन वे नहीं मानें और फिल्म बंद हो गई। 
 

<p>यास्मीन वापस चली गई। इस घटना को देखते ही देखते 4 साल बीत गए। फिर यास्मीन को पता चला कि राज कपूर एक फिल्म बना रहे हैं, जिसके लिए उन्हें एक नॉर्थ इंडियन लुक वाली लड़की चाहिए। यास्मीन ने 'राम तेरी गंगा मैली' के लिए ऑडिशन दिया और राज कपूर ने यास्मीन को सिलेक्ट कर लिया। 'राम तेरी गंगा मैली' जब रिलीज हुई तो यास्मीन जोसेफ 'मंदाकिनी' बन चुकी थी। राज कपूर ने यास्मीन का नाम बदलकर मंदाकिनी रख दिया था। फिल्म हिट हो गई और मंदाकिनी स्टार बन गई।</p>

यास्मीन वापस चली गई। इस घटना को देखते ही देखते 4 साल बीत गए। फिर यास्मीन को पता चला कि राज कपूर एक फिल्म बना रहे हैं, जिसके लिए उन्हें एक नॉर्थ इंडियन लुक वाली लड़की चाहिए। यास्मीन ने 'राम तेरी गंगा मैली' के लिए ऑडिशन दिया और राज कपूर ने यास्मीन को सिलेक्ट कर लिया। 'राम तेरी गंगा मैली' जब रिलीज हुई तो यास्मीन जोसेफ 'मंदाकिनी' बन चुकी थी। राज कपूर ने यास्मीन का नाम बदलकर मंदाकिनी रख दिया था। फिल्म हिट हो गई और मंदाकिनी स्टार बन गई।

<p>मंदाकिनी स्टार थी और कुमार गौरव का सितारा अंधेरे में गुम हो रहा था। ऐसे में उनके अपोजिट कोई भी एक्ट्रेस काम करने को तैयार नहीं होती थी। तब उन्होंने एक फिल्म के लिए प्रोड्यूसर को मंदाकिनी का नाम सजेस्ट किया। प्रोड्यूसर ने मंदाकिनी से बात भी की, लेकिन जब उन्हें पता चला कि फिल्म के हीरो कुमार गौरव हैं, तो मंदाकिनी ने काम करने से मना कर दिया। बता दें कि कुमार गौरव ने उस दौर की हिट एक्ट्रेसेस पूनम ढिल्लन, रति अग्निहोत्री, पद्मिनी कोल्हापुरे, जूही चावला और माधुरी दीक्षित के साथ फिल्मों में काम किया, बावजूद इसके वे कामयाबी हासिल नहीं पाए।</p>

मंदाकिनी स्टार थी और कुमार गौरव का सितारा अंधेरे में गुम हो रहा था। ऐसे में उनके अपोजिट कोई भी एक्ट्रेस काम करने को तैयार नहीं होती थी। तब उन्होंने एक फिल्म के लिए प्रोड्यूसर को मंदाकिनी का नाम सजेस्ट किया। प्रोड्यूसर ने मंदाकिनी से बात भी की, लेकिन जब उन्हें पता चला कि फिल्म के हीरो कुमार गौरव हैं, तो मंदाकिनी ने काम करने से मना कर दिया। बता दें कि कुमार गौरव ने उस दौर की हिट एक्ट्रेसेस पूनम ढिल्लन, रति अग्निहोत्री, पद्मिनी कोल्हापुरे, जूही चावला और माधुरी दीक्षित के साथ फिल्मों में काम किया, बावजूद इसके वे कामयाबी हासिल नहीं पाए।

<p>राजेंद्र कुमार के बेटे कुमार गौरव ने जब इंडस्ट्री में कदम रखा था तो लोगों को उनसे काफी उम्मीदे थीं। पहली फिल्म सुपरहिट देने के बाद लगा था कि कुमार लंबी रेस का घोड़ा हैं और पिता की तरह वो भी फिल्मी दुनिया में खूब नाम कमाएंगे लेकिन ऐसा हो ना सका। कुमार ने 2009 में आखिरी फिल्म 'बीहड़' में काम किया और उसके बाद फिल्म इंडस्ट्री को अलविदा कह दिया।  </p>

राजेंद्र कुमार के बेटे कुमार गौरव ने जब इंडस्ट्री में कदम रखा था तो लोगों को उनसे काफी उम्मीदे थीं। पहली फिल्म सुपरहिट देने के बाद लगा था कि कुमार लंबी रेस का घोड़ा हैं और पिता की तरह वो भी फिल्मी दुनिया में खूब नाम कमाएंगे लेकिन ऐसा हो ना सका। कुमार ने 2009 में आखिरी फिल्म 'बीहड़' में काम किया और उसके बाद फिल्म इंडस्ट्री को अलविदा कह दिया।  

<p>अपने फिल्मी करियर में वे 50 फिल्मों का आंकड़ा भी नहीं छू पाए। 'लव स्टोरी' के बाद फिल्म 'नाम' में वो सुर्खियों में आए थे, इसके अलावा जो भी फिल्में कुमार ने कीं वो सभी औंधे मुंह गिरीं। उन्होंने 'तेरी कसम', 'लवर्स', 'हम हैं लाजवाब', 'आज', 'गुंज', 'फूल', 'गैंग', 'कांटे', 'माई डैडी स्ट्रांगेस्ट' जैसी फिल्मों में काम किया।</p>

अपने फिल्मी करियर में वे 50 फिल्मों का आंकड़ा भी नहीं छू पाए। 'लव स्टोरी' के बाद फिल्म 'नाम' में वो सुर्खियों में आए थे, इसके अलावा जो भी फिल्में कुमार ने कीं वो सभी औंधे मुंह गिरीं। उन्होंने 'तेरी कसम', 'लवर्स', 'हम हैं लाजवाब', 'आज', 'गुंज', 'फूल', 'गैंग', 'कांटे', 'माई डैडी स्ट्रांगेस्ट' जैसी फिल्मों में काम किया।

<p>संजय दत्त और अपनी फैमिली के साथ कुमार गौरव। </p>

संजय दत्त और अपनी फैमिली के साथ कुमार गौरव। 

loader