नहीं मिली कामयाबी तो इस एक्ट्रेस ने बसा लिया घर, फिल्मों से दूर अब संभाल रही करोड़ों की कंपनी

First Published 11, Sep 2019, 1:06 PM IST

मुंबई। फिल्म इंडस्ट्री में ऐसी कई एक्ट्रेस हैं, जो शुरुआती हिट फिल्में देने के बाद बॉलीवुड में लंबे वक्त तक टिक नहीं पाईं। इन्हीं में से एक नाम है ट्यूलिप जोशी। 11 सितंबर, 1979 को मुंबई की एक गुजराती फैमिली में (पिता गुजराती और मां अर्मेनियम) जन्मीं ट्यूलिप ने 2002 में यश चोपड़ा की फिल्म 'मेरे यार की शादी है' से डेब्यू किया था। उनकी यह फिल्म हिट रही लेकिन इसके बाद उनकी कोई भी फिल्म कुछ खास कमाल नहीं दिखा पाई। हालांकि, 2003 में ट्यूलिप ने फिल्म 'मातृभूमि' में काम किया। कन्या भ्रूण हत्या पर बेस्ड इस फिल्म में उन्होंने कल्कि का दमदार रोल प्ले किया। फिल्म में कल्कि पांच भाइयों से एक साथ शादी करती है। उसे हफ्ते की हर रात अलग-अलग भाइयों के साथ बितानी पड़ती है। हालांकि बावजूद इसके फिल्म को कुछ खास सफलता नहीं मिली। 

आखिरी बार इस फिल्म में दिखीं ट्यूलिप :  ट्यूलिप आखिरी बार 2014-15 में आई फिल्म 'एयरलाइन्स' में नजर आई थीं। इसमें उन्होंने कैप्टन अनन्या रावत का किरदार निभाया था। हालांकि फिल्म को ज्यादा किसी ने नोटिस नहीं किया। वैसे ट्यूलिप 2014 में आई सलमान खान की फिल्म 'जय हो' में भी नजर आ चुकी हैं। फिल्म में ट्यूलिप का कैमियो अपीयरेंस था।

आखिरी बार इस फिल्म में दिखीं ट्यूलिप : ट्यूलिप आखिरी बार 2014-15 में आई फिल्म 'एयरलाइन्स' में नजर आई थीं। इसमें उन्होंने कैप्टन अनन्या रावत का किरदार निभाया था। हालांकि फिल्म को ज्यादा किसी ने नोटिस नहीं किया। वैसे ट्यूलिप 2014 में आई सलमान खान की फिल्म 'जय हो' में भी नजर आ चुकी हैं। फिल्म में ट्यूलिप का कैमियो अपीयरेंस था।

कैप्टन विनोद नायर से हुआ प्यार और कर ली शादी :  फिल्मों में काम करने के दौरान ही ट्यूलिप को कैप्टन विनोद नायर से प्यार हो गया। विनोद ने पॉपुलर नॉवेल 'प्राइड ऑफ लॉयन्स' लिखा है। दोनों करीब 4 साल तक लिव-इन-रिलेशन में रहे। हालांकि कहा जाता है कि बाद में ट्यूलिप ने 2005 में विनोद से शादी कर ली। वैसे, इनकी शादी के बारे में ज्यादा जानकारी मौजूद नहीं है।

कैप्टन विनोद नायर से हुआ प्यार और कर ली शादी : फिल्मों में काम करने के दौरान ही ट्यूलिप को कैप्टन विनोद नायर से प्यार हो गया। विनोद ने पॉपुलर नॉवेल 'प्राइड ऑफ लॉयन्स' लिखा है। दोनों करीब 4 साल तक लिव-इन-रिलेशन में रहे। हालांकि कहा जाता है कि बाद में ट्यूलिप ने 2005 में विनोद से शादी कर ली। वैसे, इनकी शादी के बारे में ज्यादा जानकारी मौजूद नहीं है।

करोड़ों की कंपनी की डायरेक्टर हैं ट्यूलिप :  विनोद नायर 1989 से 1995 के बीच 6 साल तक इंडियन आर्मी में रहे। वो पंजाब रेजिमेंट की 19वीं बटालियन में थे। इसके बाद वो आर्मी छोड़कर वापस मुंबई आ गए। सितंबर, 2007 में उन्होंने अपनी ट्रेनिंग और मैनेजमेंट कंसल्टिंग फर्म (KIMMAYA) शुरू की। मीडिया सर्किल में उन्हें कैप्टन विनोद नायर के नाम से जाना जाता है। ट्यूलिप जोशी फिलहाल विनोद नायर के साथ ही करोड़ों की इस कंपनी की डायरेक्टर भी हैं।

करोड़ों की कंपनी की डायरेक्टर हैं ट्यूलिप : विनोद नायर 1989 से 1995 के बीच 6 साल तक इंडियन आर्मी में रहे। वो पंजाब रेजिमेंट की 19वीं बटालियन में थे। इसके बाद वो आर्मी छोड़कर वापस मुंबई आ गए। सितंबर, 2007 में उन्होंने अपनी ट्रेनिंग और मैनेजमेंट कंसल्टिंग फर्म (KIMMAYA) शुरू की। मीडिया सर्किल में उन्हें कैप्टन विनोद नायर के नाम से जाना जाता है। ट्यूलिप जोशी फिलहाल विनोद नायर के साथ ही करोड़ों की इस कंपनी की डायरेक्टर भी हैं।

ट्यूलिप को ऐसे मिली थी पहली फिल्म :  ट्यूलिप ने मुंबई के जमनाबाई नरसी स्कूल से अपनी पढ़ाई पूरी की। इसके बाद विवेक कॉलेज से मेजरिंग फूड साइंस एंड केमिस्ट्री में ग्रैजुएशन किया। पढ़ाई खत्म करने के बाद उन्होंने 2000 में फेमिना मिस इंडिया में भाग लिया, लेकिन उन्हें सफलता नहीं मिली। ट्यूलिप की एक फ्रेंड की शादी में आदित्य चोपड़ा ने उन्हें देखा और फिल्म का ऑफर दिया। फिर वह ऑडिशन के लिए गईं और फिल्म 'मेरे यार की शादी है' में उन्हें काम करने का मौका मिल गया।

ट्यूलिप को ऐसे मिली थी पहली फिल्म : ट्यूलिप ने मुंबई के जमनाबाई नरसी स्कूल से अपनी पढ़ाई पूरी की। इसके बाद विवेक कॉलेज से मेजरिंग फूड साइंस एंड केमिस्ट्री में ग्रैजुएशन किया। पढ़ाई खत्म करने के बाद उन्होंने 2000 में फेमिना मिस इंडिया में भाग लिया, लेकिन उन्हें सफलता नहीं मिली। ट्यूलिप की एक फ्रेंड की शादी में आदित्य चोपड़ा ने उन्हें देखा और फिल्म का ऑफर दिया। फिर वह ऑडिशन के लिए गईं और फिल्म 'मेरे यार की शादी है' में उन्हें काम करने का मौका मिल गया।

बॉलीवुड में नहीं चलीं तो किया साउथ का रुख :  ट्यूलिप को जब बॉलीवुड में सफलता नहीं मिली तो उन्होंने साउथ की फिल्मों का रुख कर लिया। उन्होंने 2007 में मलयालम फिल्म 'मिशन 90 डेज' में काम किया। इसके बाद तेलुगु फिल्म 'कोंचेम कोथागा' और कन्नड़ फिल्म 'सुपर' में काम किया।

बॉलीवुड में नहीं चलीं तो किया साउथ का रुख : ट्यूलिप को जब बॉलीवुड में सफलता नहीं मिली तो उन्होंने साउथ की फिल्मों का रुख कर लिया। उन्होंने 2007 में मलयालम फिल्म 'मिशन 90 डेज' में काम किया। इसके बाद तेलुगु फिल्म 'कोंचेम कोथागा' और कन्नड़ फिल्म 'सुपर' में काम किया।

इन प्रमुख फिल्मों में काम कर चुकीं ट्यूलिप :  ट्यूलिप ने करियर में करीब 20 फिल्मों में काम किया। इनमें मेरे यार की शादी है के अलावा 'विलेन' 'मातृभूमि', 'दिल मांगे मोर', 'मिशन 90 डेज', 'धोखा', 'कभी कहीं', 'सुपर स्टार', 'डैडी कूल', 'रन-वे' प्रमुख हैं। उन्होंने पंजाबी फिल्म 'जग जियोदयां दे मेले', 'यारा ओ दिलदारा' में भी काम किया है।

इन प्रमुख फिल्मों में काम कर चुकीं ट्यूलिप : ट्यूलिप ने करियर में करीब 20 फिल्मों में काम किया। इनमें मेरे यार की शादी है के अलावा 'विलेन' 'मातृभूमि', 'दिल मांगे मोर', 'मिशन 90 डेज', 'धोखा', 'कभी कहीं', 'सुपर स्टार', 'डैडी कूल', 'रन-वे' प्रमुख हैं। उन्होंने पंजाबी फिल्म 'जग जियोदयां दे मेले', 'यारा ओ दिलदारा' में भी काम किया है।

loader