Asianet News Hindi

तेज बुखार में तप रहा था 'मिर्जापुर' के कालीन भइया का शरीर फिर भी दवा खाकर 9 घंटे तक दिया था ऑडिशन

First Published Jun 24, 2020, 1:40 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई. वेबसीरीज 'मिर्जापुर' में कालीन भइया के रोल से फेमस हुए एक्टर पंकज त्रिपाठी का कोई फिल्मी बैकग्राउंड नहीं रहा है। पकंज बहुत डाउन टू अर्थ हैं और वो एक-एक कदम चलकर आज इस मुकाम पर पहुंचे हैं, जहां वो आज खड़े हैं। पंकज ने जाहिर तौर पर अपने करियर में काफी मेहनत की है और उनके स्ट्रगल का एक पुराना किस्सा शेयर किया है।  

दरअसल, पंकज त्रिपाठी ने हाल ही में एक इंटरव्यू दिया है। वहीं, उनकी फिल्म 'गैंग्स ऑफ वासेपुर' के 8 साल पूरे हो चुके हैं। इस फिल्म में पंकज ने 'सुल्तान' का किरदार निभाया था। एक इंटरव्यू में पंकज त्रिपाठी ने बताया कि फिल्म के लिए सुल्तान के किरदार का ऑडिशन तकरीबन 8 से 9 घंटे तक चला था। 

दरअसल, पंकज त्रिपाठी ने हाल ही में एक इंटरव्यू दिया है। वहीं, उनकी फिल्म 'गैंग्स ऑफ वासेपुर' के 8 साल पूरे हो चुके हैं। इस फिल्म में पंकज ने 'सुल्तान' का किरदार निभाया था। एक इंटरव्यू में पंकज त्रिपाठी ने बताया कि फिल्म के लिए सुल्तान के किरदार का ऑडिशन तकरीबन 8 से 9 घंटे तक चला था। 

इस ऑडिशन में उन्होंने 10 से 12 सीन किए थे। उनके द्वारा किए गए सभी सीन्स को फिल्म में शामिल किया गया था। पंकज ने बताया कि इस फिल्म का ऑडिशन देने के दौरान वह बीमार थे और उन्होंने पैरासीटामोल खाकर इस फिल्म का ऑडिशन दिया था। 

इस ऑडिशन में उन्होंने 10 से 12 सीन किए थे। उनके द्वारा किए गए सभी सीन्स को फिल्म में शामिल किया गया था। पंकज ने बताया कि इस फिल्म का ऑडिशन देने के दौरान वह बीमार थे और उन्होंने पैरासीटामोल खाकर इस फिल्म का ऑडिशन दिया था। 

उनका ऑडिशन दोपहर 12 बजे से शुरु हुआ था और पंकज रात के 8-9 बजे तक ये ऑडिशन देते रहे थे। उन्होंने बताया कि अंत में पंकज त्रिपाठी ने ग्रीन लेंस लगाकर उनका इंटरव्यू लिया था, जिसके बाद उन्हें फाइनली सिलेक्ट कर लिया गया था।

उनका ऑडिशन दोपहर 12 बजे से शुरु हुआ था और पंकज रात के 8-9 बजे तक ये ऑडिशन देते रहे थे। उन्होंने बताया कि अंत में पंकज त्रिपाठी ने ग्रीन लेंस लगाकर उनका इंटरव्यू लिया था, जिसके बाद उन्हें फाइनली सिलेक्ट कर लिया गया था।

पंकज त्रिपाठी ने ये भी बताया कि इस किरदार के लिए उन्होंने कोई खास तैयारी नहीं की थी। पंकज ने फ्लाइट पकड़ी और सीधा लोकेशन पर पहुंच गए थे। 

पंकज त्रिपाठी ने ये भी बताया कि इस किरदार के लिए उन्होंने कोई खास तैयारी नहीं की थी। पंकज ने फ्लाइट पकड़ी और सीधा लोकेशन पर पहुंच गए थे। 

पंकज का मानना है कि उन्होंने ऐसा गुरूर में नहीं किया था। बल्कि वह तकरीबन 22 साल थिएटर और रंगमंच को दे चुके हैं, जिसके बाद उन्हें किरदार की नब्ज पकड़ने में ज्यादा वक्त नहीं लगता है।

पंकज का मानना है कि उन्होंने ऐसा गुरूर में नहीं किया था। बल्कि वह तकरीबन 22 साल थिएटर और रंगमंच को दे चुके हैं, जिसके बाद उन्हें किरदार की नब्ज पकड़ने में ज्यादा वक्त नहीं लगता है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios