Asianet News Hindi

29 साल पहले माधवन की इस अदा पर फिदा हो गई थी होने वाली पत्नी, पर शादी के लिए करवाया 8 साल इंतजार

First Published Jun 7, 2020, 4:16 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई। बॉलीवुड फिल्मों 'रहना है तेरे दिल में' और 'तनु वेड्स मनु' से पॉपुलर हुए एक्टर आर माधवन की शादी को 21 साल पूरे हो चुके हैं। माधवन ने 6 जून, 1999 को एयरहोस्टेस रहीं सरिता बिरजे से शादी की। सरिता से उनकी पहली मुलाकात 1991 में हुई थी। माधवन उस समय महाराष्ट्र में एक वर्कशॉप में बोल रहे थे और सरिता उसे अटैंड करने पहुंची थीं। सरिता माधवन के स्टाइल और बोलने की शैली पर फिदा हो गई थीं।  इस मुलाकात के बाद सरिता और माधवन एक-दूसरे को डेट करने लगे और 8 साल बाद फाइनल शादी करने का फैसला किया।

बता दें कि शादी के पहले सरिता पेशे में एक एयरहोस्टेस थीं, लेकिन बाद में फैशन डिजाइनर के रूप में काम करने लगीं। उन्होंने माधवन की फिल्म 'गुरु एन आलू' (2009) में भी बतौर डिजाइनर काम किया है।

बता दें कि शादी के पहले सरिता पेशे में एक एयरहोस्टेस थीं, लेकिन बाद में फैशन डिजाइनर के रूप में काम करने लगीं। उन्होंने माधवन की फिल्म 'गुरु एन आलू' (2009) में भी बतौर डिजाइनर काम किया है।

साल 2005 में माधवन और सरिता बेटे वेदांत के पेरेंट्स बने। इस समय वे चेन्नई के बोट क्लब एरिया में रहते थे। इसके करीब चार साल बाद 2009 में माधवन पत्नी और बेटे के साथ मुंबई आ गए और कांदिवली में रहने लगे।

साल 2005 में माधवन और सरिता बेटे वेदांत के पेरेंट्स बने। इस समय वे चेन्नई के बोट क्लब एरिया में रहते थे। इसके करीब चार साल बाद 2009 में माधवन पत्नी और बेटे के साथ मुंबई आ गए और कांदिवली में रहने लगे।

माधवन सिर्फ एक्टिंग ही नहीं बल्कि पढ़ाई-लिखाई के मामले में भी बहुत आगे हैं। माधवन की गिनती बी-टाउन के हाइली एजुकेटेड सेलेब्स में होती हैं। आठवीं में फेल और 10वीं में सप्लिमेंट्री से पास होने वाले माधवन की लाइफ में एक वक्त ऐसा भी था जब फिजिक्स और मैथ्स में कम मार्क्स होने के चलते उन्हें इंजीनियरिंग कॉलेज में एडमिशन नहीं मिल रहा था। 

माधवन सिर्फ एक्टिंग ही नहीं बल्कि पढ़ाई-लिखाई के मामले में भी बहुत आगे हैं। माधवन की गिनती बी-टाउन के हाइली एजुकेटेड सेलेब्स में होती हैं। आठवीं में फेल और 10वीं में सप्लिमेंट्री से पास होने वाले माधवन की लाइफ में एक वक्त ऐसा भी था जब फिजिक्स और मैथ्स में कम मार्क्स होने के चलते उन्हें इंजीनियरिंग कॉलेज में एडमिशन नहीं मिल रहा था। 

हालांकि, काफी मेहनत के बाद उन्होंने कोल्हापुर के इंजीनियरिंग कॉलेज में एडमिशन लिया। उन्होंने इलेक्ट्रॉनिक्स में ग्रैजुएशन किया है। वे कनाडा में कल्चरल एम्बेसडर के रूप में भारत का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं। उन्हें महाराष्ट्र सरकार द्वारा बेस्ट कैडेट का अवॉर्ड भी मिल चुका है। 

हालांकि, काफी मेहनत के बाद उन्होंने कोल्हापुर के इंजीनियरिंग कॉलेज में एडमिशन लिया। उन्होंने इलेक्ट्रॉनिक्स में ग्रैजुएशन किया है। वे कनाडा में कल्चरल एम्बेसडर के रूप में भारत का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं। उन्हें महाराष्ट्र सरकार द्वारा बेस्ट कैडेट का अवॉर्ड भी मिल चुका है। 

माधवन नेवी, आर्मी और एयरफोर्स में भी ट्रेनिंग ले चुके हैं। एक्टिंग करियर शुरू करने से पहले उन्होंने पर्सनैलिटी डेवलपमेंट क्लासेस भी ली हैं। यूं तो माधवन पढ़ाई के लिए मुंबई आए थे, लेकिन इसी दौरान उन्होंने पार्ट टाइम जॉब के तौर पर मॉडलिंग स्टार्ट की। 

माधवन नेवी, आर्मी और एयरफोर्स में भी ट्रेनिंग ले चुके हैं। एक्टिंग करियर शुरू करने से पहले उन्होंने पर्सनैलिटी डेवलपमेंट क्लासेस भी ली हैं। यूं तो माधवन पढ़ाई के लिए मुंबई आए थे, लेकिन इसी दौरान उन्होंने पार्ट टाइम जॉब के तौर पर मॉडलिंग स्टार्ट की। 

आर माधवन ने साल 2001 में डायरेक्टर गौतम मेनन की फिल्म 'रहना है तेरे दिल में' से बॉलीवुड में डेब्यू किया था। हालांकि, इससे पहले साल 1996 में उन्होंने सुधीर मिश्रा के डायरेक्शन में बनी फिल्म 'इस रात की सुबह नहीं' में काम किया था, जिसके लिए उन्हें क्रेडिट नहीं दिया गया था। 

आर माधवन ने साल 2001 में डायरेक्टर गौतम मेनन की फिल्म 'रहना है तेरे दिल में' से बॉलीवुड में डेब्यू किया था। हालांकि, इससे पहले साल 1996 में उन्होंने सुधीर मिश्रा के डायरेक्शन में बनी फिल्म 'इस रात की सुबह नहीं' में काम किया था, जिसके लिए उन्हें क्रेडिट नहीं दिया गया था। 

बॉलीवुड में माधवन ने अब तक 'रहना है तेरे दिल में', 'रंग दे बसंती', 'रामजी लंदन-वाले', '13बी', '3 इडियट्स', 'तनु वेड्स मनु', 'तनु वेड्स मनु रिटर्न्स', 'साला खडूस' जैसी कई फिल्मों में काम किया है और लगभग हर फिल्म में उनकी एक्टिंग की तारीफ हुई है।

बॉलीवुड में माधवन ने अब तक 'रहना है तेरे दिल में', 'रंग दे बसंती', 'रामजी लंदन-वाले', '13बी', '3 इडियट्स', 'तनु वेड्स मनु', 'तनु वेड्स मनु रिटर्न्स', 'साला खडूस' जैसी कई फिल्मों में काम किया है और लगभग हर फिल्म में उनकी एक्टिंग की तारीफ हुई है।

माधवन के पिता रंगनाथन टाटा स्टील में मैनेजमेंट एग्जीक्यूटिव रह चुके हैं और मां सरोजा बैंक ऑफ इंडिया की मैनेजर। उनकी एक छोटी बहन भी है, जिसका नाम देविका है। देविका सॉफ्टवेयर इंजीनियर हैं और यूके में सेटल्ड हैं। 

माधवन के पिता रंगनाथन टाटा स्टील में मैनेजमेंट एग्जीक्यूटिव रह चुके हैं और मां सरोजा बैंक ऑफ इंडिया की मैनेजर। उनकी एक छोटी बहन भी है, जिसका नाम देविका है। देविका सॉफ्टवेयर इंजीनियर हैं और यूके में सेटल्ड हैं। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios