Asianet News Hindi

1 वजह के चलते इस एक्टर को 19 साल पहले रहना पड़ा था 3 हफ्ते तक झुग्गी में, ऐसी हो गई थी हालत

First Published Apr 14, 2021, 11:50 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई. डायरेक्टर राम गोपाल वर्मा (Ram Gopal Verma) की फिल्म कंपनी (Film Company) की रिलीज को 19 साल पूरे हो गए है। फिल्म 2002 में रिलीज हुई। इसमें अजय देवगन (Ajay Devgn), विवेक ओबेरॉय (Vivek Oberoi), मनीषा कोइराला (Manisha Koirala), अंतरा माली (Antara Mali), सीमा बिस्वास (Seema Biswas) लीड रोल में थे। आपको बता दें कि कंपनी विवेक ओबेरॉय की डेब्यू फिल्म थी। इस फिल्म में उन्होंने अपने रोल के लिए काफी मेहनत की थी। उन्होंने इस फिल्म में गैंग स्टर चंदू का किरदार निभाया था और इसके लिए वे 3 हफ्ते तक झुग्गी बस्ती में रहे थे। फिल्म में अपने डेब्यू को याद कर विवेक ने कहा- फिल्म कंपनी मेरे लिए एक ड्रीम डेब्यू थी। उस समय यह मौका मुझे राम गोपाल वर्मा ने दिया और मैंने इस किरदार को निभाया। इसके लिए मैंने एक खोली किराए पर ली और चंदू नागरे के किरदार की तैयारी के लिए तीन सप्ताह तक उसी में रहा। 19 साल हो गए और अभी भी मैंने एक चीज नहीं बदली।

विवेक ने हाल ही में दिए एक इंटरव्यू में बताया कि डेब्यू फिल्म रिलीज से पहले उनके मन में क्या चल रहा था। उन्होंने कहा- फिल्म रिलीज से पहले की रात मुझे आज भी याद है। मुंबई में फिल्म के बड़े-बड़े पोस्टर्स लगे थे। और यह मेरी जिंदगी का बहुत बड़ा दिन था। 

विवेक ने हाल ही में दिए एक इंटरव्यू में बताया कि डेब्यू फिल्म रिलीज से पहले उनके मन में क्या चल रहा था। उन्होंने कहा- फिल्म रिलीज से पहले की रात मुझे आज भी याद है। मुंबई में फिल्म के बड़े-बड़े पोस्टर्स लगे थे। और यह मेरी जिंदगी का बहुत बड़ा दिन था। 

उन्होंने बात को आगे बढ़ाते हुए कहा- फिल्म रिलीज से पहले ही मेरे अंदर स्टार होने की भावना पैदा हो गई थी। इसकी वजह यह थी कि राम गोपाल वर्मा ने मुझे पहले दिन से ही स्टार की तरह ट्रीट किया था। इतना ही नहीं इस फिल्म की रिलीज से पहले ही मैंने दूसरी फिल्म साइन कर ली थी। 

उन्होंने बात को आगे बढ़ाते हुए कहा- फिल्म रिलीज से पहले ही मेरे अंदर स्टार होने की भावना पैदा हो गई थी। इसकी वजह यह थी कि राम गोपाल वर्मा ने मुझे पहले दिन से ही स्टार की तरह ट्रीट किया था। इतना ही नहीं इस फिल्म की रिलीज से पहले ही मैंने दूसरी फिल्म साइन कर ली थी। 

विवेक ने कंपनी का ऑफर उन्हें कैसे मिला इस बारे में जवाब देते हुए कहा- मैं राम गोपाल वर्मा का फैन था और मुझे पता चला थाकि वे अपनी फिल्म के लिए कास्टिंग कर रहे थे। मैंने उन्हें एप्रोच किया। लेकिन जब मैं उनसे मिला तो उन्होंने मना कर दिया और कहा कि मैं रोल के लिए फिट नहीं हूं। फिर भी मैंने उनसे कहा कि मुझे चांस दे। 

विवेक ने कंपनी का ऑफर उन्हें कैसे मिला इस बारे में जवाब देते हुए कहा- मैं राम गोपाल वर्मा का फैन था और मुझे पता चला थाकि वे अपनी फिल्म के लिए कास्टिंग कर रहे थे। मैंने उन्हें एप्रोच किया। लेकिन जब मैं उनसे मिला तो उन्होंने मना कर दिया और कहा कि मैं रोल के लिए फिट नहीं हूं। फिर भी मैंने उनसे कहा कि मुझे चांस दे। 

उन्होंने बताया कि रामू की बात सुनकर मुझे धक्का लगा. पिर में झुग्गीबस्ती गया और वहां 3 हफ्ते रहा। वहां के तरीके, भाषा, रहन-सहन सीखा। इसके बाद में रामू के पास दोबारा गया। उस वक्त मेरी हालत वाकई झुग्गीबस्ती में रहने वालों की तरह थी। वॉचमैन ने मुझे अंदर जाने से रोक दिया। फिर में रामू के कैबिन में धक्का मारकर अंदर घुसा। मैंने चेयर खींची और उनकी टेबल पर अपने पैर रखे और उन्‍हें घूरते हुए देखा। 

उन्होंने बताया कि रामू की बात सुनकर मुझे धक्का लगा. पिर में झुग्गीबस्ती गया और वहां 3 हफ्ते रहा। वहां के तरीके, भाषा, रहन-सहन सीखा। इसके बाद में रामू के पास दोबारा गया। उस वक्त मेरी हालत वाकई झुग्गीबस्ती में रहने वालों की तरह थी। वॉचमैन ने मुझे अंदर जाने से रोक दिया। फिर में रामू के कैबिन में धक्का मारकर अंदर घुसा। मैंने चेयर खींची और उनकी टेबल पर अपने पैर रखे और उन्‍हें घूरते हुए देखा। 

विवेक ने बताया- मुझे इस हालत में देखकर रामू लगातार मुझे देख रहे थे। वह भी हैरान थे क्‍योंकि उन्‍हें उम्‍मीद नहीं थी कि ये सबकुछ इतनी जल्‍दी हो जाएगा। मैंने उनकी टेबल पर फोटोज फेंकी। उन्‍होंने फोटोज देखे और फिर मुझे देखते हुए कहा कि यह बेस्‍ट ऑडिशन है।

विवेक ने बताया- मुझे इस हालत में देखकर रामू लगातार मुझे देख रहे थे। वह भी हैरान थे क्‍योंकि उन्‍हें उम्‍मीद नहीं थी कि ये सबकुछ इतनी जल्‍दी हो जाएगा। मैंने उनकी टेबल पर फोटोज फेंकी। उन्‍होंने फोटोज देखे और फिर मुझे देखते हुए कहा कि यह बेस्‍ट ऑडिशन है।

बता दें कि विवेक अपनी प्रोफेशनल लाइफ के साथ ही पर्सनल लाइफ को लेकर भी काफी सुर्खियों में रहे हैं। वे उस वक्त और ज्यादा लाइमलाइट में आ गए थे जब उनका नाम ऐश्वर्या राय से जुड़ा था। सलमान से ब्रेकअप के बाद ऐश ने 2004 में आई फिल्म क्यों हो गया ना में विवेक के साथ काम किया। साथ काम करते-करते दोनों के बीच अफेयर की खबरें आने लगी।

बता दें कि विवेक अपनी प्रोफेशनल लाइफ के साथ ही पर्सनल लाइफ को लेकर भी काफी सुर्खियों में रहे हैं। वे उस वक्त और ज्यादा लाइमलाइट में आ गए थे जब उनका नाम ऐश्वर्या राय से जुड़ा था। सलमान से ब्रेकअप के बाद ऐश ने 2004 में आई फिल्म क्यों हो गया ना में विवेक के साथ काम किया। साथ काम करते-करते दोनों के बीच अफेयर की खबरें आने लगी।

विवेक ने एक बार नेशनल टीवी पर ऐश्वर्या के साथ अपने प्यार की बात कबूल की थी और ये सुनकर सलमान काफी भड़क गए थे। विवेक ने ऐश्वर्या के साथ अपनी रिलेशनशिप को लेकर करन जौहर के चैट में भी खुलासा किया था। जब करन ने उनसे पूछा था कि ऐश्वर्या राय हॉलीवुड या हिंदी फिल्म। इस पर उन्होंने जवाब दिया था ऐश्वर्या मेरी बाहों में है।

विवेक ने एक बार नेशनल टीवी पर ऐश्वर्या के साथ अपने प्यार की बात कबूल की थी और ये सुनकर सलमान काफी भड़क गए थे। विवेक ने ऐश्वर्या के साथ अपनी रिलेशनशिप को लेकर करन जौहर के चैट में भी खुलासा किया था। जब करन ने उनसे पूछा था कि ऐश्वर्या राय हॉलीवुड या हिंदी फिल्म। इस पर उन्होंने जवाब दिया था ऐश्वर्या मेरी बाहों में है।

आपको बता दें कि ब्रेकअप के बाद जब ऐश और विवेक करीब आए तो सलमान को बर्दाश्त नहीं हुआ। सलमान ने विवेक को फोन कर खूब गालियां दीं और जान से मारने की धमकी भी दी। इसी वजह से विवेक ने प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाई और सलमान की हरकतों के बारे में मीडिया को बताया। हालांकि, इसका नतीजा यह निकला कि ऐश्वर्या ने भी उन्हें अवॉयड करना शुरू कर दिया था।

आपको बता दें कि ब्रेकअप के बाद जब ऐश और विवेक करीब आए तो सलमान को बर्दाश्त नहीं हुआ। सलमान ने विवेक को फोन कर खूब गालियां दीं और जान से मारने की धमकी भी दी। इसी वजह से विवेक ने प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाई और सलमान की हरकतों के बारे में मीडिया को बताया। हालांकि, इसका नतीजा यह निकला कि ऐश्वर्या ने भी उन्हें अवॉयड करना शुरू कर दिया था।

1 अप्रैल 2003 को विवेक ने सलमान के खिलाफ एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी। इस दौरान विवेक ने बताया था कि 29 मार्च (2003) की रात 12:30 बजे से सुबह के 5 बजे तक सलमान ने उन्हें 41 बार फोन किया। उन्हें जान से मारने की धमकी और गालियां दी थी।

1 अप्रैल 2003 को विवेक ने सलमान के खिलाफ एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी। इस दौरान विवेक ने बताया था कि 29 मार्च (2003) की रात 12:30 बजे से सुबह के 5 बजे तक सलमान ने उन्हें 41 बार फोन किया। उन्हें जान से मारने की धमकी और गालियां दी थी।

विवेक ने एक टॉक शो में यह बात स्वीकार की थी कि उन्होंने सलमान के खिलाफ प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बहुत बड़ी गलती की थी। "जब मैं प्रेस कॉन्फ्रेंस करने बैठा था, तभी लग गया था कि मैं गलत कर रहा हूं। मुझे यह नहीं करना चाहिए बल्कि मर्दों की तरह सामने जाकर पूछना चाहिए था कि क्या प्रॉब्लम है। इस पूरे मामले के कुछ साल बाद विवेक ने एक अवॉर्ड शो में सबसे सामने हाथ जोड़कर सलमान से माफी मांगी थी लेकिन इसका कोई नतीजा नहीं निकला।

विवेक ने एक टॉक शो में यह बात स्वीकार की थी कि उन्होंने सलमान के खिलाफ प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बहुत बड़ी गलती की थी। "जब मैं प्रेस कॉन्फ्रेंस करने बैठा था, तभी लग गया था कि मैं गलत कर रहा हूं। मुझे यह नहीं करना चाहिए बल्कि मर्दों की तरह सामने जाकर पूछना चाहिए था कि क्या प्रॉब्लम है। इस पूरे मामले के कुछ साल बाद विवेक ने एक अवॉर्ड शो में सबसे सामने हाथ जोड़कर सलमान से माफी मांगी थी लेकिन इसका कोई नतीजा नहीं निकला।

हालांकि, विवेक अब शादीशुदा है। उन्होंने  प्रियंका अल्वा से 2010 में शादी की थी। कपल के 2 बच्चे हैं। बात वर्कफ्रंट की करें तो वे जल्द ही हॉरर थ्रिलर रोजी: द सैफरन चैप्टर में नजर आएंगे। विशाल रंजन मिश्रा द्वारा निर्देशित फिल्म रोजी नामक एक महिला के अचानक लापता होने की वास्तविक घटना पर आधारित है, जो एक बीपीओ कंपनी में काम करती थी। 
 

हालांकि, विवेक अब शादीशुदा है। उन्होंने  प्रियंका अल्वा से 2010 में शादी की थी। कपल के 2 बच्चे हैं। बात वर्कफ्रंट की करें तो वे जल्द ही हॉरर थ्रिलर रोजी: द सैफरन चैप्टर में नजर आएंगे। विशाल रंजन मिश्रा द्वारा निर्देशित फिल्म रोजी नामक एक महिला के अचानक लापता होने की वास्तविक घटना पर आधारित है, जो एक बीपीओ कंपनी में काम करती थी। 
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios