ये है इंसानों के कद का अनोखा बकरा,10 फीट ऊंचाई तक ले जाता है गर्दन..कीमत और वजन जान हो जाएंगे हैरान

First Published 1, Aug 2020, 5:41 PM

दुर्ग (छत्तीसगढ़). आज पूरे देश में ईद का त्यौहार मनाया जा रहा है। मुस्लिम समाज के लोग इस दिन बकरों की कुर्बानी देते हैं, इसलिए इसे बकरीद भी कहते हैं। हर साल अलग तरह के बकरे बाजार में आते हैं और अपनी खासियतों के चलते चर्चा में रहते हैं। लेकिन इस साल जो बकरा सुर्खियां बटोर रहा है वह बेहद खास तरह का है। जिसको देखने वालों की भीड़ लग जाती है। उसकी लंबाई इंसान की हाइट के बराबर यानी 8 फीट है और वजन भी 160 किलो है।  यह अपनी गर्दन को 10 फीट की ऊंचाई तक ले जा सकता है।

<p>दरअसल, यह बकरा तोतापारी व जमनापारी क्रास नस्ल का है, जिसे अहमद उर्फ लाल बहादुर नाम का शख्स पंजाब से खरीदकर छत्तीसगढ़ लाया हैं। बता दें कि अहमद ने इस बकरे को खरीदने के लिए 1.53 लाख रुपए की कीमत चुकाई है। इसके अलावा पंजाब से छत्तीसगढ़ लाने में 23 हजार का खर्च अलग से आया है।</p>

दरअसल, यह बकरा तोतापारी व जमनापारी क्रास नस्ल का है, जिसे अहमद उर्फ लाल बहादुर नाम का शख्स पंजाब से खरीदकर छत्तीसगढ़ लाया हैं। बता दें कि अहमद ने इस बकरे को खरीदने के लिए 1.53 लाख रुपए की कीमत चुकाई है। इसके अलावा पंजाब से छत्तीसगढ़ लाने में 23 हजार का खर्च अलग से आया है।

<p>अहमद ने बताया कि जैसे ही वह बकरे को लेकर अपने घर भिलाई गए तो वहां इसको देखने वालों की भीड़ लग गई। साथ ही इसे खरीदने वाले मुंह मांगे दाम देने लगे, लेकिन मैंने इसको बेंचने से इनकार कर दिया।<br />
 </p>

अहमद ने बताया कि जैसे ही वह बकरे को लेकर अपने घर भिलाई गए तो वहां इसको देखने वालों की भीड़ लग गई। साथ ही इसे खरीदने वाले मुंह मांगे दाम देने लगे, लेकिन मैंने इसको बेंचने से इनकार कर दिया।
 

<p>बता दें कि यह बकरा अपनी लंबाई और वजन के हिसाब से आहार लेता है। बकरे के मालिक अहमद ने बताया कि वह फलों का शौकीन हैं और ताजा सब्जियों को भी बड़े चाव से खाता है।</p>

बता दें कि यह बकरा अपनी लंबाई और वजन के हिसाब से आहार लेता है। बकरे के मालिक अहमद ने बताया कि वह फलों का शौकीन हैं और ताजा सब्जियों को भी बड़े चाव से खाता है।

<p><br />
इस बार कोरोना का कहर और लॉकडाउन के चलते प्रशासन की गाइडनलाइन के अनुसार बकरीद का त्योहार मनाया जा रहा है। जहां पर लोग बाजार ना जाकर ऑनलाइन ही बकरों को खरीद रहे हैं। लेकिन दर्ग जिले में यह बकरा अपने अनोखे कारण के चलते लोगों के लिए चर्चा का विषय बना हुआ है।<br />
 </p>


इस बार कोरोना का कहर और लॉकडाउन के चलते प्रशासन की गाइडनलाइन के अनुसार बकरीद का त्योहार मनाया जा रहा है। जहां पर लोग बाजार ना जाकर ऑनलाइन ही बकरों को खरीद रहे हैं। लेकिन दर्ग जिले में यह बकरा अपने अनोखे कारण के चलते लोगों के लिए चर्चा का विषय बना हुआ है।
 

<p>इस बकरे की कद-काठी और खासियत को देखने लोगों की भीड़ उमड़ रही है।</p>

इस बकरे की कद-काठी और खासियत को देखने लोगों की भीड़ उमड़ रही है।

loader