Asianet News Hindi

दिल दहला देने वाली घटना..रात को रामायण देख सोई थी फैमिली..सुबह खून से सने मिले पति-पत्नी बेटे के शव

First Published Apr 12, 2020, 6:44 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बलौदाबाजार (छत्तीसगढ़). पूरा देश कोरोना वायरस की दहशत में है। रोज कहीं ना कहीं से मौत की खबरे सामने आ रही हैं। इसी बीच छत्तीसगढ़ से एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। जहां कुछ अज्ञात हमलावरों ने एक पूरे परिवार को मौत के घाट उतार दिया। दरअसल, खौफनाक वारदात शनिवार देर रात बलौदाबाजार जिले में हुई। इस घटना की जानकारी पुलिस को रविवार सुबह मिली। पड़ोसियों ने बताया कि मृतक फैमिली रात को रामायण देखकर सोए थे। लेकिन सुबह उनकी लाशें मिली।

घटना बलौदाबाजार के पलारी थाना क्षेत्र के छेरकाडीह गांव की है। तीहरे हत्याकांड की सूचना मिलते ही बलौदाबाजार पुलिस अधीक्षक प्रशांत ठाकुर, पलारी पुलिस और फोरेंसिक एक्सपर्ट घटना स्थल पर पहुंच गए।

घटना बलौदाबाजार के पलारी थाना क्षेत्र के छेरकाडीह गांव की है। तीहरे हत्याकांड की सूचना मिलते ही बलौदाबाजार पुलिस अधीक्षक प्रशांत ठाकुर, पलारी पुलिस और फोरेंसिक एक्सपर्ट घटना स्थल पर पहुंच गए।

पुलिस ने मौके पर पहुंचकर युवक यशवंत साहू (47)  पत्नी महेश्वरी साहू (45) और बेटा देवेंद्र साहू (16)  के शव जब्त कर  पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया दिया है। हालांकि अभी तक हत्या का कारण स्पष्ट नहीं हो सका है, आरोपियों की तलाश जारी है।

पुलिस ने मौके पर पहुंचकर युवक यशवंत साहू (47) पत्नी महेश्वरी साहू (45) और बेटा देवेंद्र साहू (16) के शव जब्त कर पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया दिया है। हालांकि अभी तक हत्या का कारण स्पष्ट नहीं हो सका है, आरोपियों की तलाश जारी है।

पड़ोसियों ने पुलिस को बताया कि छेरकाडीह गांव के रहने वाले मृतक यशवंत साहू संयुक्त परिवार के साथ रहता था। जिसमें पति-पत्नी, बेटा-बेटी के अलावा यशवंत के माता-पिता और भाई शामिल थे। घटना वाली रात मृतक पत्नी और बेटे के साथ एक नीचे वाले कमरे में सोए थे। जबकि बाकी के लोग ऊपर वाले कमरों में सोए थे।

पड़ोसियों ने पुलिस को बताया कि छेरकाडीह गांव के रहने वाले मृतक यशवंत साहू संयुक्त परिवार के साथ रहता था। जिसमें पति-पत्नी, बेटा-बेटी के अलावा यशवंत के माता-पिता और भाई शामिल थे। घटना वाली रात मृतक पत्नी और बेटे के साथ एक नीचे वाले कमरे में सोए थे। जबकि बाकी के लोग ऊपर वाले कमरों में सोए थे।

यशवंत के पिता ने बताया कि वह सभी लोग रात 10 बजे तक साथ रामायण देख  रहे थे। इसके बाद हम लोग सोने के लिए चले गए। लेकिन, सुबह आकर देखा तो कमरे में तीनों की खून से लथपथ लाशें पड़ी थीं।

यशवंत के पिता ने बताया कि वह सभी लोग रात 10 बजे तक साथ रामायण देख रहे थे। इसके बाद हम लोग सोने के लिए चले गए। लेकिन, सुबह आकर देखा तो कमरे में तीनों की खून से लथपथ लाशें पड़ी थीं।

ऐसा ही एक खौफनाक मामला छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर में सामने आया। जहां दो व्यवसायी चचेरे भाइयों सौरभ अग्रवाल और सुनील अग्रवाल की हत्या कर दी। इसके बाद उनके शव को पड़ोसी ने अपने मकान में दफना दिए। पुलिस ने इस मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया है। जिसने पूछताछ जारी है। बता दें कि शुक्रवार शाम को दोनों भाई अपनी इनोवा कार से निकले थे, इसके बाद से उनका कुछ पता नहीं था।

ऐसा ही एक खौफनाक मामला छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर में सामने आया। जहां दो व्यवसायी चचेरे भाइयों सौरभ अग्रवाल और सुनील अग्रवाल की हत्या कर दी। इसके बाद उनके शव को पड़ोसी ने अपने मकान में दफना दिए। पुलिस ने इस मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया है। जिसने पूछताछ जारी है। बता दें कि शुक्रवार शाम को दोनों भाई अपनी इनोवा कार से निकले थे, इसके बाद से उनका कुछ पता नहीं था।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios