घर जाने के लिए खतरे में जिंदगी डाल रहे मजदूर, पिता ने बच्चे को ऐसे हवा में उछालकर ट्रक में फेंका

First Published 12, May 2020, 5:42 PM

लॉकडाउन के चलते लाखों मजदूरों के काम-धंधे बंद हो गए हैं। संकट के इस वक्त में उनके पास खाने के लिए भी कुछ नहीं बचा है। ऐसे हालातों में प्रवासी मजदूर अपनी जान खतरे में डाल पैदल और ट्रकों में बैठकर अपने घरों की ओर जा रहे हैं। ऐसी ही एक दिल दहला देने वाली तस्वीर छत्तीसगढ़ से सामने आई है, जहां एक पिता ने घर जाने की जल्दी में अपने मासूम बच्चे जिंदगी खतरे में डाल दी।
 

<p> यह तस्वीर सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही है। जहां यह मजदूर पिता महाराष्ट्र से पैदल चलकर आया था। लेकिन जब उसको रास्ते में ट्रक मिला तो वह आगे का सफर तय करना चाहता है। तस्वीर में आप साफ तौर पर देख सकते हैं कि एक शख्स ट्रक पर चढ़कर रस्सी के सहारे अपने बच्चे को एक हाथ से लटकाए हुए है। वह मासूम को चढ़ाने की कोशिश करता दिख रहा है। उसे घर जाने की इतनी जल्दी है कि उसको बच्चे के गिरने का भी डर नहीं लगा। बस वह किसी भी हाल में अपने घर पहुचना चाहता है, ऐसा खतरा मोल लेने के लिए वह किसी भी हद तक जाने को तैयार।</p>

 यह तस्वीर सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही है। जहां यह मजदूर पिता महाराष्ट्र से पैदल चलकर आया था। लेकिन जब उसको रास्ते में ट्रक मिला तो वह आगे का सफर तय करना चाहता है। तस्वीर में आप साफ तौर पर देख सकते हैं कि एक शख्स ट्रक पर चढ़कर रस्सी के सहारे अपने बच्चे को एक हाथ से लटकाए हुए है। वह मासूम को चढ़ाने की कोशिश करता दिख रहा है। उसे घर जाने की इतनी जल्दी है कि उसको बच्चे के गिरने का भी डर नहीं लगा। बस वह किसी भी हाल में अपने घर पहुचना चाहता है, ऐसा खतरा मोल लेने के लिए वह किसी भी हद तक जाने को तैयार।

<p> ऐसी एक तस्वीर मुंबई से उत्तर प्रदेश के लिए पैदल निकले प्रवासी मजदूरों की सामने आई है। जहां वह जब पैदल चलते-चलते थक गए तो  मुंबई-नासिक हाईवे पर एक ट्रक के नीचे आराम करने लगे।</p>

 ऐसी एक तस्वीर मुंबई से उत्तर प्रदेश के लिए पैदल निकले प्रवासी मजदूरों की सामने आई है। जहां वह जब पैदल चलते-चलते थक गए तो  मुंबई-नासिक हाईवे पर एक ट्रक के नीचे आराम करने लगे।

<p>यह तस्वीर झारखंड की है, जहां यह मजदूर विशाखापटनम और खडकपुर से पैदल चलकर घर आ रहे हैं। उनका कहना है कि गांव में नमक-रोटी खाएंगे लेकिन अब काम के लिए बाहर नही जाएंगे।</p>

यह तस्वीर झारखंड की है, जहां यह मजदूर विशाखापटनम और खडकपुर से पैदल चलकर घर आ रहे हैं। उनका कहना है कि गांव में नमक-रोटी खाएंगे लेकिन अब काम के लिए बाहर नही जाएंगे।

<p><br />
मजदूरों का यह मार्मिक दृश्य इंदौर राऊ स्थित टोल नाके का है, जहां रोज इस तरह वाहनों की लंबी कतार देखने को मिल रही है।</p>


मजदूरों का यह मार्मिक दृश्य इंदौर राऊ स्थित टोल नाके का है, जहां रोज इस तरह वाहनों की लंबी कतार देखने को मिल रही है।

<p><br />
इंदौर से सामने आई इस तस्वीर को देखकर आप समझ सकते हैं कि मजदूर कितनी भारी संख्या में पैदल चलकर अपने घर जा रहे हैं।  घर जाने के लिए इनके हौसले को धूप-गर्मी भी नहीं डिगा पा रही है।</p>


इंदौर से सामने आई इस तस्वीर को देखकर आप समझ सकते हैं कि मजदूर कितनी भारी संख्या में पैदल चलकर अपने घर जा रहे हैं।  घर जाने के लिए इनके हौसले को धूप-गर्मी भी नहीं डिगा पा रही है।

<p><br />
यह तस्वीर मुंबई के कल्याण की है। जहां इतनी संख्या में मजदूर घर जाने के लिए स्पेशल ट्रेन का इंतजार कर रहे हैं। जहां  सड़क पर बैठे मजदूरों को लोगों ने बिस्कुट भी बांटे।<br />
 </p>


यह तस्वीर मुंबई के कल्याण की है। जहां इतनी संख्या में मजदूर घर जाने के लिए स्पेशल ट्रेन का इंतजार कर रहे हैं। जहां  सड़क पर बैठे मजदूरों को लोगों ने बिस्कुट भी बांटे।
 

loader