Asianet News Hindi

गांववाले युवक को पीट रहे थे, पुलिसवाले पहुंचे, तो वे भी हाथ साफ करने लगे


छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले के गांव बोगर में 21 जुलाई को हुई थी घटना। चोरी करते पकड़ा गया था युवक। पुलिसवालों को भीड़ को काबू करने भेजा गया था।

Shocking case of Mob lynching in Kanker, Chhattisgarh
Author
Kanker, First Published Jul 24, 2019, 11:14 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

कांकेर, छग.  भानुप्रतापपुर थाने के दो पुलिसवालों ने एक युवक को भीड़ से बचाने के बजाय खुद सरेआम पीटना शुरू कर दिया। गांव बोगर में 21 जुलाई को हुई इस घटना का वीडियो जब वायरल हुआ, तो दोनों पुलिसवालों को सस्पेंड कर दिया गया है। 21 जुलाई की दोपहर गांव में बलीराम नरेटी नामक शख्स के सूने घर में चोरी करते युवक को पकड़ा गया था। गांववाले उसे पकड़कर चौराहे पर लाए। उसके हाथ बांधे और फिर सबने मिलकर पीटना शुरू कर दिया। चोर की पहचान बसंतनगर निवासी संजय पवार के रूप में हुई।

घटना की जानकारी लगने पर भानुप्रतापपुर थाने से ASI पलटुराम मंडावी और हेड कांस्टेबल लोकेश साहू को गांव भेजा गया। दोनों पुलिसवाले घटनास्थल पर पहुंचे। यहां पुलिसवालों ने गांववालों के साथ मिलकर चोर को पीटना शुरू कर दिया। किसी ने इस घटना का वीडियो बनाकर वायरल कर दिया।

"

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios