Asianet News Hindi

लॉकडाउन की ये शॉकिंग तस्वीरें कई पीढ़ियों तक याद रखी जाएंगी, जब ट्रकों में बच्चों को यूं ऊपर फेंका गया

First Published Jun 5, 2020, 12:14 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

रायपुर, छत्तीसगढ़. ऐसे दृश्य बेशक अब देखने को नहीं मिल रहे, लेकिन ये तस्वीरें कई पीढ़ियों तक लोगों के किस्सों में शामिल रहेंगी। लॉकडाउन में काम-काज बंद होने से भूखों मरने की नौबत आने पर अपने-अपने गावों की ओर भागते प्रवासी मजदूरों ने अपनी जिंदगी तक दांव पर लगा दी थी। ट्रकों पर लोग यूं सवार हुए, मानों वे कोई सामान हों। बच्चों को ऐसे लटकाकर ट्रकों पर फेंका गया, जैसे वो कोई खिलौना हों। उल्लेखनीय है कि पूरे देश में छत्तीसगढ़, बिहार, यूपी, झारखंड आदि राज्यों के सबसे ज्यादा मजदूर काम करते हैं। कोरोना संक्रमण के चलते जब 25 मार्च को लॉकडाउन की शुरुआत हुई थी, तब किसी ने नहीं सोचा था कि आगे जिंदगी और भी कठिन हो जाएगी। बता दें कि छत्तीसगढ़ में लाखों मजदूर वापस लौटे हैं। जबकि यहां संक्रमण की दर बहुत कम है। यहां अब तक 668 के आसपास ही संक्रमित मिले हैं। देश में यह आंकड़ा 2.27 लाख को पार कर चुका है। बता दें कि लॉकडाउन 4 चरणों में 68 दिन रहा यानी 30 जून तक रहा। अब सरकार ने लॉकडाउन 5.0 की गाइडलाइंस जारी की है। यानी अब तीन चरणों में लॉकडाउन खोलने का प्लान है। तस्वीरें में देखिए ट्रकों पर सवार जिंदगी की भागमभाग..

जरा-सी गलती मासूम की जिंदगी पर पड़ सकती थी भारी।

जरा-सी गलती मासूम की जिंदगी पर पड़ सकती थी भारी।

हाथों में लटकी मासूम की जिंदगी।

हाथों में लटकी मासूम की जिंदगी।

कैसे भी हो, लेकिन बच्चे को ऊपर चढ़ना मजबूरी थी।

कैसे भी हो, लेकिन बच्चे को ऊपर चढ़ना मजबूरी थी।

डरकर यहां-वहां देखते रहे बच्चे।

डरकर यहां-वहां देखते रहे बच्चे।

लॉकडाउन में सबसे ज्यादा फजीहत मासूमों की हुई।
 

लॉकडाउन में सबसे ज्यादा फजीहत मासूमों की हुई।
 

जब भीड़ में फंसकर रो पड़ा बच्चा।

जब भीड़ में फंसकर रो पड़ा बच्चा।

खींच लो ऊपर: इस तरह बच्चे को ट्रक में चढ़ाया।

खींच लो ऊपर: इस तरह बच्चे को ट्रक में चढ़ाया।

भीड़ देखकर बिलख पड़ा बच्चा।

भीड़ देखकर बिलख पड़ा बच्चा।

यह स्टंट नहीं, महिलाओं की मजबूरी थी।

यह स्टंट नहीं, महिलाओं की मजबूरी थी।

महिलाओं ने नहीं सोचा था कि उन्हें कभी ऐसा करना पड़ेगा।

महिलाओं ने नहीं सोचा था कि उन्हें कभी ऐसा करना पड़ेगा।

एक ट्रक में जानवरों की तरह सवारी।

एक ट्रक में जानवरों की तरह सवारी।

ट्रकों में किसी कैदी की तरह बैठना पड़ा।

ट्रकों में किसी कैदी की तरह बैठना पड़ा।

एक ट्रक पर ठसाठस बैठे लोग।

एक ट्रक पर ठसाठस बैठे लोग।

ट्रक पर चढ़ने की जद्दोजहद।

ट्रक पर चढ़ने की जद्दोजहद।

ट्रकों में कैदियों की तरह झांकते लोग।

ट्रकों में कैदियों की तरह झांकते लोग।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios