लॉकडाउन के बीच इस क्रिकेटर ने मनाई सालगिरह, खास अंदाज में पत्नी को किया विश

First Published 25, Mar 2020, 9:17 PM IST

नई दिल्ली. टीम इंडिया के पूर्व क्रिकेटर मोहम्मद कैफ ने पूरे देश में लॉकडाउन के बीच अपनी नौवीं सालगिरह मनाई। कैफ 25 मार्च 2011 के शादी के बंधन में बंधे थे। उनकी शादी को 9 साल पूरे हो चुके हैं। सालगिरह के मौके पर अपने घर में कैद कैफ ने अलग अंदाज में अपनी पत्नी को सालगिरह की बधाई दी। उन्होंने लिखा "इसके साथ 9 सालों से बंद हूं। हैप्पी एनवर्सरी पूजा। यह मेरी जिंदगी की सबसे बेहतर पार्टनरशिप रही है।" इसके साथ ही उन्होंने पत्नी के साथ अपनी फोटो भी शेयर की। कोरोना वायरस के चलते देश के कई हिस्सों में पिछले 2 हफ्तों से बंद जैसे हालात हैं। मंगलवार को ही प्रधानमंत्री ने पूरे देश को 14 अप्रैल तक के लिए लॉकडाउन कर दिया है। 
 

मोहम्मद कैफ ने पूजा यादव के साथ साल 2011 में 25 मार्च के दिन शादी की थी। पूजा पेशे से जर्नलिस्ट रह चुकी हैं।

मोहम्मद कैफ ने पूजा यादव के साथ साल 2011 में 25 मार्च के दिन शादी की थी। पूजा पेशे से जर्नलिस्ट रह चुकी हैं।

पूजा और कैफ की मुलाकात दिल्ली में ही एक करीबी दोस्त ने कराई थी और बाद में यह दोस्ती प्यार में बदल गई।

पूजा और कैफ की मुलाकात दिल्ली में ही एक करीबी दोस्त ने कराई थी और बाद में यह दोस्ती प्यार में बदल गई।

पूजा और मोहम्मद कैफ का एक बेटा भी है। जिसका नाम कबीर है।

पूजा और मोहम्मद कैफ का एक बेटा भी है। जिसका नाम कबीर है।

मोहम्मद कैफ और पूजा यादव ने शादी करने से पहले एक दूसरे को 4 साल तक डेट किया था।

मोहम्मद कैफ और पूजा यादव ने शादी करने से पहले एक दूसरे को 4 साल तक डेट किया था।

भारत के लिए 13 टेस्ट खेलने वाले कैफ ने 22 पारियों में कुल 624 रन बनाए हैं। इस दौरान उनका सर्वाधिक स्कोर 148 रन रहा है।

भारत के लिए 13 टेस्ट खेलने वाले कैफ ने 22 पारियों में कुल 624 रन बनाए हैं। इस दौरान उनका सर्वाधिक स्कोर 148 रन रहा है।

125 वनडे मैचों में उन्होंने 2753 रन बनाए हैं। उनका औसत 32.01 का और स्ट्राइक रेट 72.03 का रहा है।

125 वनडे मैचों में उन्होंने 2753 रन बनाए हैं। उनका औसत 32.01 का और स्ट्राइक रेट 72.03 का रहा है।

भारत के लिए खेलते हुए कैफ ने एक फिनिशर और अच्छे फील्डर के रूप में अपनी अच्छी पहचान बनाई थी।

भारत के लिए खेलते हुए कैफ ने एक फिनिशर और अच्छे फील्डर के रूप में अपनी अच्छी पहचान बनाई थी।

हालांकि कुछ समय बाद कैफ का प्रदर्शन औसत दर्जे का हो गया और उन्हें प्रदर्शन में निरंतरता की कमी के चलते टीम से बाहर कर दिया गया।

हालांकि कुछ समय बाद कैफ का प्रदर्शन औसत दर्जे का हो गया और उन्हें प्रदर्शन में निरंतरता की कमी के चलते टीम से बाहर कर दिया गया।

भारतीय टीम से बाहर होने के बाद उन्होंने उत्तर प्रदेश के लिए क्रिकेट खेलना शुरू किया और कई अहम मैचों में अपनी टीम को जीत दिलाई।

भारतीय टीम से बाहर होने के बाद उन्होंने उत्तर प्रदेश के लिए क्रिकेट खेलना शुरू किया और कई अहम मैचों में अपनी टीम को जीत दिलाई।

क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद कैफ ने कमेंट्री और कोचिंग में अपना ध्यान लगाया है।

क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद कैफ ने कमेंट्री और कोचिंग में अपना ध्यान लगाया है।

loader