कड़कनाथ मुर्गे का बिजनेस कर करोड़ों कमाना चाहते थे धोनी, अब उठाना पड़ रहा है भारी नुकसान

First Published Jan 13, 2021, 11:26 AM IST

स्पोर्ट्स डेस्क  : आजकल बर्ड फ्लू (Bird flu) के मामले काफी तेजी से बढ़ रहे हैं। पहले से ही कोरोना वायरस के खतरे में जी रहे लोगों के ऊपर अब बर्ड फ्लू का खतरा भी मंडरा रहा है। इसकी वजह से कई सारे पोल्ट्री फॉर्म के धंधे भी बुरी तरह से प्रभावित हो गए है। अब इस बर्ड फ्लू को लेकर महेंद्र सिंह धोनी भी सतर्क हो गए है। दरअसल, कुछ समय पहले ही उन्होंने रांची में अपने फॉर्म पर कड़कनाथ मुर्गों (Kadakanth Farming) का पालन शुरू किया था, लेकिन अब उन्होंने इस बिजनेस को आगे बढ़ाने पर ब्रेक लगा दिया है। दरअसल, धोनी के फॉर्म के लिए कड़कनाथ के चूचे मध्यप्रदेश से मंगवाए जा रहे थे, लेकिन बर्ड फ्लू को देखते हुए धोनी ने फिलहाल इसकी अगली खेप मंगवाने पर रोक लगा दी है।

<p>कोरोना के बाद बर्ड फ्लू ने भी कई लोगों के धंधे चौपट कर दिए है। खासकर उन लोगों को जो पोल्ट्री फॉर्म का बिजनेस करते हैं। हाल ही में मुर्गी पालन का काम शुरू करने वाले भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) को भी इससे नुकसान हुआ है।</p>

कोरोना के बाद बर्ड फ्लू ने भी कई लोगों के धंधे चौपट कर दिए है। खासकर उन लोगों को जो पोल्ट्री फॉर्म का बिजनेस करते हैं। हाल ही में मुर्गी पालन का काम शुरू करने वाले भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) को भी इससे नुकसान हुआ है।

<p>वैसे तो झारखंड में फिलहाल बर्ड फ्लू का एक भी मामला सामने नहीं आया है। लेकिन धोनी पहले से ही सतर्क हो गए हैं और फिलहाल चूजों की खेप मंगवाने पर पाबंदी लगा दी है।</p>

वैसे तो झारखंड में फिलहाल बर्ड फ्लू का एक भी मामला सामने नहीं आया है। लेकिन धोनी पहले से ही सतर्क हो गए हैं और फिलहाल चूजों की खेप मंगवाने पर पाबंदी लगा दी है।

<p>दरअसल, मध्यप्रदेश के किसानों को कड़कनाथ मुर्गों की खेप 10 जनवरी तक पूरी करनी थी, लेकिन बर्ड फ्लू के बढ़ते मामलों को देखते हुए इसे फिलहाल रोक दिया गया है।</p>

दरअसल, मध्यप्रदेश के किसानों को कड़कनाथ मुर्गों की खेप 10 जनवरी तक पूरी करनी थी, लेकिन बर्ड फ्लू के बढ़ते मामलों को देखते हुए इसे फिलहाल रोक दिया गया है।

<p>बता दें कि बर्ड फ्लू को एवियन इनफ्लूएंजा भी कहा जाता है। यह वायरस के कारण फैलता है। यह बीमारी पक्षियों और मुर्गियों में पाई जाती है। हालांकि, धोनी के कड़कनाथ मुर्गे फिलहाल पूरी तरह से सुरक्षित हैं।&nbsp;</p>

बता दें कि बर्ड फ्लू को एवियन इनफ्लूएंजा भी कहा जाता है। यह वायरस के कारण फैलता है। यह बीमारी पक्षियों और मुर्गियों में पाई जाती है। हालांकि, धोनी के कड़कनाथ मुर्गे फिलहाल पूरी तरह से सुरक्षित हैं। 

<p>भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी संन्यास के बाद से अपने नए बिजनेस खेती-खलियानी पर पूरा ध्यान दे रहे हैं। बता दें कि धोनी रांची में पोल्ट्री फार्म के साथ ऑर्गेनिक खेती का काम भी करते हैं। उनके फार्म हाउस पर टमाटर, फूल गोभी, पत्ता गोभी, ब्रोकली जैसी मौसमी सब्जियों की खेती होती है।&nbsp;</p>

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी संन्यास के बाद से अपने नए बिजनेस खेती-खलियानी पर पूरा ध्यान दे रहे हैं। बता दें कि धोनी रांची में पोल्ट्री फार्म के साथ ऑर्गेनिक खेती का काम भी करते हैं। उनके फार्म हाउस पर टमाटर, फूल गोभी, पत्ता गोभी, ब्रोकली जैसी मौसमी सब्जियों की खेती होती है। 

<p>वैसे कड़कनाथ का बिजनेस काफी फायदेमंद होता है। इसके अंड लेकर चिकन तक मार्केट में बहुत महंगा बिकता है। एक मुर्गी की कीमत कम से कम 3 से 4 हजार रुपए होती है।</p>

वैसे कड़कनाथ का बिजनेस काफी फायदेमंद होता है। इसके अंड लेकर चिकन तक मार्केट में बहुत महंगा बिकता है। एक मुर्गी की कीमत कम से कम 3 से 4 हजार रुपए होती है।

<p>कड़कनाथ की डिमांड ज्यादा और सप्लाई कम होने के चलते ही धोनी ने ये बिजनेस स्टार्ट किया था। इसके लिए उन्होंने पहले 2 हजार चूजों का ऑर्डर भी दे दिया था।</p>

कड़कनाथ की डिमांड ज्यादा और सप्लाई कम होने के चलते ही धोनी ने ये बिजनेस स्टार्ट किया था। इसके लिए उन्होंने पहले 2 हजार चूजों का ऑर्डर भी दे दिया था।

<p>बता दें कि कड़कनाथ मुर्गी के अंडे में प्रोटीन ज्यादा होता है। कम कोलेस्ट्रॉल होने के चलते हॉर्ट पेशेंट के लिए ये बहुत फायदेमंद होता है। डायबिटीज रोगियों के लिए यह चिकन हेल्दी माना जाता है।</p>

बता दें कि कड़कनाथ मुर्गी के अंडे में प्रोटीन ज्यादा होता है। कम कोलेस्ट्रॉल होने के चलते हॉर्ट पेशेंट के लिए ये बहुत फायदेमंद होता है। डायबिटीज रोगियों के लिए यह चिकन हेल्दी माना जाता है।

<p>पोल्ट्री फार्मिंग के अलावा धोनी के खेत में कुछ दिन पहले स्ट्राबेरी भी आई है। जिसका वीडियो उन्होंने अपने इंस्टाग्राम पर भी शेयर किया था, वीडियो में वह स्ट्रॉबेरी के पौधों के पास खड़े हैं और पौधे से स्ट्रॉबेरी तोड़ते है और खा लेते हैं।</p>

पोल्ट्री फार्मिंग के अलावा धोनी के खेत में कुछ दिन पहले स्ट्राबेरी भी आई है। जिसका वीडियो उन्होंने अपने इंस्टाग्राम पर भी शेयर किया था, वीडियो में वह स्ट्रॉबेरी के पौधों के पास खड़े हैं और पौधे से स्ट्रॉबेरी तोड़ते है और खा लेते हैं।

Today's Poll

आप कितने खिलाड़ियों के साथ ऑनलाइन गेम खेलना पसंद करते हैं?