Asianet News Hindi

पिता को याद कर भावुक हुआ ये खिलाड़ी, छोटे भाई ने इस तरह दिया सहारा

First Published Mar 23, 2021, 3:16 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

स्पोर्ट्स डेस्क : भारत और इंग्लैंड के बीच 3 मैचों की वनडे इंटरनेशनल सीरीज का पहला मैच (India vs England 1st ODI) पुणे के महाराष्ट्र क्रिकेट एसोसिएशन स्टेडियम में खेला जा रहा है। इस मैच में भारत पहले बल्लेबाजी करने उतरा। भारत की ओर से क्रुणाल पंड्या (Krunal Pandya) और प्रसिद्ध कृष्‍णा को डेब्‍यू का मौका दिया है। मैच से पहले दोनों को डेब्यू कैप देकर सम्मानित किया गया। इस दौरान क्रुणाल अपने इमोशन कंट्रोल नहीं कर पाए और पिता को याद कर भावुक हो गए। उनके भाई और भारतीय टीम के ऑलराउंडर हार्दिक ने उन्हें गले लगाकर संभाला। 

इस साल जनवरी में हार्दिक पंड्या और क्रुणाल पंड्या (Krunal Pandya and Hardik Pandya) के पिता का निधन हो गया था। दोनों भाइयों के लिए इस दुख से निकल पाना बहुत मुश्किल रहा। 

इस साल जनवरी में हार्दिक पंड्या और क्रुणाल पंड्या (Krunal Pandya and Hardik Pandya) के पिता का निधन हो गया था। दोनों भाइयों के लिए इस दुख से निकल पाना बहुत मुश्किल रहा। 

ऐसे में जब क्रुणाल को भारतीय टीम के लिए वनडे में डेब्यू करने का मौका मिला तो, उन्होंने अपनी कामयाबी का श्रेय अपने पिता को दिया। मैच से पहले उनके भाई हार्दिक पांड्या ने उन्हें डेब्‍यू कैप सौंपी। कैप हासिल करते ही क्रुणाल भावुक हो गए।

ऐसे में जब क्रुणाल को भारतीय टीम के लिए वनडे में डेब्यू करने का मौका मिला तो, उन्होंने अपनी कामयाबी का श्रेय अपने पिता को दिया। मैच से पहले उनके भाई हार्दिक पांड्या ने उन्हें डेब्‍यू कैप सौंपी। कैप हासिल करते ही क्रुणाल भावुक हो गए।

बड़े भाई को संभालते हुए हार्दिक की ये फोटो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही है। वहीं, दोनों भाइयों को साथ में खेलता देखने लिए फैंस काफी एक्साइटेड है। 

बड़े भाई को संभालते हुए हार्दिक की ये फोटो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही है। वहीं, दोनों भाइयों को साथ में खेलता देखने लिए फैंस काफी एक्साइटेड है। 

बता दें कि दोनों के पिता हिमांशु पंड्या हमेशा से ही अपने बच्चों को एक सफल क्रिकेटर बनाना चाहते थे, इसलिए फाइनेंस सेक्टर में नौकरी जाने के बाद भी वह पैसे बचा-बचाकर हार्दिक और क्रुणाल को क्रिकेट की कोचिंग दिलवाने ले जाते थे।

बता दें कि दोनों के पिता हिमांशु पंड्या हमेशा से ही अपने बच्चों को एक सफल क्रिकेटर बनाना चाहते थे, इसलिए फाइनेंस सेक्टर में नौकरी जाने के बाद भी वह पैसे बचा-बचाकर हार्दिक और क्रुणाल को क्रिकेट की कोचिंग दिलवाने ले जाते थे।

घर आर्थिक स्थिति खराब होने के चलते दोनों भाइयों का क्रिकेटर बनने का सपना इतनी आसानी से पूरा नहीं हुआ, लेकिन आज दोनों ने पिता का सपना पूरा कर उनका नाम रोशन किया है।

घर आर्थिक स्थिति खराब होने के चलते दोनों भाइयों का क्रिकेटर बनने का सपना इतनी आसानी से पूरा नहीं हुआ, लेकिन आज दोनों ने पिता का सपना पूरा कर उनका नाम रोशन किया है।

क्रुणाल पंड्या ने हाल ही में बड़ौदा के लिए विजय हजारे ट्रॉफी में सबसे ज्यादा रन बनाए, उन्होंने 5 मैच में 388 रन अपने नाम किए। साथ ही पांच विकेट भी चटकाए। इसके साथ ही क्रुणाल ने अब तक 18 टी20 इंटरनेशनल मैच खेले, जिसमें 121 रन बनाए और 14 विकेट चटकाए हैं।

क्रुणाल पंड्या ने हाल ही में बड़ौदा के लिए विजय हजारे ट्रॉफी में सबसे ज्यादा रन बनाए, उन्होंने 5 मैच में 388 रन अपने नाम किए। साथ ही पांच विकेट भी चटकाए। इसके साथ ही क्रुणाल ने अब तक 18 टी20 इंटरनेशनल मैच खेले, जिसमें 121 रन बनाए और 14 विकेट चटकाए हैं।

दूसरी ओर तेज गेंदबाज के रूप में प्रिसिध कृष्णा (Prasidh Krishna) को भी टीम में रखा गया है। उन्होंने विजय हजारे ट्रॉफी में कर्नाटक की ओर से खेलते हुए 7 मैच में 14 विकेट लिए थे।

दूसरी ओर तेज गेंदबाज के रूप में प्रिसिध कृष्णा (Prasidh Krishna) को भी टीम में रखा गया है। उन्होंने विजय हजारे ट्रॉफी में कर्नाटक की ओर से खेलते हुए 7 मैच में 14 विकेट लिए थे।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios