Asianet News Hindi

कोरोना के आगे बेबस ईरान में फंस गया इस क्रिकेटर का पिता, बेटे ने PM मोदी से लगाई हेल्प की गुहार

First Published Apr 2, 2020, 12:20 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. कोरोना वायरस ने दुनियाभर में कहर मचा रखा है। अमेरिका से लेकर चीन तक दुनिया की सभी बड़ी अर्थव्यवस्थाएं भी इसकी चपेट में हैं और कई बड़े देशों को पूरी तरह से लॉकडाउन किया जा चुका है। भारत में कोरोना के मामले 2 हजार के पार जा चुके हैं और 14 अप्रैल तक के लिए पूरे देश को लॉकडाउन कर दिया गया है। भारत सरकार दूसरे देशों में फंसे अपने नागरिकों को भी उनके घर वापस लाने का काम कर रही है। कई देशों से भारतीय नागरिक वापस भी लौटे हैं, पर मध्यप्रदेश के एक क्रिकेटर के पिता अभी भी ईरान में फंसे हुए हैं। इस क्रिकेटर का नाम है आनंद राजन। आनंद राजन मध्यप्रदेश के लिए और IPL में भी सनराइजर्स हैदराबाद के लिए खेले हैं, पर उनके पिता को लाने के लिए सरकार ने अभी तक प्रयास नहीं किया है, जबकि ईरान में इस महामारी से 2800 लोगों की मौत हो चुकी है। 

आनंद राजन ने मध्यप्रदेश के लिए रणजी क्रिकेट में अपना योगदान दिया है और IPL में भी उन्होंने सनराइजर्स हैदराबाद के लिए क्रिकेट खेला है।

आनंद राजन ने मध्यप्रदेश के लिए रणजी क्रिकेट में अपना योगदान दिया है और IPL में भी उन्होंने सनराइजर्स हैदराबाद के लिए क्रिकेट खेला है।

आनंद राजन ने साल 2011 में अपना पहला IPL मैच खेला था।

आनंद राजन ने साल 2011 में अपना पहला IPL मैच खेला था।

IPL के 8 मैचों में आनंद ने 8 विकेट अपने नाम किए हैं। गेल जैसे दिग्गजों का विकेट भी शामिल है।

IPL के 8 मैचों में आनंद ने 8 विकेट अपने नाम किए हैं। गेल जैसे दिग्गजों का विकेट भी शामिल है।

अपने पहले मैच में आनंद ने मुंबई के खिलाफ 3 विकेट झटके थे। इसमें सचिन तेंदुलकर और पोलार्ड जैसे बल्लेबाजों के विकेट भी शामिल हैं।

अपने पहले मैच में आनंद ने मुंबई के खिलाफ 3 विकेट झटके थे। इसमें सचिन तेंदुलकर और पोलार्ड जैसे बल्लेबाजों के विकेट भी शामिल हैं।

आनंद ने अपना आखिरी IPL मैच साल 2013 में खेला था। इसके बाद किसी भी टीम ने उन्हें अपने साथ जोड़ने में रुचि नहीं दिखाई।

आनंद ने अपना आखिरी IPL मैच साल 2013 में खेला था। इसके बाद किसी भी टीम ने उन्हें अपने साथ जोड़ने में रुचि नहीं दिखाई।

आनंद दाएं हाथ से तेज गेंदबाजी करते हैं। उन्होंने मध्यप्रदेश के लिए 40 फर्स्ट क्लास मैच और 20 लिस्ट ए मैच खेले हैं।

आनंद दाएं हाथ से तेज गेंदबाजी करते हैं। उन्होंने मध्यप्रदेश के लिए 40 फर्स्ट क्लास मैच और 20 लिस्ट ए मैच खेले हैं।

आनंद लगातार ट्विटर पर अपने पिता के लिए मदद की गुहार लगा रहे हैं, पर अभी तक इस मामले पर सरकार ने कोई कार्रवाई नहीं की है।

आनंद लगातार ट्विटर पर अपने पिता के लिए मदद की गुहार लगा रहे हैं, पर अभी तक इस मामले पर सरकार ने कोई कार्रवाई नहीं की है।

उन्होंने इससे पहले भी ट्विटर के जरिए विदेश मंत्रालय से इस मामले में बात की थी, पर जवाब में उन्हें सिर्फ आश्वासन ही मिला।

उन्होंने इससे पहले भी ट्विटर के जरिए विदेश मंत्रालय से इस मामले में बात की थी, पर जवाब में उन्हें सिर्फ आश्वासन ही मिला।

टीम इंडिया के पूर्व तेज गेंदबाज आर पी सिंह ने भी उनकी मदद करते हुए यह खबर ट्वीट की थी, जिसके बाद विदेश मंत्रालय ने इस मामले को संज्ञान में लिया था।

टीम इंडिया के पूर्व तेज गेंदबाज आर पी सिंह ने भी उनकी मदद करते हुए यह खबर ट्वीट की थी, जिसके बाद विदेश मंत्रालय ने इस मामले को संज्ञान में लिया था।

आनंद अपने पिता को वापस लाने के लिए लगातार ट्वीट कर रहे हैं और मदद की अपील कर रहे हैं, पर उनकी मांग अभी तक पूरी नहीं हुई है।

आनंद अपने पिता को वापस लाने के लिए लगातार ट्वीट कर रहे हैं और मदद की अपील कर रहे हैं, पर उनकी मांग अभी तक पूरी नहीं हुई है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios