कोरोना आपदा में पसीजा धोनी का दिल...800 करोड़ कमाई वाले इस खिलाड़ी ने दान किए सिर्फ 1 लाख

First Published 27, Mar 2020, 1:34 PM

मुंबई. भारत में जानलेवा कोरोना वायरस (COVID-19) के कारण लॉक डाउन चल रहा है। देश में लोगों की जानें जा रही हैं। इस घातक वायरस से देश में अब तक 17 मौत हो चुकी हैं। देश में स्वास्थ्य़ सुविधाओं की कमी न और ये वायरस देश में महामारी न फैला दें इसलिए बड़े-बड़े स्टार्स राहत कोष में रूपया दान कर रहे हैं। इस बीच भारतीय क्रिकेटर और सभी के चहेते खिलाड़ी महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) ने भी कोरोना आपदा में दान किया है। पर धोनी की दान की गई धनराशि पर लोग भड़क गए हैं। देश में इतनी बड़ी आपदा देख लोग धोनी की दरियादिली पर सवाल उठा रहे हैं। 

दुनिया भर में कोराना वायरस से 23 ​हजार से ज्यादा लोग अपनी जान गंवा बैठे हैं। भारत में इस महामारी से संक्रमित लोगों की संख्या 600 के पार पहुंच गई है। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर और दिग्गज विकेटकीपर धोनी ने पीड़ितों की मदद के लिए हाथ बढ़ाया है।

दुनिया भर में कोराना वायरस से 23 ​हजार से ज्यादा लोग अपनी जान गंवा बैठे हैं। भारत में इस महामारी से संक्रमित लोगों की संख्या 600 के पार पहुंच गई है। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर और दिग्गज विकेटकीपर धोनी ने पीड़ितों की मदद के लिए हाथ बढ़ाया है।

कोरोना के चलते देश में कर्फ्यू लगा है और सब कुछ ठप्प है। इसका सीधा असर दिहाड़ी मजदूरों और उनके परिवारों पर पड़ रहा है। ऐसे में महेंद्र सिंह धोनी  ने पुणे के दिहाड़ी मजदूरों के लिए एक लाख रुपये दान किए है। धोनी की इस आर्थिक मदद को लेकर उनके फैंस सोशल मीडिया पर जमकर नाराजगी जता रहे हैं।

कोरोना के चलते देश में कर्फ्यू लगा है और सब कुछ ठप्प है। इसका सीधा असर दिहाड़ी मजदूरों और उनके परिवारों पर पड़ रहा है। ऐसे में महेंद्र सिंह धोनी ने पुणे के दिहाड़ी मजदूरों के लिए एक लाख रुपये दान किए है। धोनी की इस आर्थिक मदद को लेकर उनके फैंस सोशल मीडिया पर जमकर नाराजगी जता रहे हैं।

फैंस ने कहा है कि सालाना 800 करोड़ रुपये कमाने वाले धोनी धोनी का सिर्फ एक लाख रुपये की मदद करना दुखद है। लोगों ने 12वीं कक्षा के ढाई लाख दान करने की बात से भी तुलना की।

फैंस ने कहा है कि सालाना 800 करोड़ रुपये कमाने वाले धोनी धोनी का सिर्फ एक लाख रुपये की मदद करना दुखद है। लोगों ने 12वीं कक्षा के ढाई लाख दान करने की बात से भी तुलना की।

महेंद्र सिंह धोनी ने क्राउड फंडिंग वेबसाइट के जरिये मुकुल माधव फाउंडेशन पब्लिक चैरिटेबल ट्रस्ट को ये राशि दान दी है। इस राशि का इस्तेमाल ​पुणे के दिहाड़ी मजदूरों के परिवारों को राशन का सामान मुहैया कराने में किया जाएगा।

महेंद्र सिंह धोनी ने क्राउड फंडिंग वेबसाइट के जरिये मुकुल माधव फाउंडेशन पब्लिक चैरिटेबल ट्रस्ट को ये राशि दान दी है। इस राशि का इस्तेमाल ​पुणे के दिहाड़ी मजदूरों के परिवारों को राशन का सामान मुहैया कराने में किया जाएगा।

धोनी की पत्नी साक्षी ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर इसका लिंक शेयर किया है। धोनी के पहल करने के बाद कई और लोग मदद के लिए आगे आए हैं जिसके बाद मजदूरों की मदद के लिए 12 लाख रुपये जुटा लिए गए।

धोनी की पत्नी साक्षी ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर इसका लिंक शेयर किया है। धोनी के पहल करने के बाद कई और लोग मदद के लिए आगे आए हैं जिसके बाद मजदूरों की मदद के लिए 12 लाख रुपये जुटा लिए गए।

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सचिन तेंदुलकर भी कोरोना वायरस पीड़ितों की मदद के लिए आगे आए। उन्होंने कुल 50 लाख रुपये का दान दिया है। इनमें से 25 लाख रुपये उन्होंने महाराष्ट्र के लिए मुख्यमंत्री राहत कोष में दिए हैं, वहीं 25 लाख रुपये प्रधानमंत्री राहत कोष में दिए हैं। बता दें कि सौरव गांगुली, इरफान और यूसुफ पठान भी जरूरतमंदों को मास्क बांट चुके हैं।

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सचिन तेंदुलकर भी कोरोना वायरस पीड़ितों की मदद के लिए आगे आए। उन्होंने कुल 50 लाख रुपये का दान दिया है। इनमें से 25 लाख रुपये उन्होंने महाराष्ट्र के लिए मुख्यमंत्री राहत कोष में दिए हैं, वहीं 25 लाख रुपये प्रधानमंत्री राहत कोष में दिए हैं। बता दें कि सौरव गांगुली, इरफान और यूसुफ पठान भी जरूरतमंदों को मास्क बांट चुके हैं।

loader