110

राज्य के मौजूदा मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को भाजपा ने इस बार भी सीएम पद का उम्मीदवार घोषित किया है। वे सराज विधानसभा सीट से मैदान में थे। वे लगातार छठीं बार चुनाव जीते हैं। जयराम ठाकुर को कुल 52 हजार 76 हजार वोट मिले, जबकि कांग्रेस प्रत्याशी चेतराम को 15 हजार 69 वोटों से संतोष करना पड़ा। 

Subscribe to get breaking news alerts

210

राज्य सरकार में मंत्री रहे बिक्रम सिंह को भारतीय जनता पार्टी ने इस बार जसवन-प्रागपुर विधानसभा सीट से टिकट दिया था। बिक्रम सिंह को कुल 22 हजार 189 वोट मिले, जबकि कांग्रेस प्रत्याशी सुरेंद्र सिंह मनकोटिया को 20 हजार 318 वोट मिले। 

310

कांग्रेस के कद्दावर नेता और राज्य में 8 बार विधायक रहे कौल सिंह ठाकुर ने 9वीं बार विधायक बनने के लिए दरंग विधानसभा सीट चुनी थी। दरंग सिंह चुनाव हार गए हैं। उन्हें 34 हजार 856 वोट मिले, जबकि भाजपा प्रत्याशी पूरन चंद को 35 हजार 843 वोट मिले। 

410

कद्दावर कांग्रेस नेता और मौजूदा विधानसभा में विपक्ष के नेता मुकेश अग्निहोत्री को पार्टी ने हरोली विधानसभा सीट से मैदान उतारा था। मुकेश अग्निहोत्री चुनाव जीत गए हैं। उन्हें 37 हजार 560 वोट मिले, जबकि भाजपा प्रत्याशी राम कुमार को 28 हजार 875 वोट मिले। 

510

हिमाचल प्रदेश की मौजूदा भाजपा सरकार में मंत्री रहे राजीव सैजल को इस बार पार्टी ने कसौली विधानसभा सीट से मैदान में उतारा है। राजीव चुनाव हार गए हैं। उन्हें 20 हजार 930 वोट मिले, जबकि कांग्रेस प्रत्याशी विनोद सुल्तानपुरी को 27 हजार 377 वोट मिले।

610

राज्य में मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ रहे राकेश सिंघा ने थेओग विधानसभा सीट से किस्मत आजमाई थी। राकेश चुनाव हार गए हैं। उन्हें 12 हजार 3 वोट मिले, जबकि कांग्रेस प्रत्याशी कुलदीप सिंह को 18 हजार 709 वोट मिले। 

710

राज्य की भाजपा सरकार में मंत्री रही सरवीन चौधरी को पार्टी ने इस बार शाहपुर विधानसभा सीट से टिकट दिया था। सरवीन चुनाव हार गई हैं। उन्हें 23 हजार 931 वोट मिले, जबकि कांग्रेस प्रत्याशी केवल सिंह को 35 हजार 862 वोट मिले। 

810

राज्य में कांग्रेस के कद्दावर नेता सुखविंद्र सिंह सुक्खु को पार्टी ने नादौन विधानसभा सीट से मैदान में उतारा था। सुखविंद्र सिंह चुनाव जीत गए है। उन्हें 34 हजार 545 वोट मिले, जबकि भाजपा के विजय कुमार को 31 हजार 389 वोट मिले। 

910

राज्य सरकार में मंत्री और कद्दावर भाजपा नेता सुरेश भारद्वाज को पार्टी ने इस बार कसुंप्टी विधानसभा सीट से टिकट दिया था। सुरेश भारद्वाज चुनाव हार गए हैं। उन्हें 16 हजार 820 वोट मिले, जबकि कांग्रेस के अनिरुद्ध सिंह को 25 हजार 759 वोट मिले। 

 

1010

पूर्व सीएम और कांग्रेस नेता रहे दिवंगत वीरभद्र सिंह के बेटे विक्रमादित्य सिंह को पार्टी ने इस बार शिमला ग्रामीण विधानसभा सीट से टिकट दिया है। विक्रमादित्य चुनाव जीत गए हैं। उन्हें 32 हजार 973 वोट मिले, जबकि भाजपा के रवि कुमार मेहता को 19 हजार 654 वोट मिले।