Asianet News Hindi

Farmers Day: क्या आप भी फेंक देते हैं सब्जियों के डंठल-छिलके? फेंकने की जगह बना सकते हैं लाजवाब सब्जियां

First Published Dec 23, 2020, 9:56 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

फ़ूड डेस्क: 23 दिसंबर को किसान दिवस के तौर पर मनाया जाता है। लोगों को अनाज खिलाने वाले किसान ही भूखों मरने को मजबूर हो रहे हैं। ऐसे में जरुरी है, उनकी जरूरतों पर ध्यान देने की। इस बीच आज के समय में दुनिया के ऐसे कई देश हैं, जो खाने की किल्लत से जूझ रहे हैं। जहां कुछ लोग खाने की कमी से मौत तक का मुंह देख लेते हैं, वहीँ कई लोग खाने की बर्बादी करने से पीछे नहीं हटते। इस बीच आज हम आपको खाने की बर्बादी रोकने का वो तरीका बताने जा रहे हैं, जिसके बारे में ज्यादातर लोग सोचते तक नहीं हैं। आज हम आपको सब्जियों और उसके छिलकों से लाजवाब चीजें बनाना सिखाएंगे। इसके बाद खाने की बर्बादी को कुछ हद तक कम किया जा सकता है। 
 

तुरई के छिलके: हरी सब्जियों में आधे से ज्यादा पोषक गुण उसके छिलकों में होता है। लेकिन लोग इसे फेंक देते हैं। बात अगर तुरई के छिलके की करें, तो इसमें तेल और लहसून का तड़का लगाकर बेहतरीन सब्जी बनाई जा सकती है। इतना ही नहीं, इससे काफी टेस्टी चटनी भी बनाई जा सकती है।  

तुरई के छिलके: हरी सब्जियों में आधे से ज्यादा पोषक गुण उसके छिलकों में होता है। लेकिन लोग इसे फेंक देते हैं। बात अगर तुरई के छिलके की करें, तो इसमें तेल और लहसून का तड़का लगाकर बेहतरीन सब्जी बनाई जा सकती है। इतना ही नहीं, इससे काफी टेस्टी चटनी भी बनाई जा सकती है।  

गाजर का छिलका: वैसे तो कोशिश करनी चाहिए कि गाजर का प्रयोग छिलके सहित करना चाहिए। लेकिन अगर किसी कारण से आप इसका यूज छिलका उतार कर रहे हैं, तो इसके छिलके को फेंके नहीं। ये फाइबर और बीटा-कैरोटीन में रिच होते हैं। इससे आप सूप, सलाद, जूस और स्मूदी बना सकते हैं।  

गाजर का छिलका: वैसे तो कोशिश करनी चाहिए कि गाजर का प्रयोग छिलके सहित करना चाहिए। लेकिन अगर किसी कारण से आप इसका यूज छिलका उतार कर रहे हैं, तो इसके छिलके को फेंके नहीं। ये फाइबर और बीटा-कैरोटीन में रिच होते हैं। इससे आप सूप, सलाद, जूस और स्मूदी बना सकते हैं।  

आलू का छिलका: भारत में ज्यादातर घरों में लोग आलू के छिलके को उतार कर फेंक देते हैं। लेकिन आपको बता दें कि आलू के छिलके में  प्रचुर मात्रा में पोटैशियम पाया जाता है। अगर आपको अपना बीपी कंट्रोल  करना है तो आलू के छिलके काफी मदद करते हैं। आप आलू के छिलके में तेल, नमक और मसाला बनाकर इसे बेक कर स्नैक के तौर पर खा सकते हैं। 
 

आलू का छिलका: भारत में ज्यादातर घरों में लोग आलू के छिलके को उतार कर फेंक देते हैं। लेकिन आपको बता दें कि आलू के छिलके में  प्रचुर मात्रा में पोटैशियम पाया जाता है। अगर आपको अपना बीपी कंट्रोल  करना है तो आलू के छिलके काफी मदद करते हैं। आप आलू के छिलके में तेल, नमक और मसाला बनाकर इसे बेक कर स्नैक के तौर पर खा सकते हैं। 
 

चुकंदर का डंठल: चुकंदर के फायदे तो सभी जानते हैं लेकिन इसके डंठल भी कम पौष्टिक नहीं है। इसे आप ग्राइंड कर इससे सूप  तैयार कर सकते हैं। 

चुकंदर का डंठल: चुकंदर के फायदे तो सभी जानते हैं लेकिन इसके डंठल भी कम पौष्टिक नहीं है। इसे आप ग्राइंड कर इससे सूप  तैयार कर सकते हैं। 

ब्रोकली के डंठल: ब्रोकली को फायदेमंद होते ही है, लेकिन लोग इसके डंठल फेंक देते हैं। जबकि ऐसा नहीं करना चाहिए। ब्रोकली के डंठल को आप हलके तेल में रोस्ट कर उससे सलाद, सूप या फ्राइज के तौर पर इस्तेमाल कर सकते हैं।  

ब्रोकली के डंठल: ब्रोकली को फायदेमंद होते ही है, लेकिन लोग इसके डंठल फेंक देते हैं। जबकि ऐसा नहीं करना चाहिए। ब्रोकली के डंठल को आप हलके तेल में रोस्ट कर उससे सलाद, सूप या फ्राइज के तौर पर इस्तेमाल कर सकते हैं।  

खट्टे फलों के छिलके: खट्टे फल विटामिन सी से भरे होते हैं। इनके छिलके को फेंकने की जगह इसका प्रयोग मैरिनेड, अचार या सलाद की ड्रेसिंग के तौर पर किया जा सकता है। अगर इनके छिलकों को पोटली में बांधकर चावल बनाते हुए डाला जाए, तो राइस का स्वाद काफी बढ़ जाता है। 

खट्टे फलों के छिलके: खट्टे फल विटामिन सी से भरे होते हैं। इनके छिलके को फेंकने की जगह इसका प्रयोग मैरिनेड, अचार या सलाद की ड्रेसिंग के तौर पर किया जा सकता है। अगर इनके छिलकों को पोटली में बांधकर चावल बनाते हुए डाला जाए, तो राइस का स्वाद काफी बढ़ जाता है। 

तरबूज के छिलके: ज्यादातर लोग तरबूज खाने के बाद उसके छिलके को फेंक देते हैं। लेकिन तरबूज का छिलका काफी फायदेमंद होता है। इसमें काफी मात्रा में विटामिन सी मौजूद होता है। अगर इसके छिलके को काटकर इसमें चीनी, एपल साइडर विनेगर और मसाले मिला दिए जाए, तो छिलके से टेस्टी अचार बनाया जा सकता है। साथ ही इसके छिलके से टूटी-फ्रूटी बनाया जा सकता है।  
 

तरबूज के छिलके: ज्यादातर लोग तरबूज खाने के बाद उसके छिलके को फेंक देते हैं। लेकिन तरबूज का छिलका काफी फायदेमंद होता है। इसमें काफी मात्रा में विटामिन सी मौजूद होता है। अगर इसके छिलके को काटकर इसमें चीनी, एपल साइडर विनेगर और मसाले मिला दिए जाए, तो छिलके से टेस्टी अचार बनाया जा सकता है। साथ ही इसके छिलके से टूटी-फ्रूटी बनाया जा सकता है।  
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios