Asianet News Hindi

गेहूं नहीं, इन 6 आटों से बनाएं सुपर हेल्दी रोटी, 7वें दिन वजन में दिखने लगेगा फर्क

First Published Jun 3, 2021, 1:41 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

फूड डेस्क : रोटी, चपाती (Chapati) या फुलका (Phulka)के बिना कोई भी इंडियन खाना पूरा नहीं होता। लेकिन वेट लॉस करने के गेहूं के आटे की रोटी खाने को मना कर दिया जाता है, क्योंकि इसमें ग्लूटेन की मात्रा 12 से 13 प्रतिशत तक होती है। वहीं, बाजार में मिलने वाले आटे में ज्यादा ग्लूटेन भी मिलाया जाता है, जो सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है। चूंकि, चपाती इंडियन खाने का सबसे अहम फूड है, इसलिए इसको हम पूरी तरह से अपनी डाइट से नहीं हटा सकते हैं, लेकिन गेहूं की जगह हम दूसरे विकल्पों से इसे बदल सकते हैं। तो चलिए आज हम आपको बताते हैं, 6 ऐसी रोटियां, जिसे आप बिना आटे के बना सकते हैं और ये वेट कम करने के लिए रामबाण है।

ओट्स की रोटी
ओट्स एक ग्लूटेन फ्री अनाज है, जिसमें कई विटामिन, फाइबर, एंटीऑक्सिडेंट और खनिज तत्व पाए जाते हैं। यह वजन घटाने, कोलेस्ट्रॉल और ब्लड शुगर में सुधार करने में मदद करता है। ओट्स चपाती बनाने के लिए सबसे पहले एक कप ओट्स लें और इसे आटे की तरह बारीक पीस लें। अब इसके आटे में में पानी में मिलाकर एक नरम आटा गूंथ लें। ओट्स का आटा बनकर तैयार है, अपनी चपाती बेल लीजिए और सामान्य रोटी की तरह सेंक लीजिए।

ओट्स की रोटी
ओट्स एक ग्लूटेन फ्री अनाज है, जिसमें कई विटामिन, फाइबर, एंटीऑक्सिडेंट और खनिज तत्व पाए जाते हैं। यह वजन घटाने, कोलेस्ट्रॉल और ब्लड शुगर में सुधार करने में मदद करता है। ओट्स चपाती बनाने के लिए सबसे पहले एक कप ओट्स लें और इसे आटे की तरह बारीक पीस लें। अब इसके आटे में में पानी में मिलाकर एक नरम आटा गूंथ लें। ओट्स का आटा बनकर तैयार है, अपनी चपाती बेल लीजिए और सामान्य रोटी की तरह सेंक लीजिए।

रागी रोटी
रागी प्रोटीन से भरपूर होता है और यह वजन घटाने के साथ ही आपकी त्वचा और बालों को भी हेल्दी बनाता है। रागी रोटी बनाने के लिए एक कप रागी का आटा लें और गुनगुने पानी से आटा गूंथ लें। गुनगुना पानी आटे को अच्छी तरह से बांधने में मदद करेगा और नरम रखेगा। इसके बाद चपाती बेल लीजिए और सेंक लें।

रागी रोटी
रागी प्रोटीन से भरपूर होता है और यह वजन घटाने के साथ ही आपकी त्वचा और बालों को भी हेल्दी बनाता है। रागी रोटी बनाने के लिए एक कप रागी का आटा लें और गुनगुने पानी से आटा गूंथ लें। गुनगुना पानी आटे को अच्छी तरह से बांधने में मदद करेगा और नरम रखेगा। इसके बाद चपाती बेल लीजिए और सेंक लें।

जौ की रोटी
जौ का आटा आपके पाचन में सुधार, कोलेस्ट्रॉल कम करने और हार्ट के लिए जाना जाता है। जौ की रोटी बनाने के लिए जौ के आटे को गुनगुने पानी से गूंथ लें। जब आटा तैयार हो जाए तो अपनी चपाती को पका लें।

जौ की रोटी
जौ का आटा आपके पाचन में सुधार, कोलेस्ट्रॉल कम करने और हार्ट के लिए जाना जाता है। जौ की रोटी बनाने के लिए जौ के आटे को गुनगुने पानी से गूंथ लें। जब आटा तैयार हो जाए तो अपनी चपाती को पका लें।

चना चपाती
काला चना अक्सर हम सब्जी में इस्तेमाल करते हैं। लेकिन इसके आटे की रोटी बेहद पौष्टिक होती है। आपको मार्केट में आसानी से चने का मिल जाएगा। इसे बनाने के लिए आप चने के आटे को पानी और दूध/दही से गूंथ लें और इससे रोटियां बना लें।
 

चना चपाती
काला चना अक्सर हम सब्जी में इस्तेमाल करते हैं। लेकिन इसके आटे की रोटी बेहद पौष्टिक होती है। आपको मार्केट में आसानी से चने का मिल जाएगा। इसे बनाने के लिए आप चने के आटे को पानी और दूध/दही से गूंथ लें और इससे रोटियां बना लें।
 

ज्वार रोटी
ज्वार की सबसे खास बात यह है कि यह ग्लूटेन फ्री होता है। इसमें मैग्निशियम की पर्याप्त मात्रा होती है जो शरीर में कैल्शियम को अब्जॉर्ब करने में मदद करता है और हड्डियों को मजबूत करता है। इसके अलावा यह वजन घटाने में भी फायदेमंद है। इसे बनाने के लिए ज्वार के दाने लें और इसे आटे की तरह पीस लें या मार्केट से इसका आटा ले आएं। अब ज्वार के आटे को गुनगुने पानी के साथ मिलाकर आटा गूंथ लें और रोटी बेलकर इसे मध्यम आंच पर पकाएं। 

ज्वार रोटी
ज्वार की सबसे खास बात यह है कि यह ग्लूटेन फ्री होता है। इसमें मैग्निशियम की पर्याप्त मात्रा होती है जो शरीर में कैल्शियम को अब्जॉर्ब करने में मदद करता है और हड्डियों को मजबूत करता है। इसके अलावा यह वजन घटाने में भी फायदेमंद है। इसे बनाने के लिए ज्वार के दाने लें और इसे आटे की तरह पीस लें या मार्केट से इसका आटा ले आएं। अब ज्वार के आटे को गुनगुने पानी के साथ मिलाकर आटा गूंथ लें और रोटी बेलकर इसे मध्यम आंच पर पकाएं। 

बादाम की रोटी
बादाम को पोटेशियम, विटामिन, मैग्नीशियम और अन्य पोषक तत्वों के लिए जाना जाता है। यह ब्लड शुगर को कंट्रोल करने में भी आपकी मदद कर सकता है। साथ ही एंटीऑक्सिडेंट से भरा हुआ है और कोलेस्ट्रॉल को कम करता है। बादाम का आटा आपको बाजार में आसानी से मिल जाएगा। इसे बनाने के लिए एक कप बादाम का आटा, एक चुटकी नमक और पानी के साथ आटा मिलाना होगा। चपाती को मध्यम आंच पर पकाएं। 

बादाम की रोटी
बादाम को पोटेशियम, विटामिन, मैग्नीशियम और अन्य पोषक तत्वों के लिए जाना जाता है। यह ब्लड शुगर को कंट्रोल करने में भी आपकी मदद कर सकता है। साथ ही एंटीऑक्सिडेंट से भरा हुआ है और कोलेस्ट्रॉल को कम करता है। बादाम का आटा आपको बाजार में आसानी से मिल जाएगा। इसे बनाने के लिए एक कप बादाम का आटा, एक चुटकी नमक और पानी के साथ आटा मिलाना होगा। चपाती को मध्यम आंच पर पकाएं। 

मिक्स आटे की रोटी
6 दिन 6 अलग-अलग प्रकार की रोटी खाने के बाद सातवें दिन आप मिस्सी या मिक्स आटे की रोटी बना लें। इसे बनाने के लिए आप ऊपर दिए गए सभी 6 आटों को मिला लें और इसमें अजवाइन नमक और मिर्च डालकर आटा गूंथ लें। अब इसकी रोटी या पराठा बनाकर एक हेल्दी रोटी का आनंद लें। 

मिक्स आटे की रोटी
6 दिन 6 अलग-अलग प्रकार की रोटी खाने के बाद सातवें दिन आप मिस्सी या मिक्स आटे की रोटी बना लें। इसे बनाने के लिए आप ऊपर दिए गए सभी 6 आटों को मिला लें और इसमें अजवाइन नमक और मिर्च डालकर आटा गूंथ लें। अब इसकी रोटी या पराठा बनाकर एक हेल्दी रोटी का आनंद लें। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios