Asianet News Hindi

भोपाल में कर्फ्यू: यहां जाने से पहले सावधान, चप्पे-चप्पे पर पुलिस..अगले आदेश तक सब बंद, जान लीजिए वजह

First Published Jan 17, 2021, 5:07 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp


भोपाल. मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल के 3 थाना क्षेत्रों में आज सुबह 9 बजे से अगले आदेश तक कर्फ्यू लगा दिया गया है। एक समुदाय विशेष द्वारा निर्माण कार्य प्रारंभ किए जाने के मद्देनजर जिला प्रशासन ने यह कदम उठाया है। कर्फ्यू के दौरान 3 कॉलोनियों को पूरी तरह से सील कर दी गई है। साथ ही पुलिस का सख्त पहरा है, कालोनियों को छावनी में तब्दील कर लिया गया है। आगे पढ़िए इस कर्फ्यू के लगाने की वजह...


दरअसल. पुराने भोपाल के कबाड़खाना इलाके में एक जमीन पर बाउंड्री निर्माण से जुड़े विवाद को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) ने जीत लिया है। जिस पर संघ फेंसिंग करवा रहा है करीब 30 हजार वर्गफीट जमीन संघ के संभागीय कार्यालय केशव नीडम के पास से लगी हुई है। दूसरे समुदाल के लोगों ने इस जमीन को वक्फ बोर्ड का बताया था। जिसके बाद से यह मामला अदालत में चला गया। अब तनाव की हालत ना पैदा हो इसलिए जिला प्रशसान ने रविवार को तीन थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू लगा दिया है।


दरअसल. पुराने भोपाल के कबाड़खाना इलाके में एक जमीन पर बाउंड्री निर्माण से जुड़े विवाद को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) ने जीत लिया है। जिस पर संघ फेंसिंग करवा रहा है करीब 30 हजार वर्गफीट जमीन संघ के संभागीय कार्यालय केशव नीडम के पास से लगी हुई है। दूसरे समुदाल के लोगों ने इस जमीन को वक्फ बोर्ड का बताया था। जिसके बाद से यह मामला अदालत में चला गया। अब तनाव की हालत ना पैदा हो इसलिए जिला प्रशसान ने रविवार को तीन थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू लगा दिया है।


बता दें कि भोपाल कलेक्टर अविनाश लवानिया ने धारा 144 लगाने के यह आदेश रविवार सुबह जारी किए हैं। उन्होंने कहा, ‘‘यह आदेश रविवार सुबह नौ बजे से आगामी आदेश तक लागू रहेगा।’’ इससे शहर की शांति व्यवस्था/कानून व्यवस्था को खतरा होने के साथ-साथ लोकजीवन और लोकसंपत्ति की सुरक्षा को उत्पन्न हुए खतरे का निवारण किए जाने के लिए यह कदम उठाया गया है।


बता दें कि भोपाल कलेक्टर अविनाश लवानिया ने धारा 144 लगाने के यह आदेश रविवार सुबह जारी किए हैं। उन्होंने कहा, ‘‘यह आदेश रविवार सुबह नौ बजे से आगामी आदेश तक लागू रहेगा।’’ इससे शहर की शांति व्यवस्था/कानून व्यवस्था को खतरा होने के साथ-साथ लोकजीवन और लोकसंपत्ति की सुरक्षा को उत्पन्न हुए खतरे का निवारण किए जाने के लिए यह कदम उठाया गया है।


भोपाल के पुलिस उप-महानिरीक्षक इरशाद वली ने कहा कि कर्फ़्यू लगाए गए इलाके में कोई भी व्यक्ति अत्यावश्यक कार्यों (मेडिकल इत्यादि) को छोड़कर घर से बाहर नहीं निकलेगा। इन एरिया की सभी दुकानें, निजी और सरकारी संस्थान पूर्ण रुप से बंद रहेंगे। केवल अस्पताल व मेडिकल दुकानें खुली रहेंगी। अगर इन इलाकों में एक साथ पांच या पांच से अधिक दिखाई दिए तो उन पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।


भोपाल के पुलिस उप-महानिरीक्षक इरशाद वली ने कहा कि कर्फ़्यू लगाए गए इलाके में कोई भी व्यक्ति अत्यावश्यक कार्यों (मेडिकल इत्यादि) को छोड़कर घर से बाहर नहीं निकलेगा। इन एरिया की सभी दुकानें, निजी और सरकारी संस्थान पूर्ण रुप से बंद रहेंगे। केवल अस्पताल व मेडिकल दुकानें खुली रहेंगी। अगर इन इलाकों में एक साथ पांच या पांच से अधिक दिखाई दिए तो उन पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।


पुराने भोपाल के थाना हनुमानगंज, टीलाजमालपुरा एवं गौतम नगर क्षेत्र में कर्फ्यू लगाया गया है। इसके अलावा, भोपाल शहर के 11 थाना क्षेत्रों-शाहजहानाबाद, छोला मंदिर, निशातपुरा, तलैया, मंगलवारा, अशोका गार्डन, ऐशबाग, जहांगीराबाद, स्टेशन बजरिया, बैरसिया और नजीराबाद में धारा-144 लगाई गई है।
 


पुराने भोपाल के थाना हनुमानगंज, टीलाजमालपुरा एवं गौतम नगर क्षेत्र में कर्फ्यू लगाया गया है। इसके अलावा, भोपाल शहर के 11 थाना क्षेत्रों-शाहजहानाबाद, छोला मंदिर, निशातपुरा, तलैया, मंगलवारा, अशोका गार्डन, ऐशबाग, जहांगीराबाद, स्टेशन बजरिया, बैरसिया और नजीराबाद में धारा-144 लगाई गई है।
 


मामले की जानकारी देते हुए पुराने शहर के हनुमानगंज थाना TI महेंद्र सिंह ने बताया कि इतवारा, सोमवारा, बुधवारा, भारत टॉकीज चौराहा पर पुलिस ने बैरिकेडिंग लगाकर आवागमन बंद कर दिया। तीनों थाना क्षेत्रों में बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है।


मामले की जानकारी देते हुए पुराने शहर के हनुमानगंज थाना TI महेंद्र सिंह ने बताया कि इतवारा, सोमवारा, बुधवारा, भारत टॉकीज चौराहा पर पुलिस ने बैरिकेडिंग लगाकर आवागमन बंद कर दिया। तीनों थाना क्षेत्रों में बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है।


बता दें कि जिला प्रशासन का यह आदेश शैक्षणिक या प्रतियोगी परीक्षाओं में बैठने वाले छात्रों पर भी लागू नहीं होगा। प्रवेश पत्र आईडी कार्ड दिखाने पर उनको अनुमति दे जाएगी। इसके अलावा परीक्षाओं की ड्यूटी में लगे कर्मचारियों को भी छूट दी गई है। उनको अपना आईडी कार्ड और  संस्थान का कार्ड दिखाना होगा।


बता दें कि जिला प्रशासन का यह आदेश शैक्षणिक या प्रतियोगी परीक्षाओं में बैठने वाले छात्रों पर भी लागू नहीं होगा। प्रवेश पत्र आईडी कार्ड दिखाने पर उनको अनुमति दे जाएगी। इसके अलावा परीक्षाओं की ड्यूटी में लगे कर्मचारियों को भी छूट दी गई है। उनको अपना आईडी कार्ड और  संस्थान का कार्ड दिखाना होगा।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios