Asianet News Hindi

कड़ाके की ठंड में देखिए पहाड़ों की रानी पचमढ़ी का खूबसूरत नजारा, तस्वीरें देख करेंगे वीकैंड प्लानिंग

First Published Dec 19, 2020, 2:11 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp


पचमढ़ी (मध्य प्रदेश). पहाड़ों हो रही बर्फबारी और मैदानी इलाकों में बारिश के चलते कड़ाके की ठंड पड़ने लगी है। मध्य प्रदेश में चल रहीं सर्द हवाओं ने यहां ठिठुरन बढ़ा दी है। एक तरफ जहां इस हाड़ कपांने वाली कड़कड़ाती ठंड में लोग रजाइयों में दुबके हुए हैं, तो वहीं दूसरी ओर मध्यप्रदेश का एकमात्र हिल स्टेशन पचमढ़ी का नजारा देखने लायक है। जहां  पर्यटक भी सर्दी का लुत्फ लेने के लिए पहुंचने लगे हैं। तस्वीरें में देखिए धुंध में दिखा स्वर्ग सा नजारा...

बता दें कि शनिवार को हिल स्टेशन पचमढ़ी का न्यूनतम तापमान 8.2 डिग्री और अधिकतम तापमान 21.2 डिग्री पर पहुंच गया है। लेकिन इसके बावजूद भी यहां पर सैलानियों का आना-जाना लगा हुआ है। चाहें गर्मी हो, बारिश हो या हो सर्दी का ठिठुरता मौसम, लेकिन यहां लोग घूमने जरुर आते हैं। क्योंकि यहां की प्रकृति इतनी खूबसूरत है कि यहां जो भी आता है, उसका दिल खुश हो जाता है।

बता दें कि शनिवार को हिल स्टेशन पचमढ़ी का न्यूनतम तापमान 8.2 डिग्री और अधिकतम तापमान 21.2 डिग्री पर पहुंच गया है। लेकिन इसके बावजूद भी यहां पर सैलानियों का आना-जाना लगा हुआ है। चाहें गर्मी हो, बारिश हो या हो सर्दी का ठिठुरता मौसम, लेकिन यहां लोग घूमने जरुर आते हैं। क्योंकि यहां की प्रकृति इतनी खूबसूरत है कि यहां जो भी आता है, उसका दिल खुश हो जाता है।


कड़कड़ाती ठंड में पर्यटक सर्दी का लुत्फ उठाने के लिए यहां पर पहुंच रहे हैं। इस हिसाब से यहां के होटल और कॉटेज भी तैयार किए गए हैं।


कड़कड़ाती ठंड में पर्यटक सर्दी का लुत्फ उठाने के लिए यहां पर पहुंच रहे हैं। इस हिसाब से यहां के होटल और कॉटेज भी तैयार किए गए हैं।


घने कोहरे और धुंध में पहाड़ों की रानी पचमढ़ी का नजारा बेहद खूबसूरत कर दिया है। यहां की सुबह धुंध सी लिपटी हुई नजर आ रही है। इसलिए तो लोग यहां आने के लिए वीकैंड की प्लानिंग करने लगे हैं। कड़कड़ाती ठंड के बावजूद बड़ी संख्या में यहां सैलानी आते हैं। 


घने कोहरे और धुंध में पहाड़ों की रानी पचमढ़ी का नजारा बेहद खूबसूरत कर दिया है। यहां की सुबह धुंध सी लिपटी हुई नजर आ रही है। इसलिए तो लोग यहां आने के लिए वीकैंड की प्लानिंग करने लगे हैं। कड़कड़ाती ठंड के बावजूद बड़ी संख्या में यहां सैलानी आते हैं। 

घना कोहरा छाने से विजिबिलिटी काफी घट गई है। लेकिन यहां की खूबसूरती उतनी ही ज्यादा निखर गई है। 

घना कोहरा छाने से विजिबिलिटी काफी घट गई है। लेकिन यहां की खूबसूरती उतनी ही ज्यादा निखर गई है। 


यहां के खूबसूरत झरने और उनसे टपकता पानी..हरी-भरी वादियां के अलावा यहां पर प्राचीन धार्मिक स्थल लोगों को अचंभित के साथ-साथ यहां पर आने के लिए मजबूर कर देता है।


यहां के खूबसूरत झरने और उनसे टपकता पानी..हरी-भरी वादियां के अलावा यहां पर प्राचीन धार्मिक स्थल लोगों को अचंभित के साथ-साथ यहां पर आने के लिए मजबूर कर देता है।

घना कोहरा छाने से विजिबिलिटी काफी घट गई है। लेकिन यहां की खूबसूरती उतनी ही ज्यादा निखर गई है। 

घना कोहरा छाने से विजिबिलिटी काफी घट गई है। लेकिन यहां की खूबसूरती उतनी ही ज्यादा निखर गई है। 


तस्वीर में देख सकते हैं किस तरह से धुंध की चादर ओढ़े रही सुबह।
 


तस्वीर में देख सकते हैं किस तरह से धुंध की चादर ओढ़े रही सुबह।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios