हैवान आशिक ने इस खूबसूरत लड़की को दी दर्दनाक मौत, सिरफिरे प्रेमी ने खेला था ऐसा खौफनाक खेल...

First Published 10, Feb 2020, 4:53 PM IST

नागपुर (महाराष्ट). 24 साल की लेक्चरर अंकिता पिसुदे की सोमावर के दिन तड़प तड़पकर मौत हो गई। 8 दिन पहले एकतरफा प्यार में मृतका के बचपन  के दोस्त विकेश नागराले ने उसे जिंदा जला दिया था। जिसके बाद से उसका इलाज नागपुर के ऑरेंज सिटी हॉस्पिटल में इलाज चल रहा था। युवती  के सिर, चेहरे, दाहिने हिस्से, बाएं हाथ, पीठ और गर्दन समेत 40% हिस्सा शरीर का झुलस गया था। हॉस्पिटल के डायरेक्टर डॉ. अनूप मरार ने बताया कि सुबह 6.55 बजे लड़की की मौत हो गई। मौत का संभावित कारण सेप्टिकमिक अटैक था।
 

दरअसल, आरोपी ने इस दर्दनाक घटना को वर्धा जिले के हिंगणघाट में 3 फरवरी को अंजाम दिया था। आरोपी विकेश ने अंकिता के सामने शादी करने का प्रस्ताव रखा। लेकिन युवती ने उसको प्रपोजल को ठुकरा दिया। बस इसी बात से गुस्से में आकर आरोपी विकेश ने स्कूटी से पेट्रोल निकालकर लड़की को जिंदा जला दिया था।

दरअसल, आरोपी ने इस दर्दनाक घटना को वर्धा जिले के हिंगणघाट में 3 फरवरी को अंजाम दिया था। आरोपी विकेश ने अंकिता के सामने शादी करने का प्रस्ताव रखा। लेकिन युवती ने उसको प्रपोजल को ठुकरा दिया। बस इसी बात से गुस्से में आकर आरोपी विकेश ने स्कूटी से पेट्रोल निकालकर लड़की को जिंदा जला दिया था।

वर्धा जिले के दरोदा गांव की रहने वाली अंकिता महिला कॉलेज में लेक्चरर थी। घटना के वक्त वह रोज की तरह 75 किमी दूर कॉलेज जाने के लिए बस में सवार हुई थी। हिंगणघाट में कॉलेज नजदीक आने पर बस से उतरी थी। लेकिन आरोपी वहां पहले से ही मौजूद  था।

वर्धा जिले के दरोदा गांव की रहने वाली अंकिता महिला कॉलेज में लेक्चरर थी। घटना के वक्त वह रोज की तरह 75 किमी दूर कॉलेज जाने के लिए बस में सवार हुई थी। हिंगणघाट में कॉलेज नजदीक आने पर बस से उतरी थी। लेकिन आरोपी वहां पहले से ही मौजूद था।

वर्धा जिले के दरोदा गांव की रहने वाली अंकिता महिला कॉलेज में लेक्चरर थी। घटना के वक्त वह रोज की तरह 75 किमी दूर कॉलेज जाने के लिए बस में सवार हुई थी। हिंगणघाट में कॉलेज नजदीक आने पर बस से उतरी थी। लेकिन आरोपी वहां पहले से ही मौजूद  था।

वर्धा जिले के दरोदा गांव की रहने वाली अंकिता महिला कॉलेज में लेक्चरर थी। घटना के वक्त वह रोज की तरह 75 किमी दूर कॉलेज जाने के लिए बस में सवार हुई थी। हिंगणघाट में कॉलेज नजदीक आने पर बस से उतरी थी। लेकिन आरोपी वहां पहले से ही मौजूद था।

पीड़िता और आरोपी दोनों एक ही गांव के रहने वाले हैं। वह एक-दूसरे के दोस्त हैं, लेकिन आरोपी मन ही मन एकतरफा प्यार करने लगा था। वह आए दिन उसको बीच रास्ते में रोककर रहता था कि मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूं।

पीड़िता और आरोपी दोनों एक ही गांव के रहने वाले हैं। वह एक-दूसरे के दोस्त हैं, लेकिन आरोपी मन ही मन एकतरफा प्यार करने लगा था। वह आए दिन उसको बीच रास्ते में रोककर रहता था कि मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूं।

विकेश की हरकतों की वजह से अंकिता ने उससे दो साल पहले दोस्ती तोड़ ली थी। लेकिन इसके बावजूद भी वह उसको घूरता रहता था। वो जहां कहीं अकेली जाती तो उसका पीछा किया करता था।

विकेश की हरकतों की वजह से अंकिता ने उससे दो साल पहले दोस्ती तोड़ ली थी। लेकिन इसके बावजूद भी वह उसको घूरता रहता था। वो जहां कहीं अकेली जाती तो उसका पीछा किया करता था।

हालांकि वारदात के बाद आरोपी विकेश को घटना वाले दिन तालघाट गांव से गिरफ्तार कर लिया गया था। वह पहले से शादीशुदा है और उसका 7 महीने का एक बेटा है। लेकिन इसके बावजूद भी वह अंकिता से एकतरफा प्यार करने लगा था।

हालांकि वारदात के बाद आरोपी विकेश को घटना वाले दिन तालघाट गांव से गिरफ्तार कर लिया गया था। वह पहले से शादीशुदा है और उसका 7 महीने का एक बेटा है। लेकिन इसके बावजूद भी वह अंकिता से एकतरफा प्यार करने लगा था।

loader