Asianet News Hindi

लॉकडाउन में टाइम पास करने सीक्रेट रूम में यूट्यूब क्या देखा, बिगड़ गए भाई-बहन और 'वो'

First Published Oct 2, 2020, 12:24 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

पुणे, महाराष्ट्र. इन भाई-बहनों की कहानी पिछले दिनों मीडिया में काफी सुर्खियों में आई थी। शादीशुदा बहन लॉकडाउन (Lockdown) में टाइम पास करने अपने भाई के साथ यूट्यूब पर वीडियो (Youtube video) देखा करती थी। एक दिन उन्होंने कुछ ऐसा वीडियो देखा कि फिर कमरा बंद रहने लगा। महिला के पति को इसकी भनक भी नहीं हुई कि उसकी पत्नी और साला बंद कमरे में कुछ गड़बड़ कर रहे हैं। मामला खुला..तो सामने आया कि ये दोनों नकली नोट (Fake currency) बनाना सीख रहे थे। अब इसी तरह का एक और मामला सामने आया है। मुंबई पुलिस ने 27 साल के दीपक घुंगे नामक युवक को पकड़ा है। यह भी यूट्यूब के जरिये नकली नोट बनाने का तरीका सीख चुका था। आरोपी ने बताया कि लॉकडाउन में वो बेरोजगार था। उस पर काफी कर्ज हो गया था। एक दिन उसने यूट्यूब पर नकली नोट छापने का तरीका देखा। उसे देखकर शॉर्टकट तरीके से अमीर बनने की तरकीब आई। पुलिस ने उसके पास से 100-100 रुपए के कुल 896 नकली नोट जब्त किए हैं। आरोपी सोलापुर का रहने वाला है और बीफार्म किए है। आगे पढ़िए इसी खबर के बारे में...

मुंबई क्राइम ब्रांच ने गुरुवार को दीपक को गिरफ्तार किया था। वो नकली नोटों की डिलीवरी देने लोअर परेल के सीताराम मिल कम्पाउंड पहुंचा था। आरोपी ने नकली नोट तैयार करने पुणे के दौंड में एक फ्लैट भी किराए पर ले रखा था। पुलिस ने वहां से प्रिंटर, स्कैनर, कागज आदि जब्त किए हैं। आगे पढ़िए (फोटो में दिख रहे)  भाई-बहन की कहानी..जो बंद कमरे में बैठकर यूट्यूब पर सीखे थे नकली नोट बनाना

मुंबई क्राइम ब्रांच ने गुरुवार को दीपक को गिरफ्तार किया था। वो नकली नोटों की डिलीवरी देने लोअर परेल के सीताराम मिल कम्पाउंड पहुंचा था। आरोपी ने नकली नोट तैयार करने पुणे के दौंड में एक फ्लैट भी किराए पर ले रखा था। पुलिस ने वहां से प्रिंटर, स्कैनर, कागज आदि जब्त किए हैं। आगे पढ़िए (फोटो में दिख रहे)  भाई-बहन की कहानी..जो बंद कमरे में बैठकर यूट्यूब पर सीखे थे नकली नोट बनाना

पुणे, महाराष्ट्र.  सुनीता राय और उसके भाई प्रदीप को दोनों को पिछले दिनों पिंपरी पुलिस की क्राइम ब्रांच ने पकड़ा था। इन्होंने यूट्यूब के जरिये 50, 100, 200, 500 और 2000 के नकली नोट छापे थे। क्राइम ब्रांच यूनिट 1 के अधिकारी उत्तम तांगड़े के मुताबिक, ये लोग असली के बीच नकली नोट फंसाकर चलाते थे। ये बुजुर्ग दुकानदार या गांव के सीधे-सादे लोगों को नकली नोट टिकाते थे। लेकिन सब्जी मंडी में एक दुकानदार को नकली नोट देने पर पोल खुल गई। उसे शक हुआ, तो उसने पुलिस को बुला लिया।

आगे पढ़ें इसी खबर के बारे में

पुणे, महाराष्ट्र.  सुनीता राय और उसके भाई प्रदीप को दोनों को पिछले दिनों पिंपरी पुलिस की क्राइम ब्रांच ने पकड़ा था। इन्होंने यूट्यूब के जरिये 50, 100, 200, 500 और 2000 के नकली नोट छापे थे। क्राइम ब्रांच यूनिट 1 के अधिकारी उत्तम तांगड़े के मुताबिक, ये लोग असली के बीच नकली नोट फंसाकर चलाते थे। ये बुजुर्ग दुकानदार या गांव के सीधे-सादे लोगों को नकली नोट टिकाते थे। लेकिन सब्जी मंडी में एक दुकानदार को नकली नोट देने पर पोल खुल गई। उसे शक हुआ, तो उसने पुलिस को बुला लिया।

आगे पढ़ें इसी खबर के बारे में

पुलिस ने सुनीता के घर से दो कलर प्रिंटर और लाखों के नकली नोट बरामद किए थे। सुनीता के पति गणेश सावंत खुद हैरान है कि उनकी पत्नी ऐसा कुछ करती थी। गणेश ने पुलिस को बताया कि सुनीता अपने भाई के साथ बंद कमरे में घंटों रहती थी। लेकिन कभी उसने पूछा नहीं। हालांकि पुलिस को अंदेशा है कि सुनीता के पति को भी इसकी जानकारी हो सकती है। या फिर वो भी इसमें शामिल हो सकता है। सुनीता दो बच्चों की मां है। आगे पढ़िए... रात को साथियों के साथ मिलकर नकली नोट छापती थी यह महिला...
 

पुलिस ने सुनीता के घर से दो कलर प्रिंटर और लाखों के नकली नोट बरामद किए थे। सुनीता के पति गणेश सावंत खुद हैरान है कि उनकी पत्नी ऐसा कुछ करती थी। गणेश ने पुलिस को बताया कि सुनीता अपने भाई के साथ बंद कमरे में घंटों रहती थी। लेकिन कभी उसने पूछा नहीं। हालांकि पुलिस को अंदेशा है कि सुनीता के पति को भी इसकी जानकारी हो सकती है। या फिर वो भी इसमें शामिल हो सकता है। सुनीता दो बच्चों की मां है। आगे पढ़िए... रात को साथियों के साथ मिलकर नकली नोट छापती थी यह महिला...
 

फेक करेंसी का यह मामला जुलाई में हरियाणा में सिरसा जिले के डबवाली कस्बे में सामने आया था। ये लोग 2000 के 25 नोट और 500 के 2 नकली नोट ही कलर प्रिंटर से छाप पाए थे कि पुलिस ने छापा मार दिया। आरोपियों में से एक पहले भी पंजाब में नकली नोट चलाते पकड़ा गया था। पुलिस के अनुसार पंजाब के मुक्तसर का रहने वाला आरोपी रविंदर सिंह उर्फ बब्बी और गगनदीप सिंह कलर प्रिंटर लेकर चौहान नगर मोहल्ला स्थित रेखा रानी पत्नी तरुन कुमार के घर पहुंचे थे। यहां पर तीनों ने रातभर फेक करेंसी छापी। लेकिन इससे पहले कि वो इसे निकाल पाते, सूचना के बाद पुलिस ने घर पर छापा मार दिया। आगे पढ़ें इसी खबर के बारे में...

फेक करेंसी का यह मामला जुलाई में हरियाणा में सिरसा जिले के डबवाली कस्बे में सामने आया था। ये लोग 2000 के 25 नोट और 500 के 2 नकली नोट ही कलर प्रिंटर से छाप पाए थे कि पुलिस ने छापा मार दिया। आरोपियों में से एक पहले भी पंजाब में नकली नोट चलाते पकड़ा गया था। पुलिस के अनुसार पंजाब के मुक्तसर का रहने वाला आरोपी रविंदर सिंह उर्फ बब्बी और गगनदीप सिंह कलर प्रिंटर लेकर चौहान नगर मोहल्ला स्थित रेखा रानी पत्नी तरुन कुमार के घर पहुंचे थे। यहां पर तीनों ने रातभर फेक करेंसी छापी। लेकिन इससे पहले कि वो इसे निकाल पाते, सूचना के बाद पुलिस ने घर पर छापा मार दिया। आगे पढ़ें इसी खबर के बारे में...

 पुलिस के अनुसार, रविंदर सिंह उर्फ बब्बी पहले भी बठिंडा में नकली नोट चलाते पकड़ा गया था। पुलिस को सूचना मिली थी कि यह डबवाली में सक्रिय हो रहा है। आगे पढ़ें...भाई-बहन निकले थे नकली नोट खपाने...

 पुलिस के अनुसार, रविंदर सिंह उर्फ बब्बी पहले भी बठिंडा में नकली नोट चलाते पकड़ा गया था। पुलिस को सूचना मिली थी कि यह डबवाली में सक्रिय हो रहा है। आगे पढ़ें...भाई-बहन निकले थे नकली नोट खपाने...

यह मामला अगस्त में हरियाणा के सिरसा में सामने आया था। गश्त के दौरान पुलिस ने पंजाब सीमा पर लगे मुसाहिबवाला नाके के पास बाइक सवार महिला व पुरुष को रुकवाया था। इनके पास से तीन लाख रुपए के नकली नोट पकड़े गए थे। आरोपी गगनदीप उर्फ गगन पंजाब में रहता है। जबकि हरपाल कौर उर्फ प्रीत सिरसा में। दोनों भाई-बहन लगते हैं। 

यह मामला अगस्त में हरियाणा के सिरसा में सामने आया था। गश्त के दौरान पुलिस ने पंजाब सीमा पर लगे मुसाहिबवाला नाके के पास बाइक सवार महिला व पुरुष को रुकवाया था। इनके पास से तीन लाख रुपए के नकली नोट पकड़े गए थे। आरोपी गगनदीप उर्फ गगन पंजाब में रहता है। जबकि हरपाल कौर उर्फ प्रीत सिरसा में। दोनों भाई-बहन लगते हैं। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios