Asianet News Hindi

कोरोना संक्रमण को लेकर दिल की धड़कनें बढ़ाने वाली मुंबई अब कूल हो रही है, जानिए मौजूदा हालात

First Published May 30, 2020, 11:59 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई. कोरोना संक्रमण को लेकर महाराष्ट्र के हालात अब तक बेकाबू थे। लेकिन अब यहां से गुड न्यूज आने लगी है। पिछले एक दिन में यहां सबसे ज्यादा 8,381 मरीज कोरोना को हराकर घर लौटे। अब तक महाराष्ट्र में 26997 मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं। यह कुल संक्रमितों का 43.3% है। महाराष्ट्र में अब तक 62228 से ज्यादा संक्रमित हैं। यह आंकड़ा देश के किसी राज्य से सबसे ज्यादा है। यहां 2098 लोगों की मौत हो चुकी है। पहले महाराष्ट्र में 11 दिनों में संक्रमितों की संख्या दोगुनी हो रही थी। अब यह रेट 16 दिन हो गया है। यह अच्छी बात है। कोरोना को लेकर मुंबई की झुग्गी बस्ती धारावी शुरू से ही चिंता का विषय बनी हुई थी। अकेले मुंबई में संक्रमितों की संख्या 34000 से अधिक है। इनमें धारावी की स्थिति सबसे खराब थी। यहां संक्रमितों की संख्या 1,541 को पार कर चुकी है। हालांकि इनमें 453 लोग ठीक हो चुके हैं। अब सबसे अच्छी बात यह है कि पहले यहां 3 दिन में संक्रमित दोगुने हो रहे थे, जो अब  9 दिन में हो रहे हैं। आइए पढ़ते हैं बाकी कहानी और साथ में देखते हैं मुंबई से जुड़े कुछ फोटोज

धारावी में संक्रमण को काबू में करने 2400 से ज्यादा हेल्थकेयर वर्करों की ड्यूटी लगाई गई है। वार्ड के अपर निगम आयुक्त किरण दिघावकर ने बताया कि धारावी एक घनी बस्ती है। यहां सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराना आसान नहीं। इसे देखते ही अब यह प्रयोग किया जा रहा है।

धारावी में संक्रमण को काबू में करने 2400 से ज्यादा हेल्थकेयर वर्करों की ड्यूटी लगाई गई है। वार्ड के अपर निगम आयुक्त किरण दिघावकर ने बताया कि धारावी एक घनी बस्ती है। यहां सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराना आसान नहीं। इसे देखते ही अब यह प्रयोग किया जा रहा है।

धारावी में लोग खाने-पीने को परेशान न हों। घरों में रहे..इसलिए घर-घर जाकर फूड पैकेट बांटे जा रहे हैं। इसके लिए एनजीओ और प्राइवेट संस्थाओं की मदद ली जा रही है।

धारावी में लोग खाने-पीने को परेशान न हों। घरों में रहे..इसलिए घर-घर जाकर फूड पैकेट बांटे जा रहे हैं। इसके लिए एनजीओ और प्राइवेट संस्थाओं की मदद ली जा रही है।

अकेले धारावी में ज्यादा से ज्यादा जांच करने 27 प्राइवेट डॉक्टर, 29 नर्स, 68 वार्ड बॉय और 11 को-ऑर्डिनेटर और दो फार्मासिस्ट की सेवाएं ली जा रही हैं।
 

अकेले धारावी में ज्यादा से ज्यादा जांच करने 27 प्राइवेट डॉक्टर, 29 नर्स, 68 वार्ड बॉय और 11 को-ऑर्डिनेटर और दो फार्मासिस्ट की सेवाएं ली जा रही हैं।
 

धारावी में बीएमसी के साथ ही प्राइवेट डॉक्टरों ने घर-घर जाकर करीब 4.5 लाख लोगों की स्क्रीनिंग की।
 

धारावी में बीएमसी के साथ ही प्राइवेट डॉक्टरों ने घर-घर जाकर करीब 4.5 लाख लोगों की स्क्रीनिंग की।
 

 धारावी में जो लोग हाई रिस्क में दिखे, उन्हें ही क्वांरटाइन किया गया।

 धारावी में जो लोग हाई रिस्क में दिखे, उन्हें ही क्वांरटाइन किया गया।

संक्रमण को रोकने राज्य सरकार प्राइवेट अस्पतालों की मदद भी ले रही है।
 

संक्रमण को रोकने राज्य सरकार प्राइवेट अस्पतालों की मदद भी ले रही है।
 

महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण को लेकर सबसे ज्यादा खराब स्थिति थी। खासकर मुंबई में संक्रमण तेजी से फैल रहा था।

महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण को लेकर सबसे ज्यादा खराब स्थिति थी। खासकर मुंबई में संक्रमण तेजी से फैल रहा था।

हालांकि पिछले कुछ दिनों में संक्रमण की रफ्तार कम हुई है।

हालांकि पिछले कुछ दिनों में संक्रमण की रफ्तार कम हुई है।

धारावी में लोगों की स्क्रीनिंग बढ़ाई गई है, ताकि संक्रमण को रोका जा सके।

धारावी में लोगों की स्क्रीनिंग बढ़ाई गई है, ताकि संक्रमण को रोका जा सके।

मुंबई से हजारों प्रवासी लोग अपने राज्यों को रवाना हो गए हैं। इसके लिए स्पेशल ट्रेनें चलाई गईं।

मुंबई से हजारों प्रवासी लोग अपने राज्यों को रवाना हो गए हैं। इसके लिए स्पेशल ट्रेनें चलाई गईं।

लॉकडाउन के बीच खाने की तैयारी करती एक महिला।

लॉकडाउन के बीच खाने की तैयारी करती एक महिला।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios