इस तस्वीर में खुद को फिट करके देखिए और जानिए मुंबई की एक चौंकाने वाली बस्ती के बारे में

First Published 10, Jun 2020, 11:20 AM

मुंबई. देश में सबसे अधिक कोरोना संक्रमित हैं, तो वो है महाराष्ट्र। यहां करीब 83 हजार संक्रमित हो चुके हैं। इनमें से 37 हजार से ज्यादा रिकवर कर चुके हैं। लेकिन 2900 से ज्यादा की मौत हो चुकी है। अगर पूरे भारत का आंकड़ा देखें, तो संक्रमितों की संख्या 2.77 लाख हो चुकी है। हालांकि इनमें से 1.35 लाख ठीक हो चुके हैं, लेकिन 7745 की मौत हो चुकी है। इन सबके बीच मुंबई की धारावी से एक अच्छी खबर भी आ रही है। यहां अब संक्रमितों की संख्या कम हो रही है। देश में अनलॉक-फेज एक होने के बाद लापरवाहियां भी सामने आ रही हैं। मुंबई जैसे महानगर में लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने में लापरवाही कर रहे हैं। ये तस्वीरें दिखाती हैं कि भीड़ में चंद लोग ही कोरोना गाइडलाइन का पालन कर रहे हैं, बाकी अपनी और दूसरों की जिंदगी खतरे में डाल रहे हैं। आइए पहले जानते हैं मुंबई की धारावी की स्थिति..

<p>मुंबई की धारावी बस्ती कोरोना का हॉटस्पाट बनकर सामने आई थी। दो महीने पहले तक यहां स्थिति विस्फोटक थी, लेकिन अब काबू में है। यहां प्रशासन ने 5000 लोगों की टीम लगाई थी। इनमें डॉक्टर, नर्स, नगर निगम के कर्मचारी और वॉलंटियर्स शामिल हैं। मई में यहां 1,400 मामले मिले थे। ये अप्रैल के मुकाबले 380 प्रतिशत ज्यादा थे। यानी मई में जहां संक्रमितों की दर 47 थी, तो जून में यह सिर्फ 27 प्रतिशत रह गई। अप्रैल में यहां अप्रैल में यहां 369 कोरोना संक्रमित मिले थे। पूरे मुंबई में अकेले यहां से 4.4 प्रतिशत संक्रमित मिले थे। लेकिन कोरोना वॉरियर्स की टीम की मेहनत से अब यह आंकड़ा थमता जा रहा है। लेकिन यह तस्वीर चौंकाती है। अनलॉक होते ही लोग कैसे सैर-सपाटे को निकले कि सोशल डिस्टेंसिंग को भूल गए।<strong> आगे देखें कुछ और तस्वीरें...</strong></p>

मुंबई की धारावी बस्ती कोरोना का हॉटस्पाट बनकर सामने आई थी। दो महीने पहले तक यहां स्थिति विस्फोटक थी, लेकिन अब काबू में है। यहां प्रशासन ने 5000 लोगों की टीम लगाई थी। इनमें डॉक्टर, नर्स, नगर निगम के कर्मचारी और वॉलंटियर्स शामिल हैं। मई में यहां 1,400 मामले मिले थे। ये अप्रैल के मुकाबले 380 प्रतिशत ज्यादा थे। यानी मई में जहां संक्रमितों की दर 47 थी, तो जून में यह सिर्फ 27 प्रतिशत रह गई। अप्रैल में यहां अप्रैल में यहां 369 कोरोना संक्रमित मिले थे। पूरे मुंबई में अकेले यहां से 4.4 प्रतिशत संक्रमित मिले थे। लेकिन कोरोना वॉरियर्स की टीम की मेहनत से अब यह आंकड़ा थमता जा रहा है। लेकिन यह तस्वीर चौंकाती है। अनलॉक होते ही लोग कैसे सैर-सपाटे को निकले कि सोशल डिस्टेंसिंग को भूल गए। आगे देखें कुछ और तस्वीरें...

<p>अनलॉक होते हुए लोग मार्निंग वॉक पर निकल पड़े। हालांकि ज्यादातर मास्क लगाए हुए थे, लेकिन भीड़ के चलते सोशल डिस्टेंसिंग का ठीक से पालन नहीं हो सका।</p>

अनलॉक होते हुए लोग मार्निंग वॉक पर निकल पड़े। हालांकि ज्यादातर मास्क लगाए हुए थे, लेकिन भीड़ के चलते सोशल डिस्टेंसिंग का ठीक से पालन नहीं हो सका।

<p>लोग मासूम बच्चों को लेकर घूमने निकल पड़े। जबकि बच्चों का संक्रमण से ज्यादा खतरा है।</p>

लोग मासूम बच्चों को लेकर घूमने निकल पड़े। जबकि बच्चों का संक्रमण से ज्यादा खतरा है।

<p>ऐसी भीड़ संक्रमण को बढ़ावा देती है।</p>

ऐसी भीड़ संक्रमण को बढ़ावा देती है।

<p>मुंबई में डोर-टू-डोर चेकअप हो रहा है। यह अच्छी बात है।</p>

मुंबई में डोर-टू-डोर चेकअप हो रहा है। यह अच्छी बात है।

<p>धारावी में 5000 वॉलंटियर्स की टीम ने कोरोना संक्रमण को रोका।</p>

धारावी में 5000 वॉलंटियर्स की टीम ने कोरोना संक्रमण को रोका।

<p>संक्रमण से बचने मास्क लगाना जरूरी है।</p>

संक्रमण से बचने मास्क लगाना जरूरी है।

<p>सोशल डिस्टेंसिंग के बीच पीछे खड़े लोग लापरवाही करते दिखे।</p>

सोशल डिस्टेंसिंग के बीच पीछे खड़े लोग लापरवाही करते दिखे।

<p>मुंबई के कई समुद्र तट अभी यूं सुनसान पड़े हैं।</p>

मुंबई के कई समुद्र तट अभी यूं सुनसान पड़े हैं।

<p>धारावी में लोगों का चेकअप करने मौजूद टीम।</p>

धारावी में लोगों का चेकअप करने मौजूद टीम।

loader