Asianet News Hindi

मैं आज आपके साथ हूं भी और नहीं भी... मौत से पहले इरफान का आखिरी संदेश

First Published Apr 29, 2020, 1:13 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुबई. मशहूर अभिनेता इरफान खान का बुधवार को निधन हो गया। उन्हें मुंबई के वर्सोवा कब्रिस्तान में सुपुर्द के खाक किया गया। इरफान के अंतिम संस्कार में उनके परिवार और कुछ खास दोस्त ही मौजूद रहे। इरफान 53 साल के थे। मुंबई के कोकिलाबेन धीरूभाई अंबानी अस्पताल में उन्होंने आखिरी सांस ली। वे यहां मंगलवार को सांस लेने में दिक्कत होने के बाद भर्ती कराए गए थे। इरफान खान की हाल ही में एक अंग्रेजी मीडियम फिल्म रिलीज हुई थी। इससे पहले वे न्यूरोएंडोक्राइन ट्यूमर नाम की बीमारी के चलते फिल्मों से काफी दूर थे। इरफान ने फिल्म रिलीज होने से पहले अपने फैन के लिए एक मैसेज जारी किया था। किसे पता था, यह उनका आखिरी संदेश बन जाएगा।  

इरफान ने ऑडियो मैसेज जारी कहा था, हैलो भाइयों बहनों, नमस्कार मैं इरफान खान मैं आज आपके साथ हूं भी और नहीं भी। खैर ये ... लेकिन मेरे शरीर के भीतर कुछ अनचाहे मेहमान बैठे हुए हैं। उनसे वार्तालाप चल रहा है। देखते हैं किस करवट ऊंट बैठता है। जैसा भी होगा, आपको इतल्ला कर दी जाएगी। कहावत है कि व्हेन लाइफ गिव्ज यू लेमन, यू मेक ए लेमनेड। बोलने में अच्छा लगता है, लेकिन सच में जब जिंदगी आपके हाथ में नींबू थमाती है तो शिकंजी बनाना बहुत मुश्किल हो जाता है। लेकिन आपके पास और चॉइस भी क्या होती है पॉजिटिव रहने के अलावा। 

इरफान ने ऑडियो मैसेज जारी कहा था, हैलो भाइयों बहनों, नमस्कार मैं इरफान खान मैं आज आपके साथ हूं भी और नहीं भी। खैर ये ... लेकिन मेरे शरीर के भीतर कुछ अनचाहे मेहमान बैठे हुए हैं। उनसे वार्तालाप चल रहा है। देखते हैं किस करवट ऊंट बैठता है। जैसा भी होगा, आपको इतल्ला कर दी जाएगी। कहावत है कि व्हेन लाइफ गिव्ज यू लेमन, यू मेक ए लेमनेड। बोलने में अच्छा लगता है, लेकिन सच में जब जिंदगी आपके हाथ में नींबू थमाती है तो शिकंजी बनाना बहुत मुश्किल हो जाता है। लेकिन आपके पास और चॉइस भी क्या होती है पॉजिटिव रहने के अलावा। 

 इरफान खान का जन्म 7 जनवरी 1967 को जयपुर में हुआ था। इससे पहले 25 अप्रैल को इरफान की मां सईदा बेगम का जयपुर में निधन हो गया था। लॉकडाउन के चलते इरफान अपनी मां के अंतिम संस्कार में शामिल नहीं हो पाए थे। उन्होंने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए ही उन्हें अलविदा कहा।

 इरफान खान का जन्म 7 जनवरी 1967 को जयपुर में हुआ था। इससे पहले 25 अप्रैल को इरफान की मां सईदा बेगम का जयपुर में निधन हो गया था। लॉकडाउन के चलते इरफान अपनी मां के अंतिम संस्कार में शामिल नहीं हो पाए थे। उन्होंने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए ही उन्हें अलविदा कहा।

राहुल गांधी ने जताया दुख: कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्वीट किया, इरफान खान के निधन के बारे में सुनकर मुझे दुख हुआ। एक बहुमुखी और प्रतिभाशाली अभिनेता, वह वैश्विक फिल्म और टीवी मंच पर एक लोकप्रिय भारतीय ब्रांड एंबेसडर थे। उन्हें बहुत याद किया जाएगा। इस दुख की घड़ी में उनके परिवार, दोस्तों और प्रशंसकों के प्रति मेरी संवेदना।

राहुल गांधी ने जताया दुख: कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्वीट किया, इरफान खान के निधन के बारे में सुनकर मुझे दुख हुआ। एक बहुमुखी और प्रतिभाशाली अभिनेता, वह वैश्विक फिल्म और टीवी मंच पर एक लोकप्रिय भारतीय ब्रांड एंबेसडर थे। उन्हें बहुत याद किया जाएगा। इस दुख की घड़ी में उनके परिवार, दोस्तों और प्रशंसकों के प्रति मेरी संवेदना।

केजरीवाल ने जताया दुख: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने लिखा, इरफान खान की मौत की खबर सुनकर स्तब्ध हूं। वे हमारे समय के असाधारण अभिनेताओं में एक थे। उनका काम हमेशा याद रखा जाएगा। भगवान उनकी आत्मा को शांति दे।
 

केजरीवाल ने जताया दुख: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने लिखा, इरफान खान की मौत की खबर सुनकर स्तब्ध हूं। वे हमारे समय के असाधारण अभिनेताओं में एक थे। उनका काम हमेशा याद रखा जाएगा। भगवान उनकी आत्मा को शांति दे।
 

इरफान खान लंबे वक्त से न्यूरोएंडोक्राइन ट्यूमर नाम की बीमारी से जूझ रहे थे। बताया जा रहा है कि इरफान की तबीयत मंगलवार को अचानक ज्यादा खराब हो गई थी, जिसके बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया था

इरफान खान लंबे वक्त से न्यूरोएंडोक्राइन ट्यूमर नाम की बीमारी से जूझ रहे थे। बताया जा रहा है कि इरफान की तबीयत मंगलवार को अचानक ज्यादा खराब हो गई थी, जिसके बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया था

2018 में उन्होंने सोशल मीडिया पर पोस्ट कर बताया था कि वह न्यूरोएंडोक्राइन ट्यूमर से पीड़ित हैं। हालांकि, इसका पता चलते ही वह लंदन अपने इलाज के लिए रवाना हुए। सालभर से ज्यादा समय तक वह लंदन में रहे और वहां उनका इलाज चलता रहा।

2018 में उन्होंने सोशल मीडिया पर पोस्ट कर बताया था कि वह न्यूरोएंडोक्राइन ट्यूमर से पीड़ित हैं। हालांकि, इसका पता चलते ही वह लंदन अपने इलाज के लिए रवाना हुए। सालभर से ज्यादा समय तक वह लंदन में रहे और वहां उनका इलाज चलता रहा।

इससे पहले 25 अप्रैल को इरफान की मां सईदा बेगम का जयपुर में निधन हो गया था। वे 95 साल की थीं। लॉकडाउन के चलते इरफान अपनी मां के अंतिम संस्कार में शामिल नहीं हो पाए थे। उन्होंने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए ही उन्हें अलविदा कहा।

इससे पहले 25 अप्रैल को इरफान की मां सईदा बेगम का जयपुर में निधन हो गया था। वे 95 साल की थीं। लॉकडाउन के चलते इरफान अपनी मां के अंतिम संस्कार में शामिल नहीं हो पाए थे। उन्होंने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए ही उन्हें अलविदा कहा।

इरफान अपने इलाज की वजह से काफी दिनों तक फिल्मों से दूर रहे। हालांकि, लंदन से स्वस्थ होकर लौटने के बाद उन्होंने बॉलीवुड में वापसी की और अंग्रेजी मीडियम की शूटिंग भी की। फिल्म इसी साल 13 मार्च को रिलीज हुई थी, जिसमें इरफान खान के साथ राधिका मदान और करीना कपूर लीड रोल में थे।

इरफान अपने इलाज की वजह से काफी दिनों तक फिल्मों से दूर रहे। हालांकि, लंदन से स्वस्थ होकर लौटने के बाद उन्होंने बॉलीवुड में वापसी की और अंग्रेजी मीडियम की शूटिंग भी की। फिल्म इसी साल 13 मार्च को रिलीज हुई थी, जिसमें इरफान खान के साथ राधिका मदान और करीना कपूर लीड रोल में थे।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios