Asianet News Hindi

कोरोना वैक्सीन को लेकर अच्छी खबर : इस दिन आएगी Vaccine की पहली खेप, हो गया तारीख का ऐलान

First Published Dec 22, 2020, 2:03 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. कोरोना महामारी के खौफ के बीच अच्छी खबर है। भारत सरकार ने वैक्सीन के लिए तैयारी पूरी कर ली है। अब बताया जा रहा है कि 28 दिसंबर को देश में कोरोना वैक्सीन की पहली खेप आने वाली है। भारत में चार वैक्सीन फाइजर, सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया, भारत बायोटेक और रूस की स्पूतनिक वैक्सीन को लेकर तैयारी चल रही है। 

दिल्ली एयरपोर्ट के सीईओ विदेह कुमार जयपुरिया ने मंगलवार को बताया कि 28 दिसंबर को कोरोना वैक्सीन की पहली खेप आ जाएगी। हम 80 लाख वियाल एक दिन में हैंडल करने की क्षमता रखते हैं।

दिल्ली एयरपोर्ट के सीईओ विदेह कुमार जयपुरिया ने मंगलवार को बताया कि 28 दिसंबर को कोरोना वैक्सीन की पहली खेप आ जाएगी। हम 80 लाख वियाल एक दिन में हैंडल करने की क्षमता रखते हैं।

भारत में सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया की कोविशील्ड वैक्सीन का ट्रायल काफी पहले चल रहा था और यह वैक्सीन दौड़ में सबसे आगे है। हाल ही में फाइजर, सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया, भारत बायोटेक ने अपनी वैक्सीन के लिए भारत में इमरजेंसी अप्रूवल मांगा है। 
 

भारत में सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया की कोविशील्ड वैक्सीन का ट्रायल काफी पहले चल रहा था और यह वैक्सीन दौड़ में सबसे आगे है। हाल ही में फाइजर, सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया, भारत बायोटेक ने अपनी वैक्सीन के लिए भारत में इमरजेंसी अप्रूवल मांगा है। 
 

केंद्र सरकार ने राज्‍य सरकारों के साथ मिलकर चार महीने पहले ही कोरोना के टीकाकरण को लेकर तैयारियां शुरू कर दी थीं। राज्‍य, जिला और ब्‍लॉक लेवल पर टास्‍क फोर्सेज बनाए गए हैं। मास्‍टर ट्रेनर्स को ट्रेनिंग दी जा चुकी है जो पूरे देशभर में कोविड टीकाकरण में शामिल वालंटियर्स को ट्रेन करेंगे। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन के मुताबिक, 260 जिलों में 20000 से ज्‍यादा लोगों को ट्रेनिंग दी जा चुकी है।

केंद्र सरकार ने राज्‍य सरकारों के साथ मिलकर चार महीने पहले ही कोरोना के टीकाकरण को लेकर तैयारियां शुरू कर दी थीं। राज्‍य, जिला और ब्‍लॉक लेवल पर टास्‍क फोर्सेज बनाए गए हैं। मास्‍टर ट्रेनर्स को ट्रेनिंग दी जा चुकी है जो पूरे देशभर में कोविड टीकाकरण में शामिल वालंटियर्स को ट्रेन करेंगे। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन के मुताबिक, 260 जिलों में 20000 से ज्‍यादा लोगों को ट्रेनिंग दी जा चुकी है।

भारत में जनवरी से टीकाकरण शुरू होना है। वैक्सीन के लिए Co-WIN नाम का एक डिजिटल प्‍लेटफॉर्म बनाया गया है। इसके जरिए कोरोना वैक्सीन डिलिवरी की रियल टाइम मॉनिटरिंग हो सकेगी। इसके जरिए वैक्‍सीन को उसके तापमान के साथ ट्रैक किया जाएगा।

भारत में जनवरी से टीकाकरण शुरू होना है। वैक्सीन के लिए Co-WIN नाम का एक डिजिटल प्‍लेटफॉर्म बनाया गया है। इसके जरिए कोरोना वैक्सीन डिलिवरी की रियल टाइम मॉनिटरिंग हो सकेगी। इसके जरिए वैक्‍सीन को उसके तापमान के साथ ट्रैक किया जाएगा।

वैक्‍सीन को उसके तापमान के साथ ट्रैक किया जाएगा। यह संभावित लाभार्थी का भी तबतक ब्‍यौरा रखेगी जब तक उसे दूसरी डोज नहीं मिल जाती और सर्टिफिकेट नहीं जनरेट होता।"

वैक्‍सीन को उसके तापमान के साथ ट्रैक किया जाएगा। यह संभावित लाभार्थी का भी तबतक ब्‍यौरा रखेगी जब तक उसे दूसरी डोज नहीं मिल जाती और सर्टिफिकेट नहीं जनरेट होता।"

जनवरी से लगने लगेगा टीका
देशभर में 28,000 से 29,000 के बीच कोल्‍ड चेन पॉइंट्स हैं, जिन्‍हें स्‍ट्रीमलाइन किया जा रहा है। मंत्री के मुताबिक, सरकार जनवरी से लोगों को टीका लगाना शुरू कर सकती है।

जनवरी से लगने लगेगा टीका
देशभर में 28,000 से 29,000 के बीच कोल्‍ड चेन पॉइंट्स हैं, जिन्‍हें स्‍ट्रीमलाइन किया जा रहा है। मंत्री के मुताबिक, सरकार जनवरी से लोगों को टीका लगाना शुरू कर सकती है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios