Asianet News Hindi

अच्छी खबर: कम होने लगे देश के सबसे बड़े हॉटस्पॉट में कोरोना के केस, 7 दिन से नहीं हुई किसी की मौत

First Published Jun 8, 2020, 4:55 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई. दुनिया की सबसे बड़ी झुग्गी बस्ती धारावी कभी देश में कोरोना का सबसे बड़ा हॉटस्पॉट था। यहां हर रोज सैकड़ों केस सामने आ रहे थे। लेकिन मायानगरी मुंबई के हॉटस्पॉट यानी धारावी में संक्रमण के मामलों में कमी आई है। धारावी में कोरोना से मरने वाले लोगों की संख्या में कमी आई है। यहां पिछले 7 दिन में एक भी मौत नहीं हुई है। भारत में कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा संक्रमित महाराष्ट्र है। महाराष्ट्र में अब तक कोरोना के 85975 मामले सामने आए हैं।

बीएमसी के मुताबिक, 1 जून को कोरोना के 34 केस सामने आए थे। वहीं, 7 जून को यह घटकर सिर्फ 13 पर रह गए हैं। हालांकि, 6 जून को यहां सिर्फ 10 केस सामने आए थे। वहीं, 5 जून को 17, 4 जून को 23 मामले सामने आए। बीएमसी के आंकड़ों के मुताबिक, यहां कोरोना के मामलों में कमी आई है। 

बीएमसी के मुताबिक, 1 जून को कोरोना के 34 केस सामने आए थे। वहीं, 7 जून को यह घटकर सिर्फ 13 पर रह गए हैं। हालांकि, 6 जून को यहां सिर्फ 10 केस सामने आए थे। वहीं, 5 जून को 17, 4 जून को 23 मामले सामने आए। बीएमसी के आंकड़ों के मुताबिक, यहां कोरोना के मामलों में कमी आई है। 

धारावी में कोरोना के 1912 केस 
धारावी में 7 जून तक कोरोना के 1912 मामले सामने आए हैं। लेकिन 30 मई के बाद यहां कोरोना से एक भी मौत नहीं हुई है। यह कुछ राहत के संकेत हैं। बीएमसी के असिस्टेंट मुंसिपल कमिश्नर किरण दिघावकर धारावी मिशन कोरोना के इंचार्ज हैं। उन्होंने बताया कि बड़े स्तर पर स्क्रीनिंग हुई है। 

धारावी में कोरोना के 1912 केस 
धारावी में 7 जून तक कोरोना के 1912 मामले सामने आए हैं। लेकिन 30 मई के बाद यहां कोरोना से एक भी मौत नहीं हुई है। यह कुछ राहत के संकेत हैं। बीएमसी के असिस्टेंट मुंसिपल कमिश्नर किरण दिघावकर धारावी मिशन कोरोना के इंचार्ज हैं। उन्होंने बताया कि बड़े स्तर पर स्क्रीनिंग हुई है। 

धारावी में कोरोना के 1912 केस 
धारावी में 7 जून तक कोरोना के 1912 मामले सामने आए हैं। लेकिन 30 मई के बाद यहां कोरोना से एक भी मौत नहीं हुई है। यह कुछ राहत के संकेत हैं। बीएमसी के असिस्टेंट मुंसिपल कमिश्नर किरण दिघावकर धारावी मिशन कोरोना के इंचार्ज हैं। उन्होंने बताया कि बड़े स्तर पर स्क्रीनिंग हुई है। 

धारावी में कोरोना के 1912 केस 
धारावी में 7 जून तक कोरोना के 1912 मामले सामने आए हैं। लेकिन 30 मई के बाद यहां कोरोना से एक भी मौत नहीं हुई है। यह कुछ राहत के संकेत हैं। बीएमसी के असिस्टेंट मुंसिपल कमिश्नर किरण दिघावकर धारावी मिशन कोरोना के इंचार्ज हैं। उन्होंने बताया कि बड़े स्तर पर स्क्रीनिंग हुई है। 

8500 लोग क्वारंटाइन
उन्होंने बताया कि स्क्रीनिंग के बाद जिन लोगों में बुखार या अन्य लक्षण दिखते हैं, उन्हें आइसोलेट किया जाता है। उनके टेस्ट किए जाते हैं। धारावी में करीब 8.5 लाख लोग रहते हैं। यहां करीब 8500 लोगों को क्वारंटाइन किया गया है। 

8500 लोग क्वारंटाइन
उन्होंने बताया कि स्क्रीनिंग के बाद जिन लोगों में बुखार या अन्य लक्षण दिखते हैं, उन्हें आइसोलेट किया जाता है। उनके टेस्ट किए जाते हैं। धारावी में करीब 8.5 लाख लोग रहते हैं। यहां करीब 8500 लोगों को क्वारंटाइन किया गया है। 

धारावी में 4000 लोगों का टेस्ट हुआ
धारावी में अब तक बीएमसी ने 4 हजार लोगों का टेस्ट किया है। इशके अलावा यहां कैंपों में 1350 लोगों का टेस्ट किया गया है। यहां 1 अप्रैल को पहला केस मिला था। 

धारावी में 4000 लोगों का टेस्ट हुआ
धारावी में अब तक बीएमसी ने 4 हजार लोगों का टेस्ट किया है। इशके अलावा यहां कैंपों में 1350 लोगों का टेस्ट किया गया है। यहां 1 अप्रैल को पहला केस मिला था। 

महाराष्ट्र में 85 हजार के पास पहुंचे कोरोना के केस
भारत में कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा संक्रमित महाराष्ट्र है। महाराष्ट्र में अब तक कोरोना के 85975 मामले सामने आए हैं। यहां 3 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। अब तक 39 हजार लोग ठीक हो चुके हैं। वहीं, 43601 लोगों का इलाज चल रहा है।

महाराष्ट्र में 85 हजार के पास पहुंचे कोरोना के केस
भारत में कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा संक्रमित महाराष्ट्र है। महाराष्ट्र में अब तक कोरोना के 85975 मामले सामने आए हैं। यहां 3 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। अब तक 39 हजार लोग ठीक हो चुके हैं। वहीं, 43601 लोगों का इलाज चल रहा है।

महाराष्ट्र में मुंबई सबसे ज्यादा संक्रमित है। यहां महाराष्ट्र के कुल केसों में से 50% मामले यहीं हैं। मुंबई में अब तक 1638 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं, 25946 लोगों का इलाज चल रहा है। मुंबई में अब तक 21190 लोग ठीक हो चुके हैं। 

महाराष्ट्र में मुंबई सबसे ज्यादा संक्रमित है। यहां महाराष्ट्र के कुल केसों में से 50% मामले यहीं हैं। मुंबई में अब तक 1638 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं, 25946 लोगों का इलाज चल रहा है। मुंबई में अब तक 21190 लोग ठीक हो चुके हैं। 

भारत में कोरोना वायरस के 2.57 लाख केस मिल चुके हैं। 7208 लोगों की मौत हो चुकी है। 1.24 लाख लोग ठीक हो चुके हैं। वहीं, 1.26 लाख लोगों का इलाज चल रहा है।

भारत में कोरोना वायरस के 2.57 लाख केस मिल चुके हैं। 7208 लोगों की मौत हो चुकी है। 1.24 लाख लोग ठीक हो चुके हैं। वहीं, 1.26 लाख लोगों का इलाज चल रहा है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios