अनलॉक में बेकाबू हुआ कोरोना, 24 घंटे में 9996 केस; लेकिन यह है खुश कर देने वाली खबर

First Published 11, Jun 2020, 1:33 PM

नई दिल्ली.  देश में जारी कोरोना संकट हर रोज एक नया रिकॉर्ड बनाता जा रहा है। आए दिन संक्रमित मरीजों की संख्या में तेजी से वृद्धि हो रही है। देश में गुरुवार को कोविड-19 के एक दिन में सर्वाधिक 9,996 मामले सामने आए हैं। इसके साथ ही 357 लोगों ने दम भी तोड़ा है। स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़े के मुताबिक गुरुवार दोपहर तक मरीजों की संख्या 2 लाख 87 हजार 61 हो गई है। अब तक 8113 लोगों की मौत हो चुकी है। 

<p style="text-align: justify;"><strong>...लेकिन यह है खुशी की बात </strong><br />
देश में बढ़ते कोरोना का संकट हावी होता जा रहा है। लेकिन कोरोना के खिलाफ जारी जंग में जीत की उम्मीद भी और तेज हो गई है। दरअसल, देश में एक्टिव केसों की संख्या से अधिक ठीक होने वाले मरीजों की संख्या है। यानी देश में 1 लाख 41 हजार से अधिक लोग ठीक हो चुके है। वहीं, एक्टिव केसों की संख्या 1 लाख 37 हजार 927 है।</p>

...लेकिन यह है खुशी की बात 
देश में बढ़ते कोरोना का संकट हावी होता जा रहा है। लेकिन कोरोना के खिलाफ जारी जंग में जीत की उम्मीद भी और तेज हो गई है। दरअसल, देश में एक्टिव केसों की संख्या से अधिक ठीक होने वाले मरीजों की संख्या है। यानी देश में 1 लाख 41 हजार से अधिक लोग ठीक हो चुके है। वहीं, एक्टिव केसों की संख्या 1 लाख 37 हजार 927 है।

<p style="text-align: justify;"><strong>देश में रिकवरी रेट 49.21 फीसदी </strong><br />
हेल्थ मिनिस्ट्री के मुताबिक, लगातार दूसरे दिन ऐसा हुआ है जब ठीक होने वाले लोगों की संख्या इलाज करवा रहे मरीजों की संख्या से अधिक है। देश में ठीक होने वाले मरीजों की दर 49.21 फीसदी हो गई है। <br />
 </p>

देश में रिकवरी रेट 49.21 फीसदी 
हेल्थ मिनिस्ट्री के मुताबिक, लगातार दूसरे दिन ऐसा हुआ है जब ठीक होने वाले लोगों की संख्या इलाज करवा रहे मरीजों की संख्या से अधिक है। देश में ठीक होने वाले मरीजों की दर 49.21 फीसदी हो गई है। 
 

<p style="text-align: justify;"><strong>पिछले दिनों आए सार्वाधिक केस </strong><br />
11 जून को 9996, 10 जून को 9985, 9 जून को 9983, 8 जून को 8536 केस सामने आए। अनलॉक-1 लागू होने के बाद से देश में कोरोना संक्रमण ने रफ्तार पकड़ी है। कहा जा रहा है कि लोग सोशल डिस्टेंसिंग व अन्य नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं। ऐसे में संक्रमण की रफ्तार तेज होती जा रही है। वहीं, दिल्ली सरकार ने दावा किया है कि राज्य में जुलाई तक 5 लाख से अधिक कोरोना के मरीज होंगे।<br />
 </p>

पिछले दिनों आए सार्वाधिक केस 
11 जून को 9996, 10 जून को 9985, 9 जून को 9983, 8 जून को 8536 केस सामने आए। अनलॉक-1 लागू होने के बाद से देश में कोरोना संक्रमण ने रफ्तार पकड़ी है। कहा जा रहा है कि लोग सोशल डिस्टेंसिंग व अन्य नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं। ऐसे में संक्रमण की रफ्तार तेज होती जा रही है। वहीं, दिल्ली सरकार ने दावा किया है कि राज्य में जुलाई तक 5 लाख से अधिक कोरोना के मरीज होंगे।
 

<p style="text-align: justify;"><strong>महाराष्ट्र में सबसे अधिक मरीज </strong><br />
महाराष्ट्र में कोरोना मरीजों की संख्या 94 हजार से अधिक है। जबकि यहां अब तक 3438 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं, तमिलनाडु में कोरोना संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 36 हजार 841 हो गई है। वहीं, मरने वालों की संख्या 326 है। जबकि दिल्ली में यही आंकड़ा 32 हजार के पार पहुंच गया है। जबकि 984 लोगों की जान जा चुकी है। </p>

महाराष्ट्र में सबसे अधिक मरीज 
महाराष्ट्र में कोरोना मरीजों की संख्या 94 हजार से अधिक है। जबकि यहां अब तक 3438 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं, तमिलनाडु में कोरोना संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 36 हजार 841 हो गई है। वहीं, मरने वालों की संख्या 326 है। जबकि दिल्ली में यही आंकड़ा 32 हजार के पार पहुंच गया है। जबकि 984 लोगों की जान जा चुकी है। 

<p style="text-align: justify;"><strong>चेन्नई में मौत के आंकड़े में खेल </strong><br />
8 जून तक चेन्नई में कोरोना वायरस से 460 लोगों की मौत हो गई है, जो कि सार्वजनिक स्वास्थ्य निदेशालय (DPH) द्वारा घोषित 224 से दोगुनी से भी अधिक है, नगर निगम की मृत्यु रजिस्ट्री की जांच से पता चला है। डीपीएच अधिकारियों की एक टीम ने मंगलवार को पाया कि ग्रेटर चेन्नई कॉर्पोरेशन के स्वास्थ्य अधिकारी द्वारा बनाए गए मृत्यु रजिस्टर में राज्य रजिस्टर की तुलना में 236 अधिक मौतें दर्ज की गई थीं। अगर इन मौतों को जोड़ा जाता, तो राज्य के अधिकारियों द्वारा बताए गए 0.7% के मुकाबले राज्य में मृत्यु दर 1.5% के करीब होती। </p>

चेन्नई में मौत के आंकड़े में खेल 
8 जून तक चेन्नई में कोरोना वायरस से 460 लोगों की मौत हो गई है, जो कि सार्वजनिक स्वास्थ्य निदेशालय (DPH) द्वारा घोषित 224 से दोगुनी से भी अधिक है, नगर निगम की मृत्यु रजिस्ट्री की जांच से पता चला है। डीपीएच अधिकारियों की एक टीम ने मंगलवार को पाया कि ग्रेटर चेन्नई कॉर्पोरेशन के स्वास्थ्य अधिकारी द्वारा बनाए गए मृत्यु रजिस्टर में राज्य रजिस्टर की तुलना में 236 अधिक मौतें दर्ज की गई थीं। अगर इन मौतों को जोड़ा जाता, तो राज्य के अधिकारियों द्वारा बताए गए 0.7% के मुकाबले राज्य में मृत्यु दर 1.5% के करीब होती। 

<p style="text-align: justify;"><strong>मौतों की संख्या के मामले में भारत 12 वें नंबर पर</strong><br />
जॉन हॉपकिंस विश्वविद्यालय के आंकड़े के मुताबिक, संक्रमण से होने वाली मौतों की संख्या के मामले में भारत का स्थान 12वां है जबकि मरीजों के ठीक होने के मामले यह नौवें स्थान पर है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से सुबह आठ बजे जारी आंकड़े के मुताबिक देश में उपचाररत मामलों की संख्या एक लाख 33 हजार 632 है जबकि अभी तक ठीक हुए लोगों की संख्या एक लाख 35 हजार 205 है। </p>

मौतों की संख्या के मामले में भारत 12 वें नंबर पर
जॉन हॉपकिंस विश्वविद्यालय के आंकड़े के मुताबिक, संक्रमण से होने वाली मौतों की संख्या के मामले में भारत का स्थान 12वां है जबकि मरीजों के ठीक होने के मामले यह नौवें स्थान पर है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से सुबह आठ बजे जारी आंकड़े के मुताबिक देश में उपचाररत मामलों की संख्या एक लाख 33 हजार 632 है जबकि अभी तक ठीक हुए लोगों की संख्या एक लाख 35 हजार 205 है। 

<p style="text-align: justify;">वर्तमान में अमेरिका, ब्राजील, रूस और ब्रिटेन के बाद भारत कोविड-19 से बुरी तरह प्रभावित पांचवां देश है। लेकिन मामलों की संख्या के लिहाज से भारत का ब्रिटेन के साथ यह अंतर तेजी से कम होता जा रहा है जहां संक्रमण के मामले करीब 1.9 लाख हैं।</p>

वर्तमान में अमेरिका, ब्राजील, रूस और ब्रिटेन के बाद भारत कोविड-19 से बुरी तरह प्रभावित पांचवां देश है। लेकिन मामलों की संख्या के लिहाज से भारत का ब्रिटेन के साथ यह अंतर तेजी से कम होता जा रहा है जहां संक्रमण के मामले करीब 1.9 लाख हैं।

<p style="text-align: justify;"><strong>इन शहरों में केंद्रीय टीमें तैनात</strong><br />
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार दिल्ली, मुम्बई, अहमदाबाद, चेन्नई, कोलकाता और बेंगलुरू में कोविड-19 का मुकाबला करने के लिए उठाये जा रहे जनस्वास्थ्य कदमों की समीक्षा करने में राज्य के स्वास्थ्य अधिकारियों की मदद करने के लिए केंद्रीय टीम तैनात की गयी हैं। इन शहरों में बड़ी संख्या में कोविड-19 मामले सामने आये हैं।</p>

इन शहरों में केंद्रीय टीमें तैनात
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार दिल्ली, मुम्बई, अहमदाबाद, चेन्नई, कोलकाता और बेंगलुरू में कोविड-19 का मुकाबला करने के लिए उठाये जा रहे जनस्वास्थ्य कदमों की समीक्षा करने में राज्य के स्वास्थ्य अधिकारियों की मदद करने के लिए केंद्रीय टीम तैनात की गयी हैं। इन शहरों में बड़ी संख्या में कोविड-19 मामले सामने आये हैं।

<p style="text-align: justify;"><strong>गुजरात का रिकवरी रेट सबसे हाई </strong><br />
महाराष्ट्र में रिकवरी रेट 47.34% है। यानी हर 100 मरीज में से 47 मरीज ठीक हो रहे हैं। वहीं, गुजरात में यह दर 68.4 फीसदी हो गई है। यहां हर 100 में से 68 मरीज ठीक हो रहे हैं। जबकि 100 में से 6 लोहों की मौत बो रही है। वहीं, दिल्ली में ठीक होने वाले मरीजों की दर सबसे कम 37.32 फीसदी है। </p>

गुजरात का रिकवरी रेट सबसे हाई 
महाराष्ट्र में रिकवरी रेट 47.34% है। यानी हर 100 मरीज में से 47 मरीज ठीक हो रहे हैं। वहीं, गुजरात में यह दर 68.4 फीसदी हो गई है। यहां हर 100 में से 68 मरीज ठीक हो रहे हैं। जबकि 100 में से 6 लोहों की मौत बो रही है। वहीं, दिल्ली में ठीक होने वाले मरीजों की दर सबसे कम 37.32 फीसदी है। 

<p style="text-align: justify;"><strong>संक्रमण के मामले में भारत दुनिया का 6 वां देश </strong><br />
दुनिया में भी कोरोना का कहर जारी है। भारत दुनिया का 6 वां देश है, जहां सबसे अधिक संक्रमित है। अमेरिका में संक्रमित मरीजों की संख्या 20 लाख 66 हजार से अधिक है। जबकि ब्राजील में यही संख्या 7 लाख 75 हजार हो गई है। वहीं, तीसरे नंबर पर रूस है, जहां 4.93 लाख संक्रमित मरीज हैं। जबकि चौथे पर ब्रिटेन (2.90 लाख), पांचवे पर स्पेन (2.89 लाख) है। </p>

संक्रमण के मामले में भारत दुनिया का 6 वां देश 
दुनिया में भी कोरोना का कहर जारी है। भारत दुनिया का 6 वां देश है, जहां सबसे अधिक संक्रमित है। अमेरिका में संक्रमित मरीजों की संख्या 20 लाख 66 हजार से अधिक है। जबकि ब्राजील में यही संख्या 7 लाख 75 हजार हो गई है। वहीं, तीसरे नंबर पर रूस है, जहां 4.93 लाख संक्रमित मरीज हैं। जबकि चौथे पर ब्रिटेन (2.90 लाख), पांचवे पर स्पेन (2.89 लाख) है। 

loader